तमिलनाडु में हिरासत में पिता और पुत्र की मौत पर फूटा गुस्सा, हाईकोर्ट ने पुलिस से रिपोर्ट मांगी

जेल में हुई बाप-बेटे की मौत से तमिलनाडु के लोगों में गुस्सा है (सांकेतिक फोटो)

मद्रास उच्च न्यायालय (Madras High court) की मदुरै पीठ (Madurai bench) ने पिता-पुत्र की मौत को लेकर पुलिस (Police) को 26 जुलाई तक रिपोर्ट दखिल करने का निर्देश दिया.

  • Share this:
    तूतीकोरिन. तमिलनाडु (Tamil Nadu) के तूतीकोरिन जिले (Tuticorin District) में पुलिस हिरासत में पिता और पुत्र की कथित रूप से मौत (Custodial Death) के बाद जनाक्रोश भड़क गया है. मद्रास उच्च न्यायालय (Madras High court) ने इस मामले में जवाब मांगा है. सतकुलम थाने में हिरासत में दो व्यापारियों की कथित मौत के विरोध में बुधवार को जिले में दुकानें बंद रहीं. वैसे इस मामले की न्यायिक जांच (Judicial Investigation) का आदेश दिया जा चुका है.

    उच्च न्यायालय (High Court) की मदुरै पीठ ने पिता-पुत्र की मौत को लेकर पुलिस (Police) को 26 जुलाई तक रिपोर्ट दखिल करने का निर्देश दिया. पी जयराज और उनके बेटे जे फेनिक्स के रिश्तेदारों ने आरोप लगाया कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान अपनी मोबाइल दुकान (Mobile Shop) खुली रखने को लेकर पूछताछ के लिए हिरासत में लिये गये इन दोनों के साथ पुलिसकर्मियों ने मारपीट की.

    जेल अधिकारियों ने कहा, "जब जेल लाया गया फेनिक्स तभी शरीर से बह रहा था खून"
    जेल अधिकारियों के अनुसार जब फेनिक्स को जेल लाया गया तब उसके शरीर से खून बह रहा था. तूतीकोरिन के जिलाधिकारी संदीन नंदूरी ने बताया कि दोनों को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें कोविलपट्टी उपजेल में रखा गया था.

    उन्होंने बताया कि फेनिक्स बीमार पड़ गया और सोमवार को कोविलपट्टी सामान्य अस्पताल में उसकी मौत हो गई. जबकि उसके पिता की मंगलवार को मौत हो गयी. उन्होंने कहा,‘‘ शिकायत है कि वे पुलिस की पिटाई से मरे , न्यायिक जांच का आदेश दिया गया है.’’

    हाईकोर्ट ने पुलिस को 26 जुलाई तक मामले की रिपोर्ट देने को कहा
    बुधवार को न्यायमूर्ति पी एनप्रकाश और न्यायमूर्ति बी पुगलेंदी की खंडपीठ ने तूतीकोरिन के पुलिस अधीक्षक को 26 जुलाई तक मामले में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया. इस बीच पी जयराज और उनके बेटे जे फेनिक्स के परिवार ने दो उपनिरीक्षकों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की और आरोप लगाया कि वे ही दोनों की मौत के लिए जिम्मेदार हैं. परिवार ने कहा कि जबतक उसकी मांग नहीं मान ली जाती है तबतक वह शव नहीं लेगा.

    यह भी पढ़ें: NCP नेताओं संग दिखा नाथूराम का किरदार निभाने वाला एक्टर, जयंत पाटिल ने दी सफाई

    द्रमुक (DMK) समेत विभिन्न राजनीतिक दलों ने दोनों की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. द्रमुक सांसद कनिमोई ने इसे पुलिस हिंसा करार दिया और दोनों उपनिरीक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.