वर्ल्‍ड कप 2019: टीम इंडिया का गेंदबाजी आक्रमण सबसे तगड़ा, ये हैं आंकड़े

वर्ल्‍ड कप 2019: टीम इंडिया का गेंदबाजी आक्रमण सबसे तगड़ा, ये हैं आंकड़े
अब देखना ये है कि टीम इंडिया मैनेजमेंट नंबर 4 के बल्लेबाज पर क्या फैसला लेता है. भारतीय टीम अपना पहला मैच 5 जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी.

दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी सबसे मारक है जबकि भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाने में बल्‍लेबाजों को पसीना बहाना पड़ता है.

  • Share this:
क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 का आगाज 30 मई को इंग्‍लैंड और दक्षिण अफ्रीका के मुकाबले से होगा. जिस तरह से इंग्‍लैंड की पिचों का बर्ताव पिछले कुछ सालों में देखने को मिला है उससे लगता है कि गेंदबाजों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. यह टूर्नामेंट गर्मियों में हो रहा है ऐसे में तेज गेंदबाजों को पिच से स्विंग मिलने की उम्‍मीद काफी कम है. ऐसे में जिस टीम के गेंदबाज कंडीशन के हिसाब से खुद को ढाल लेंगे और गेंदबाजी में बदलाव कर लेंगे वे कामयाबी पा सकते हैं.

अगर वर्ल्‍ड कप 2015 के बाद से तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी सबसे मारक है जबकि भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाने में बल्‍लेबाजों को पसीना बहाना पड़ता है.

दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों ने पिछले चार साल में 30.93 की औसत और 35 की स्‍ट्राइक रेट से विकेट झटके हैं. यह वर्ल्‍ड कप 2019 में खेलने वाली सभी 10 टीमों में बेस्‍ट प्रदर्शन है. प्रोटीज टीम की कामयाबी के पीछे बड़ा योगदान कागिसो रबाडा का है जिन्‍होंने पिछले चार साल में किसी भी गेंदबाज की तुलना में बेहतरीन खेल दिखाया है. उन्‍होंने 65 मैचों में 106 विकेट लिए हैं. इस दौरान उनकी इकनॉमी 4.98, स्‍ट्राइक रेट 31.8 और औसत 26.43 का रहा है. उन्‍होंने इस अवधि में 7 बार चार-चार विकेट लिए हैं.




इकनॉमी रेट से मतलब है गेंदबाज ने एक ओवर में कितने रन दिए. वहीं स्‍ट्राइक रेट यानी एक विकेट लगने वाली गेंदें और औसत यानी एक विकेट के पीछे कितने रन खर्च हुए. इस लिहाज से इन तीनों पैमानों पर रबाडा का कोई सानी नहीं है.


इमरान ताहिर ने 4.80 की इकनॉमी से 92 विकेट झटके हैं. भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की बात की जाए तो वह रन खर्च करने में सबसे कंजूस रहे हैं. उन्‍होंने हर ओवर में केवल 5.21 रन दिए. वहीं औसत में भारत 31.97 के साथ दूसरे और 36.7 के स्‍ट्राइक रेट के साथ वह तीसरे नंबर पर रहा.

दुनिया के नंबर वन गेंदबाज जसप्रीत बुमराह वर्ल्‍ड कप 2015 के बाद से सबसे कंजूस गेंदबाज साबित हुए हैं. उन्‍होंने 4.51 की इकनॉमी से ही रन दिए हैं.
स्‍ट्राइक रेट के मामले में वे दूसरे नंबर पर हैं. उनका स्‍ट्राइक रेट 22.15 का रहा है. इस मामले में बांग्‍लादेश के मुस्‍तफिजुर रहमान टॉप पर रहे जिनका स्‍ट्राइक रेट 21.67 है.

इंग्‍लैंड वनडे में बना सकती है 500 रन, इस क्रिकेटर ने किया ऐलान

भारत के ही कुलदीप यादव ने 42 मैचों में 87 विकेट लिए हैं. स्पिनरों की औसत के मामले में वे अफगानिस्‍तान के राशिद खान से ही पीछे हैं. साथ ही स्‍ट्राइक रेट और इकनॉमी में भी कुलदीप यादव वर्ल्‍ड कप 2015 के बाद के दूसरे सबसे सफल स्पिनर हैं. युजवेंद्र चहल ने 40 मैचों में 72 विकेट चटकाए हैं.
विकेट लेने के मामले इंग्‍लैंड के लेग स्पिनर आदिल रशीद सबसे आगे हैं. उन्‍होंने 75 मैचों में 127 विकेट लिए हैं.


टीमों के हिसाब से बात की जाए तो सामने आता है कि न्‍यूजीलैंड के गेंदबाज स्‍ट्राइक रेट के मामले में दूसरे नंबर पर है. दिलचस्‍प बात है कि पाकिस्‍तान इस मामले में काफी नीचे है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज