सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के बीच झड़प संबंधी पाक पत्रकार के दावे गलत: CRPF

सीआरपीएफ (CRPF) और जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu & Kashmir Police) के बीच कथित आपसी झगड़े के संबंध में पाकिस्तानी पत्रकार (Pakistani Journalist के दावों को फर्जी बताकर उन्हें खारिज किया है.

भाषा
Updated: August 12, 2019, 11:39 PM IST
सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के बीच झड़प संबंधी पाक पत्रकार के दावे गलत: CRPF
केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल ने इन दावों को सिरे से खारिज करते हुए इस संबंध में अपने आधिकारिक हैंडल पर पोस्ट लिखा है. (Photo- PTI)
भाषा
Updated: August 12, 2019, 11:39 PM IST
सीआरपीएफ (CRPF) और जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu & Kashmir Police) के बीच कथित आपसी झगड़े के संबंध में पाकिस्तानी पत्रकार (Pakistan Journalist) के दावों को फर्जी बताकर उन्हें खारिज करते हुए सुरक्षा बलों ने कहा कि सूचना गलत और निराधार है. कश्मीर पुलिस (Kashmir Police) ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया है कि उसने आगे की कार्रवाई के लिए इस ट्वीट के बारे में माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट को सूचित कर दिया है.

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने की पृष्ठभूमि में झड़प होने का दावा पाकिस्तान के पत्रकार वजाहत सईद खान ने अपने सत्यापित ट्विटर हैंडल से किया है. खान ने लिखा है, कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों के बीच तनाव बढ़ रहा है. मुस्लिम कश्मीरी पुलिसकर्मी ने गोली मार कर भारतीय सीआरपीएफ के पांच कर्मियों की हत्या कर दी. सुरक्षा बलों ने एक-दूसरे पर हमला किया क्योंकि उन्होंने एक गर्भवती महिला को सिर्फ इसलिए जाने की अनुमति नहीं दी क्योंकि उसके पास कर्फ्यू का पास नहीं था. हमले के बाद से हालात तनावपूर्ण हैं.

सीआरपीएफ ने दावों को किया खारिज
केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल ने इन दावों को सिरे से खारिज करते हुए इस संबंध में अपने आधिकारिक हैंडल पर पोस्ट लिखा है. सीआरपीएफ ने लिखा है, इस ट्वीट की छवि खराब करने वाली सामग्री/सूचना आधारहीन और गलत है. हमेशा की तरह भारत के सभी सुरक्षा बल साथ मिलकर समन्वय और भाईचार के साथ काम कर रहे हैं. हमारी वर्दी के रंग भले ही अलग-अलग हों लेकिन देशभक्ति और तिरंगा हमारे दिल और अस्तित्व में बसता है.

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल ने इन दावों को सिरे से खारिज करते हुए इस संबंध में अपने आधिकारिक हैंडल पर पोस्ट लिखा है (Photo- PTI)


गृह मंत्रालय ने भी किया इंडोर्स
आतंकवाद निरोधी कार्रवाई और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कश्मीर घाटी में तैनात सीआरपीएफ के इस ट्वीट को केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने अपने सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से एंडोर्स किया है.
Loading...

कश्मीर पुलिस ने लिखा है, हम छवि खराब करने वाली सूचना का सिरे से खंडन करते हैं.इसे ट्विटर के समक्ष कार्रवाई के लिए उठाया गया है. सीआरपीएफ के प्रवक्ता ने यहां बल के मुख्यालय पर कहा कि उपमहानिरीक्षक मोसेस दिनाकरण ने भी पत्रकार की पोस्ट की कटु आलोचना की है.

दिनाकरण ने ट्वीट किया है, कश्मीर में अपनी गलत मंशा को अंजाम नहीं दे पाने की निराशा की वजह से भड़के आपके गुस्से पर मुझे दया आती है. इस फर्जी खबर के साथ आप और नीचे गिर गए हैं.

ये भी पढ़ें-
जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव का बयान, ईद पर नहीं चली कोई गोली

भारत-पाक सीमा पर फीकी रही बकरीद, नहीं बांटी मिठाइयां
First published: August 12, 2019, 7:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...