अपना शहर चुनें

States

EngvsWI : गेल के छक्के-चौकों की आंधी में उड़ा इंग्लैंड

टी-20 वर्ल्ड कप की शुरूआत 2007 में हुई थी. फटाफट क्रिकेट के सबसे छोटे फार्मेट के पहले ही वर्ल्ड कप में विस्फोटक बल्लेबाजों की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी ने गेंदबाजों को बौना साबित कर दिया. धुरंधर खिलाड़ियों की मौजूदगी में वर्ल्ड कप में पहला शतक जमाने का गौरव भी क्रिस गेल को हासिल हुआ. गेल ने 11 सितंबर 2007 को जोहानिसबर्ग में मेजबान टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 117 रन की तूफानी पारी खेली थी. गेल ने अपनी शतकीय पारी में 57 गेंदों पर सात चौके और 10 छक्के जमाए थे. जानिए इस बल्लेबाज के आगे कोहली और धोनी भी फेल
टी-20 वर्ल्ड कप की शुरूआत 2007 में हुई थी. फटाफट क्रिकेट के सबसे छोटे फार्मेट के पहले ही वर्ल्ड कप में विस्फोटक बल्लेबाजों की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी ने गेंदबाजों को बौना साबित कर दिया. धुरंधर खिलाड़ियों की मौजूदगी में वर्ल्ड कप में पहला शतक जमाने का गौरव भी क्रिस गेल को हासिल हुआ. गेल ने 11 सितंबर 2007 को जोहानिसबर्ग में मेजबान टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 117 रन की तूफानी पारी खेली थी. गेल ने अपनी शतकीय पारी में 57 गेंदों पर सात चौके और 10 छक्के जमाए थे. जानिए इस बल्लेबाज के आगे कोहली और धोनी भी फेल

  • Agencies
  • Last Updated: March 17, 2016, 12:24 AM IST
  • Share this:
क्रिस गेल (नाबाद 100) के तूफानी शतक की बदौलत वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम ने टी-20 विश्व कप का विजयी आगाज किया है. वेस्टइंडीज ने बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए मैच में इंग्लैंड को छह विकेट से हरा दिया.

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 182 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया था. वेस्टइंडीज ने गेल के तूफानी शतक की बदौलत बड़े लक्ष्य को 18.1 ओवर में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया.

गेल को मैन ऑफ द मैच चुना गया. यह सुपर-10 दौर के ग्रुप-2 मैच था.



बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज ने अपना पहला विकेट महज दो रन पर ही खो दिया था. लेकिन गेल एक छोर पर टिके हुए थे और इंग्लैंड के गेंदबाजों को बार-बार सीमा रेखा के बाहर भेज रहे थे.
गेल ने अपने चिर परिचित अंदाज में बल्लेबाजी की और महज 47 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया. उन्होंने कुल 48 गेंदें खेलीं. गेल ने अपनी तूफानी पारी में 11 छक्के जड़े साथ ही पांच चौके लगाए. उनकी इस आतिशी पारी के सामने 183 का लक्ष्य वेस्टइंडीज के लिए बौना साबित हुआ.

इस तूफानी शतक के साथ गेल ने टी-20 में अपने ही तेज शतक का रिकार्ड ध्वस्त कर दिया. गेल ने इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2007 में जोहानसबर्ग में 50 गेंदों में शतक बनाया था, जिसे आज उन्होंने खुद ही तोड़ दिया. टी-20 में सबसे तेज शतक का रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका के रिचार्ड लेवी के नाम है. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 2012 में 45 गेंदों में शतक जड़ा था.

मार्लान सैमुएल्स (37) ने गेल का बखूबी साथ दिया. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 55 रनों की साझेदारी की. सैमुएल्स 57 के कुल स्कोर पर आउट हुए.

सैमुएल्स के जाने के बाद गेल ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों की जमकर खबर ली. दूसरे छोर पर दिनेश रामदीन (12), ड्वान ब्रावो (2) जल्दी पवेलियन लौट गए.

इसके बाद गेल ने स्ट्राइक अधीकतर अपने पास रखी और तेजी से रन बनाए और टीम को 11 गेंद शेष रहते जीत दिलाई. उनके साथ आंद्रे रसेल 16 रनों पर नाबाद पवेलियन लौटे.

इससे पहले वेस्टइंडीज ने टॉस जीत कर इंग्लैंड को बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया.

इंग्लैड की ओर से जोए रूट ने सर्वाधिक 48 रनों का योगदान दिया. उनके अलावा जोस बटलर ने 30 रनों का योगदान दिया. रूट अपने अर्धशतक से दो रन से चूक गए. उन्होंने अपनी पारी में 36 गेंदों का सामना किया और तीन चौके और दो छक्के लगाए.

बटलर और इयोन मोर्गन (नाबाद 27) ने अंतिम ओवरों में तेजी से रन बटोर कर टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया.

वेस्टइंडीज की तरफ से रसेल और ब्रावो को दो-दो विकेट मिले. सुलेमान बेन को एक विकेट मिला, जबकि एक बल्लेबाज रन आउट हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज