लाइव टीवी

RSS-BJP की विचारधारा से लड़ने कैडर तैयार करेगा CPM का ये ट्रेनिंग स्कूल

Niraj Kumar | News18India
Updated: October 4, 2019, 11:15 AM IST
RSS-BJP की विचारधारा से लड़ने कैडर तैयार करेगा CPM का ये ट्रेनिंग स्कूल
सीपीएम के लिए कैडर तैयार करेगा हरकिशन सिंह सुरजीत भवन स्कूल

सीपीएम (CPM) का ये ट्रेनिंग स्कूल (Training school) धर्मनिरपेक्ष विचारधारा के प्रचार प्रसार और आरएसएस (RSS) तथा दक्षिणपंथी ताकतों से लड़ने के लिए कैडर (Cadre) तैयार करेगा. इस स्कूल का नाम हरकिशन सिंह सुरजीत भवन रखा गया है.

  • News18India
  • Last Updated: October 4, 2019, 11:15 AM IST
  • Share this:
दिल्ली. लगातार चुनावों में सिमटती जा रही सीपीएम (CPM) ने अपने कैडर तैयार करने, पार्टी कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देने और आरएसएस तथा दक्षिणपंथी ताकतों से लड़ने के लिए अपने ट्रेनिंग स्कूल का उद्घाटन कर दिया है. इस स्कूल का नाम हरकिशन सिंह सुरजीत भवन दिया गया है. मार्क्सवादी नेता हरकिशन सिंह सुरजीत (Harkishan singh Surjeet) के नाम पर बने विशाल भवन को एक पार्टी ऑफिस की तरह से ही तैयार किया गया है. सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी (Sitaran Yechuri) ने कहा कि आरएसएस-बीजेपी (RSS-BJP) से टक्कर लेने और लेफ्ट (Left) की विचारधारा (Ideology) को फैलाने में ये स्कूल काफी मददगार साबित होगा.

ये है इस ट्रेनिंग स्कूल की खासियत
सीपीएम का ट्रेनिंग स्कूल बाहर से देखने में किसी पार्टी के दफ्तर की तरह ही दिखता है. 1840 वर्ग मीटर में बने विशाल भवन के अंदर एक बड़ा सभागार, कान्फ्रेंस हॉल के अलावा 200 लोगों के रहने-खाने की व्यवस्था की गई है. सीपीएम पोलित ब्यूरो के सदस्य और पूर्व महासचिव प्रकाश करात ने कहा कि भवन का इस्तेमाल ट्रेनिंग सकूल के अलावा वैसे सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए होगा जिनसे धर्मनिरपेक्ष विचारधारा का प्रचार प्रसार हो. सीपीएम के तमाम नेताओं ने माना है कि देश में जिस तरह की मौजूदा स्थिति है, उससे निपटने के लिए लेफ्ट की विचारधारा ही विकल्प है और इस विचारधारा को फैलाने में हरकिशन सिंह सुरजीत भवन बतौर ट्रेनिंग स्कूल के तौर पर मददगार साबित होगा.

News - पार्टी नेताओं का मानना है कि आरएसएस बीजेपी की विचारधारा से लड़ने में मददगार साबित होगा ये स्कूल
पार्टी नेताओं का मानना है कि आरएसएस बीजेपी की विचारधारा से लड़ने में मददगार साबित होगा ये स्कूल


2009 में पड़ी भवन की नींव
दरअसल स्कूल की संकल्पना सीपीएम के पूर्व महासचिव और कद्दावर मार्क्सवादी हरकिशन सिंह सुरजीत ने की थी. 2005 में केन्द्र सरकार से ज़मीन मिलने के बाद 2009 में नए सीपीएम के भवन में काम शुरू हुआ और 10 साल में बनकर तैयार हुआ. बीजेपी का मुख्यालय और कांग्रेस का निर्माणाधीन मुख्यालय सीपीएम के नए भवन से महज कुछ ही दूरी पर है. कांग्रेस के मुख्यालय का उद्घाटन 28 दिसंबर को पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर होगा.

2004 के लोकसभा चुनाव में बड़ी सफलता के बाद से सीपीएम समेत लेफ्ट का चुनावी और राजनीतिक आधार लगातार घटा है, हाल के वर्षों में सीपीएम 3 राज्यों से अब सिर्फ एक राज्य केरल तक सिमट कर रह गई है. लोकसभा में पार्टी के सिर्फ 2 सांसद बचे हैं. देखना होगा कि ट्रेनिंग स्कूल का कितना सहारा मिलता है.
Loading...

ये भी पढ़ें -
'दिल्ली के पटाखे' और 'कश्मीरी सेब' कोडवर्ड के साथ राजधानी को दहलाने पहुंचे जैश आतंकी
RBI मॉनिटरी पॉलिसी की मीटिंग आज, 0.25% कटौती की उम्मीद आपकी जेब पर पड़ेगा ये असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 11:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...