लाइव टीवी

गरीबी से परेशान चार बच्चों की मां बोली- एक बच्चा भूख में खा चुका है कीचड़, ऐसे नहीं पाल सकती

News18Hindi
Updated: December 3, 2019, 9:09 AM IST
गरीबी से परेशान चार बच्चों की मां बोली- एक बच्चा भूख में खा चुका है कीचड़, ऐसे नहीं पाल सकती
महिला का पत्र मिलने के बाद सीडब्ल्यूसी के सदस्य परिवार के अस्थायी घर पहुंचे और बच्चों का संरक्षण अपने हाथ में ले लिया. (प्रतीकात्मक)

महिला ने पत्र में लिखा था कि उसका पति नशा करता है और वे अपने बच्चों को खाना तक मुहैया नहीं करा पा रही. उसने यह भी कहा था कि एक बार एक बच्चे ने भूख के कारण कीचड़ खा लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2019, 9:09 AM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम (केरल). गरीबी से परेशान एक मां ने बाल कल्याण समिति (Child Welfare Committee) को पत्र लिखकर अपने चार बच्चों का भरण-पोषण करने में असमर्थता जताई. इसके बाद समिति ने सोमवार को चारों बच्चों के पालन-पोषण की जिम्मेदारी अपने हाथ में ले ली.

महिला ने पत्र में लिखा था कि उसका पति नशा करता है और वे अपने बच्चों को खाना तक मुहैया नहीं करा पा रही. उसने यह भी कहा था कि एक बार एक बच्चे ने भूख के कारण कीचड़ खा लिया था. पत्र मिलने के बाद सीडब्ल्यूसी के सदस्य परिवार के अस्थायी घर पहुंचे और बच्चों का संरक्षण अपने हाथ में ले लिया.

मेयर के श्रीकुमार ने उनके घर का दौरा किया और संवाददाताओं से कहा कि मां को नगर निगम में अस्थायी नौकरी दी जाएगी. लाइफ मिशन के तहत बेघरों के लिए बनाए गए अपार्टमेंट में से एक परिवार को दिया जाएगा.

हालांकि, महिला के पति ने मीडिया को बताया कि उन्हें सूचित नहीं किया गया था कि बच्चों को सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया जाएगा और उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी ने यह कदम उनके कुछ रिश्तेदारों के दबाव में उठाया है.

विपक्षी कांग्रेस के नेता रमेश चेन्निथला ने घर का दौरा किया और मांग की कि इस मुद्दे को जल्द हल किया जाए. यह राज्य के लिए बहुत ही अपमान की बात है, जो बच्चे ने भूख के कारण कीचड़ खा लिया. चेन्निथला ने कहा, सरकार को आवश्यक कारवाई करनी चाहिए.

स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने दिल्ली में मीडिया से कहा कि राज्य बच्चों की शिक्षा का ध्यान रखेगा. उन्होंने कहा कि सभी चार बच्चे अब सरकार के संरक्षण में होंगे. हम उनकी शिक्षा और स्वास्थ्य की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : किसान सम्मान निधि स्कीम: 10 करोड़ से अधिक किसानों तक नहीं पहुंची अंतिम किश्त 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 8:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर