लाइव टीवी

फानी: किसान भाईयों कटी हुई फसलें, खुले में रखे अनाज सुरक्षित रख लें वरना....

News18Hindi
Updated: May 3, 2019, 4:41 PM IST
फानी: किसान भाईयों कटी हुई फसलें, खुले में रखे अनाज सुरक्षित रख लें वरना....
किसानों का दिल दहला रही तेज आंधी, बारिश!

'फानी' से बचने के लिए कृषि विभाग की मैसेजवाणी, किसानों के मोबाइल पर सीधे भेजी गई सलाह

  • Share this:
चक्रवाती तूफान 'फानी' देश के पूर्वी तटीय इलाकों में दस्तक दे चुका है. इसका सबसे ज्यादा असर ओडिशा में है. आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड में भी तूफान को लेकर अर्लट जारी कर दिया गया है. इसका असर पूर्वी यूपी तक देखने को मिल रहा है. वहां तेज आंधी लोगों का दिल दहला रही है. कृषि विभाग ने पूर्वी यूपी के किसानों को बाकायदा उनके फोन पर संदेश मैसेज भेजकर आंधी-तूफान से आगाह किया है.

आमतौर पर किसानों को रेडियो, टीवी के माध्यम से अलर्ट किया जाता था लेकिन अब उन्हें सीधे मैसेज भेजकर आगाह किया जा रहा है. किसानों के पास आए संदेश में लिखा है, 'किसान भाईयों आगामी दो दिनों में तेज हवा एवं तूफान आने की संभावना है. इसलिए कटी हुई फसलें, खुले में रखे अनाज एवं खेतों में खड़ी फसल काटकर सुरक्षित रख लें.' किसानों का कहना है कि गेहूं और सरसों की फसल कट गई है. लोगों ने इस संदेश के बाद गेहूं का भूसा भी अंदर रख लिया है. अब अगर बारिश, तूफान आया तो सब्जियों को ज्यादा नुकसान होने की संभावना है. जैसे प्याज और टमाटर को. (ये भी पढ़ें: 'फानी' या 'फोनी' क्या है तूफान का असली नाम?)

 cyclone fani, Odisha, east UP, fani alert, farmer, mobile, kisan, ministry of agriculture, Rainfall, vegetables crops, bihar, Madhya Pradesh, warning, चक्रवात फानी, ओडिशा, पूर्वी उत्तर प्रदेश, फनी अलर्ट, किसान, मोबाइल, किसान, कृषि मंत्रालय, वर्षा, सब्जियों की फसलें, बिहार, मध्य प्रदेश, चेतावनी           किसानों के मोबाइल पर भेजा गया अलर्ट

देश में महाराष्ट्र के अलावा मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान, बिहार, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में भी प्याज का का उत्पादन होता है. मध्य प्रदेश के कई जिलों में बारिश हुई है, जिससे वहां प्याज और टमाटर की फसल को नुकसान का अंदेशा है. यहां 20 जिलों में आंधी, बारिश और ओले पड़ने का अलर्ट है. इसलिए किसान परेशान हैं. ये तो रही किसानों की बात. आम लोगों को भी इससे विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है.

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का कहना है कि राज्यों को अलर्ट और एडवाइजरी भेज दी गई है. अगर कहीं पर फसलों का नुकसान होगा तो डिजास्टर रिलीफ फंड से सहायता दी जाएगी. अगर फसल बीमा हुआ है तो उससे किसानों को सुरक्षा मिलेगी.

cyclone fani, farmers        प्रतीकात्मक फोटो

राष्ट्रीय किसान महासंघ के प्रवक्ता विनोद आनंद का कहना है कि फानी की वजह से नारियल, सुपारी, खजूर, टमाटर और प्याज का नुकसान है. चमन योजना के तहत ओडिशा में जो बागवानी के प्रोजेक्ट चल रहे हैं उसे काफी नुकसान है. तूफान खत्म होने के बाद सरकार नुकसान का आकलन करवाकर प्रभावित किसानों को सपोर्ट करे.ये भी पढ़ें:

PM-KISAN: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का पैसा नहीं मिला तो इस हेल्पलाइन पर करें फोन!

तेज बहादुर यादव बोले, अब सिर्फ वाराणसी नहीं, दूसरी सीटों पर भी करूंगा मोदी-बीजेपी के खिलाफ प्रचार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 3, 2019, 1:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर