COVID-19: अब 84 दिनों के बाद ही मिलेगा कोविशील्ड की दूसरी डोज का अपॉइंटमेंट, CoWIN पोर्टल में भी हो रहा बदलाव

कोरोना वायरस रोधी टीका कोविशील्ड. (airnewsalerts twitter/16 may 2021)

कोरोना वायरस रोधी टीका कोविशील्ड. (airnewsalerts twitter/16 may 2021)

Covishield Online Appointment: भारत सरकार ने एक सरकारी पैनल की सलाह पर कोविशील्ड टीके की दो डोज लगवाने के बीच के समय को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने का फैसला लिया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के दौरान अब कोविशील्ड वैक्सीन के लिए 12 सप्ताह बाद का ही अपॉइंटमेंट मिलेगा. केंद्र ने रविवार को कहा कि कोविशील्ड की दूसरी डोज के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट 84 दिनों के बाद ही दिया जाएगा. इसके साथ ही सरकार ने कहा कि जिनलोगों ने कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए पहले से अपना अपॉइंटमेंट बुक कराया हुआ है, उस पर इसका कोई असर नहीं होगा. हालांकि, वैसे लोग जो पहले से तय अपॉइंटमेंट में बदलाव कर उसे 84 दिनों के बाद करना चाहते हैं, वे ऐसा कर सकते हैं.


कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच बढ़े समय के मद्देनजर कोविन पोर्टल (CoWIN Digital Portal) में भी बदलाव किया जा रहा है. केंद्र ने कहा, 'कोविन डिजिटल पोर्टल में जरूरी बदलाव किया जा रहा है ताकि कोविशील्ड के दो डोज के बीच 12 से 16 सप्ताह के अंतर को वहां दिखाया जा सके. कोविशील्ड की दूसरी डोज के लिए पहले से बुक ऑनलाइन अपॉइंटमेंट मान्य रहेगा और उसे कोविन द्वारा रद्द नहीं किया जाएगा.'


पंजाब में 31 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू, प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करने के निर्देश


Youtube Video

पिछले कुछ महीनों में दूसरी बार ऐसा हुआ है जब कोविशील्ड टीके की दो डोज के बीच का समयांतर बढ़ाया गया है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मार्च में राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा था कि वह दो डोज के बीच समयांतर को 28 दिनों से बढ़ाकर 6 से 8 सप्ताह तक कर दें.


गौरतलब है कि भारत सरकार ने एक सरकारी पैनल की सलाह पर कोविशील्ड टीके की दो डोज लगवाने के बीच के समय को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने का फैसला लिया है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीते 13 मई को इस आशय की घोषणा करते हुए कहा था कि यह 'विज्ञान आधारित फैसला है' और इस विश्वास के साथ लिया गया है कि इससे कोई अतिरिक्त खतरा नहीं होगा.


दिल्ली में थमी कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में 6456 नए मामले; 262 की मौत




हालांकि मंत्रालय ने कहा था, 'लेकिन नेशनल टेक्नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (एनटीएजीआई) (टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह) ने कोवैक्सीन के दो डोज के समयांतर (पहला और दूसरा डोज लगने के बीच का समय) में बदलाव का कोई सुझाव नहीं दिया है.' मंत्रालय ने कहा था, 'वास्तविक समय के साक्ष्यों, विशेष रूप से ब्रिटेन से प्राप्त, के आधार पर कोविड-19 कार्य समूह कोविशील्ड टीके के दो डोज के बीच समयांतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने पर राजी हो गया है. कोवैक्सीन के दो डोज के बीच समयांतर में बदलाव की कोई सिफारिश नहीं की गई है.'



इससे पहले, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा उत्पादित कोविशील्ड के दो डोज के बीच समयांतर फिलहाल 6 से 8 सप्ताह का था. हैदराबाद स्थित कंपनी भारत बायोटेक द्वारा देश में विकसित कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के टीके कोविशील्ड का उत्पादन पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा किया जा रहा है और देश में टीकाकरण में दोनों का उपयोग हो रहा है.


(इनपुट भाषा से भी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज