होम /न्यूज /राष्ट्र /दिल्ली AIIMS के बाद अब ICMR की वेबसाइट पर हैकर्स की नजर, 1 दिन में 6000 बार किए अटैक मगर...

दिल्ली AIIMS के बाद अब ICMR की वेबसाइट पर हैकर्स की नजर, 1 दिन में 6000 बार किए अटैक मगर...

एम्स के बाद अब आईसीएमआर की वेबसाइट पर एक दिन में 6 हजार बार हैकर्स ने किया अटैक. (सांकेतिक तस्वीर)

एम्स के बाद अब आईसीएमआर की वेबसाइट पर एक दिन में 6 हजार बार हैकर्स ने किया अटैक. (सांकेतिक तस्वीर)

Ransomware Attack on AIIMS: एनआईसी यानी राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के एक सरकारी अधिकारी ने नाम न जाहिर होने देने की ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: दिल्ली एम्स के सर्वर हैक करने का मामला अभी सुलझा भी नहीं था कि साइबर हैकर्स ने अब आईसीएमआर की वेबसाइट पर हमला करना शुरू कर दिया है. एम्स के बाद अब साइबर हमलावरों ने भारत में अन्य स्वास्थ्य और अनुसंधान संगठनों की वेबसाइट और पेशेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम को टारगेट करना शुरू कर दिया है. एनआईसी यानी राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के एक सरकारी अधिकारी ने नाम न जाहिर होने देने की शर्त पर बताया कि 30 नवंबर को साइबर हैकर्स ने 24 घंटे की अवधि में आईसीएमआर यानी भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की वेबसाइट पर 6000 से अधिक बार हमला करने की कोशिश की.

मनी कंट्रोल की खबर के मुताबिक, आईसीएमआर की वेबसाइट पर अटैक करने वाले हमलावरों के विवरण के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा कि आईसीएमआर की वेबसाइट पर ये हमले हांगकांग स्थित ब्लैक लिस्टेड आईपी एड्रेस 103.152.220.133 से किए गए थे. हालांकि, साइबर हमलावरों को ब्लॉक कर दिया गया और वे अपने नापाक मंसूबे में सफल नहीं हो सके. अधिकारी ने बताया कि हमने इस बारे में टीम को अलर्ट कर दिया है. अगर फायरवॉल (फायरवॉल सिस्टम को वायरस से सुरक्षित रखने का एक सिक्योरिटी सिस्टम होता) में कुछ खामियां होतीं तो हैकर्स वेबसाइट की सुरक्षा में सेंध लगाने में सफल हो सकते थे.

AIIMS Cyber Attack: सात दिन बाद भी सर्वर बंद, रिसर्च में लगे स्टाफ को मरीजों की सेवा में करना पड़ा शिफ्ट

इस बीच आईसीएमआर के अधिकारियों ने इस मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. अधिकारी के मुताबिक, एनआईसी ने सरकारी संगठनों से फायरवॉल को अपडेट रखने को कहा है. उन्होंने कहा, ‘एनआईसी के दिशानिर्देशों का नियमित रूप से पालन किया जाना है. सरकारी संगठनों को ऑपरेटिंग सिस्टम के सुरक्षा पैच को अपडेट करने की सलाह दी गई है.’ अधिकारी ने कहा कि 2020 से ही स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर साइबर हमले बढ़ गए हैं.

गौरतलब है कि बीते दिनों दिल्ली एम्स के सर्वर को हैक कर लिया गया था. एम्स में साइबर सेंधमारी का बीते बुधवार को सुबह पता चला था. आशंका जताई जा रही है कि सेंधमारी के कारण लगभग 3-4 करोड़ मरीजों का डेटा प्रभावित हो सकता है. सूत्रों ने कहा कि सर्वर डाउन होने के कारण आपातकालीन इकाई में रोगी देखभाल सेवाएं, बाह्य रोगी, भर्ती रोगी और प्रयोगशाला अनुभाग को कागजी रूप से प्रबंधित किया जा रहा है.

Tags: Aiims delhi, Cyber Attack, Hackers, ICMR

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें