ट्रंप का साइड-इफेक्‍ट: भारत में कम हुआ अमेरिकी दूल्‍हे का क्रेज

अमेरिका में डॉनल्ड ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने का असर पूरी दुनिया में हो रहा है, लेकिन भारत में ट्रंप का इफेक्‍ट शादियों पर हो रहा है. दरअसल, ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने के बाद अमेरिकी एनआरआई दूल्हों की डिमांड में तेजी से कमी आई है.

News18Hindi
Updated: March 10, 2017, 3:35 PM IST
ट्रंप का साइड-इफेक्‍ट: भारत में कम हुआ अमेरिकी दूल्‍हे का क्रेज
अमेरिका में डॉनल्ड ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने का असर पूरी दुनिया में हो रहा है, लेकिन भारत में ट्रंप का इफेक्‍ट शादियों पर हो रहा है. दरअसल, ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने के बाद अमेरिकी एनआरआई दूल्हों की डिमांड में तेजी से कमी आई है.
News18Hindi
Updated: March 10, 2017, 3:35 PM IST
अमेरिका में डॉनल्ड ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने का असर पूरी दुनिया में हो रहा है, लेकिन भारत में ट्रंप का इफेक्‍ट शादियों पर हो रहा है. दरअसल, ट्रंप के प्रेसिडेंट बनने के बाद अमेरिकी एनआरआई दूल्हों की डिमांड में तेजी  से कमी आई है. लोग अब बेटी के लिए अच्छी लाइफस्टाइल की जगह सुरक्षा की सोचने लगे हैं.

पहले ज्‍यादा थी मांग
पहले भारत में अमेरिका के दूल्‍हों की मांग काफी हुआ करती थी. कभी अखबारों और मैट्रिमोनियल साईट्स पर एनआरआई दूल्हों की डिमांड देखी जा सकती थी. कई मां-बाप तो अपनी बेटी को अमेरिकी नागरिकता दिलाने के लिए एनआरआई से ब्याहते थे, मगर पिछले दो महीने में ये सब बदल गया. नए इमिग्रेशन नियमों के तहत एक तो एच1बी वीजा मिलना मुश्किल होगा, लेकिन अगर किसी को वीजा मिल भी गया तो उसके जीवनसाथी पर कई तरह की पाबंदियां रहेंगी. इतनी पाबंदियों के बीच कौन अपनी बेटी ब्याहना चाहेगा.

इसलिए घटा अमेरिकी दूल्‍हों का क्रेज

इमिग्रेशन में सख्ती के अलावा अमेरिका में हेट क्राइम बढ़ने की वजह से भी अमेरिकी दूल्हों का क्रेज घटा है. मैट्रिमोनियल साईट्स की मानें तो मांग में अभी 30-40 फीसदी की गिरावट आई है, वहीं जो लोग एनआरआई से शादी कर भी रहे हैं वो कनाडा, यूके और ऑस्ट्रेलिया के दूल्हे पसंद कर रहे हैं.

लाइफ स्‍टाइल थी वजह
अमेरिका का आकर्षण दरअसल बेहतर लाइफस्टाइल को लेकर रहा है. मगर अब सुरक्षा प्राथमिकता बन रही है. अपनी बेटी ब्याहने के लिए कभी अमेरिका में रहने वाला एनआरआई दूल्हा हर मां-बाप की पहली पसंद हुआ करता था, लेकिन पिछले कुछ समय में चीजें बदली हैं और मां-बाप हो या दुल्हन, हर कोई हिदुस्तान में रहने वाला दूल्हा ही चाहती है.
Loading...
(hindi.moneycontrol.com से साभार)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर