Home /News /nation /

ग्लोबल बनेगा कोविन ऐप, 12 देश तकनीक हासिल करने के लिए सरकार से कर रहे बात

ग्लोबल बनेगा कोविन ऐप, 12 देश तकनीक हासिल करने के लिए सरकार से कर रहे बात

भारत के टीकाकरण कार्यक्रम में कोविन ने बड़ी भूमिका निभाई है.

भारत के टीकाकरण कार्यक्रम में कोविन ने बड़ी भूमिका निभाई है.

CoWIN Set to Go Global: न्यूज़18 को मिली जानकारी के मुताबिक इस वक्त दुनिया के 12 देश केंद्र सरकार के साथ कोविन ऐप की तकनीक साझा करने के लिए बातचीत कर रहे हैं. जानकारी के मुताबिक बातचीत अपने अंतिम चरण में चल रही है. कोविन ऐप में दिलचस्पी दिखाने वाले ज्यादातर देश अफ्रीका और मध्य एशिया के हैं. इस ऐप ने एक दिन में 2.5 करोड़ वैक्सीनेशन तक हैंडल किया है, तकरीबन प्रति सेकंड 800 वैक्सीनेशन.

अधिक पढ़ें ...

    HIMANI CHANDNA

    नई दिल्ली. भारत के कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Covid Vaccination Drive) में ‘रीढ़ की हड्डी’ साबित हुआ कोविन ऐप (CoWin App) अब ग्लोबल बनने जा रहा है. न्यूज़18 को मिली जानकारी के मुताबिक इस वक्त दुनिया के 12 देश केंद्र सरकार के साथ कोविन ऐप की तकनीक साझा करने के लिए बातचीत कर रहे हैं. जानकारी के मुताबिक बातचीत अपने अंतिम चरण में चल रही है.

    इन 12 देशों में शामिल एक दक्षिण अमेरिकी देश को सरकार ने समझौता पत्र भेजा है जिसके स्वीकार होने का इंतजार किया जा रहा है. दक्षिण अमेरिका में अर्जेंटीना, बोलिविया, ब्राजील, कोलंबिया, इक्वाडोर, गुयाना, पराग्वे, पेरू, सूरीनाम, उरुग्वे और वेनेजुएला जैसे देश शामिल हैं.

    ऐप ने एक दिन में 2.5 करोड़ वैक्सीनेशन तक हैंडल किया है
    कोविन ऐप में दिलचस्पी दिखाने वाले ज्यादातर देश अफ्रीका और मध्य एशिया के हैं. बता दें कि कोविन ऐप भारत में बेहद सफल साबित हुआ है. इस ऐप ने एक दिन में 2.5 करोड़ वैक्सीनेशन तक हैंडल किया है, तकरीबन प्रति सेकंड 800 वैक्सीनेशन.

    क्या कहते हैं डॉ. आरएस शर्मा
    नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के सीईओ डॉ. आरएस शर्मा ने न्यूज़18 को बताया- ‘इस मामले में बातचीत पर विदेश मंत्रालय निगाह रख रहा है. मुझे जानकारी दी गई है कि अब तक 12 देशों ने इसे लेकर समझौता पर हस्ताक्षर के लिए सहमति दी है.’ डॉ. शर्मा सूचना तकनीक से जुड़े कार्यक्रमों को लेकर काम करने के लिए अपनी पहचान रखते हैं.

    शर्त के साथ दूसरे देशों से तकनीक साझा कर रहा है भारत
    उन्होंने कहा- ‘हमने एक दक्षिण अमेरिकी देश के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया है और डॉक्यूमेंट उनकी सहमति के लिए भेज दिए गए हैं. जब ये हो जाएगा तो हम घोषणा करेंगे. केंद्र सरकार अन्य देशों के साथ कोविन ऐप तकनीक को “केंद्र सरकार के लाइसेंस” के आधार शेयर करेगी. शर्त ये रहेगी कि इस प्लेटफॉर्म की रिपैकेजिंग कर बेचने का प्रयास नहीं किया जाएगा.’

    (इस स्टोरी को यहां क्लिक कर पूरा पढ़ा जा सकता है.)

    Tags: CoWIN, Cowin Application

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर