• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • COWIN FAKE WEBSITE KNOW HERE ALL ABOUT REAL COWIN APP WEBSITES

कोरोना वैक्सीन के नाम पर वसूले जा रहे लाखों, कहीं आप भी तो नहीं हुए फ्रॉड के शिकार?

कोविन पोर्टल.

कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां कोविड रोधी टीकाकऱण के लिए एक फर्जी वबेसाइट का लिंक मैसेज कर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है. यह लिंक ओपन करने पर ठीक वैसा ही दिखता जैसा भारत सरकार द्वारा जारी आधिकारिक वेबसाइट COWIN है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus In India) की दूसरी लहर के बीच टीकाकरण का क्रम भी जारी है. भारत में अब तक 20 करोड़ से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हो चुका है. वहीं कुछ जालसाजों का समूह भी एक्टिव है. संकटकाल में लोगों से कहीं दवाओं के ज्यादा पैसे लिए जा रहे हैं तो कहीं पैसे लेकर भी दवाएं नकली दी जा रही है. अब यह मामला सामने आया है कि वैक्सीनेशन कराने के लिए रजिस्ट्रेशन वाली वेबसाइट के नाम पर भी फर्जीवाड़ा किया जा रहा है.

    कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां कोविड रोधी टीकाकऱण के लिए एक फर्जी वबेसाइट का लिंक मैसेज कर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है. यह लिंक ओपन करने पर ठीक वैसा ही दिखता जैसा भारत सरकार द्वारा जारी आधिकारिक वेबसाइट है. वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन और शेड्यूल करने में होने वाली परेशानियों के चलते इन फर्जी वेबसाइट्स के जरिए लोगों का फायदा उठाया जाता था. इतना ही नहीं लोगों से लाखों रुपये तक ठगे गए. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पुलिस ने ऐसी करतूत को अंजाम देने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया था.



    ऐसे जानें क्या है असली और नकली वेबसाइट और ऐप में अंतर
    ऐसे में सावधान रहने की जरूरत है. आपको बता दें अगर आपको किसी मैसेज के जरिए कोई शॉर्ट लिंक भेजकर दावा किया जाए कि उससे आप वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं तो ऐसे लिंक्स पर क्लिक कर के उनका पूरा यूआरएल जरूर देख लें. अगर वेबसाइट भारत सरकार की है, तो उसमें डॉट के बाद gov.in जरूर लिखा होगा.

    उदाहरण के लिए कोविन की असली वेबसाइट- https://www.cowin.gov.in/ होगी ना कि http://www.cowin.in. यह भी ध्यान रखें अगर यूआरएल में cowin है लेकिन उसमें डॉट के आगे in, org, com लिखा है तो उस पर भरोसा ना करें. इतना ही नहीं अगर किसी मैसेज में आपको लिंक भेजा गया है तो भी यह देखें कि उसके यूआरएल में HTTPS है या HTTP. अगर यूआरएल HTTPS है तो यह सेक्योर्ड वेबसाइट हो सकती है.

    इन ऐप्स और वेबसाइट्स से रहें सावधान
    अगर आप यह जांच करना चाहते हैं कि कोविन की असली वेबसाइट कौन सी है, तो आप गूगल सर्चइंजन पर cowin.gov.in सर्च भी कर सकते हैं. सर्च रिजल्ट में सबसे पहले भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट ही आएगी.

    आपको बता दें Covid-19.apk, Vaci_Regis.apk, MyVaccin_v2.apk, Cov-Regis.apk. Vecin-Apply.apk, https://app.preprod.co-vin.in/login , selfregistration.preprod.co-vin.in , https://selfregistration.sit.co-vin.in, http://tiny.cc/COVID-VACCINE जैसे वेबसाइट्स और एप्स फर्जी हैं. आपको इन वबेसाइट्स और ऐप्स सावधान रहने की जरूरत है.

    इसके साथ ही आप स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट https://www.mohfw.gov.in/, उसके फेसबुक पेज- https://www.facebook.com/MoHFWIndia से वैक्सीनेशन के बारे में सबकुछ जान सकते हैं.