अपना शहर चुनें

States

केरल में 4 दिसंबर को चक्रवात 'बुरेवी' का अलर्ट, बनाए गए 2000 राहत शिविर

केरल में कल पहुंचेगा चक्रवात बुरेवी. (Pic- ANI)
केरल में कल पहुंचेगा चक्रवात बुरेवी. (Pic- ANI)

Cyclone Burevi: आईएमडी ने पूर्वानुमान जताया है कि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथनमथिट्टा, कोट्टायम, अलप्पुझा, इडुक्की और एर्णाकुलम जिलों में तीन से पांच दिसंबर तक भारी बारिश और तेज हवा चलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2020, 7:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केरल (Kerala) में चक्रवात ‘बुरेवी’ (Cyclone Burevi) के शुक्रवार यानी 4 दिसंबर तक पहुंचने की आशंका जताई गई है. इसके मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. अधिकारियों ने स्थिति से निपटने के लिए 2000 से अधिक राहत शिविर खोले हैं. इसके साथ ही 5 दिसंबर तक समुद्र में मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बुधवार को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से बात की और उन्हें केंद्र से हरसंभव मदद का भरोसा दिया है. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा, 'हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चक्रवात से जुड़े मामलों पर चर्चा की है. हमने राज्य सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में बताया है.'

विजयन ने कहा कि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पूर्वानुमान जताया है कि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथनमथिट्टा, कोट्टायम, अलप्पुझा, इडुक्की और एर्णाकुलम जिलों में तीन से पांच दिसंबर तक भारी बारिश और तेज हवा चलेगी.







तटवर्ती क्षेत्रों में बने गहरे दबाव के क्षेत्र के चलते तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना के मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने भी इन राज्यों की स्थिति की समीक्षा की. बैठक में कहा गया है कि चार दिसंबर तक मछली पकड़ने संबंधी सभी तरह की गतिविधियों को रद्द किया जाना चाहिए.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार गहरे दबाव के क्षेत्र के दौरान दो से चार दिसंबर के बीच भारी से बहुत भारी बारिश के साथ ही विभिन्न रफ्तार की हवाएं तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप के तटीय इलाकों को प्रभावित कर सकती हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे में फसलों और आवश्यक सेवाओं को नुकसान पहुचंने की आशंका है. तमिलनाडु में मत्स्य विभाग के मंत्री डी जयकुमार के मुताबिक पूर्वानुमान के मद्देनजर गहरे समुद्र में मछली पकडने गई तमिलनाडु की 200 से भी अधिक नावों को सकुशल वापस लाने के लिए राज्य सरकार कदम उठा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज