होम /न्यूज /राष्ट्र /

Cyclone Gulab Update: आईएमडी ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आंध्र प्रदेश के CM की अधिकारियों संग अहम बैठक

Cyclone Gulab Update: आईएमडी ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आंध्र प्रदेश के CM की अधिकारियों संग अहम बैठक

चक्रवात गुलाब का सबसे अधिक असर आंध्रप्रदेश और ओडिशा में होने की संभावना है. (सांकेतिक तस्वीर)

चक्रवात गुलाब का सबसे अधिक असर आंध्रप्रदेश और ओडिशा में होने की संभावना है. (सांकेतिक तस्वीर)

Cyclone Gulab Update: आंध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने चक्रवाती तूफान के मद्देनजर अधिकारियों को सतर्क रहने और आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हैदराबाद. पश्चिम बंगाल की खाड़ी में उठा गुलाब चक्रवात 7 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है और उत्तरी आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम ज़िले और दक्षिणी ओडिशा में इसका ज्यादा असर होने की आशंका है. बताया जा रहा है कि गुलाब चक्रवात गोपालपुर और कलिंगापट्टनम के पास स्ट्राइक कर सकता है. भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने गुलाब चक्रवात को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

इस बीच, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने शनिवार को चक्रवात अलर्ट को लेकर मौसम विभाग की रिपोर्ट के मद्देनजर तैयारियों के लिए समीक्षा बैठक की और अधिकारियों को सभी जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया. अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्होंने जिला कलेक्टरों को सतर्क कर दिया है और सभी आवश्यक कदम उठाने का सुझाव दिया है. अधिकारियों ने कहा कि नियंत्रण कक्ष ग्राम सचिवालय के अनुसार स्थापित किए गए थे.

अफगानिस्तान में बिगड़े हालात, तालिबान ने शख्स को पब्लिकली मारकर लटकाया, VIDEO वायरल

इसके साथ ही उन्होंने श्रीकाकुलम और विशाखापत्तनम जिलों में आपदा प्रबंधन कर्मचारियों को तैयार रखा है. अधिकारियों ने जानकारी दी कि जिला कलेक्टर आवश्यक स्थानों पर राहत शिविर स्थापित करने के लिए कदम उठा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सतर्क रहने और आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए क्योंकि चक्रवाती तूफान के तट से गुजरने के बाद भारी बारिश की संभावना है.

एनडीआरएफ की आंध्र प्रदेश और ओडिशा में 18 टीमें तैनात
राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने पश्चिम बंगाल की खाड़ी में उठे तूफान के चलते ओडिशा और आंध्र प्रदेश में अपनी 18 टीमों की तैनाती शुरू कर दी है. एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने ट्वीट किया, “ओडिशा में 13 और आंध्र प्रदेश में पांच टीमों की तैनाती शनिवार रात तक कर दी जाएगी.” एनडीआरएफ की टीम ओडिशा के बालासोर, गजपति, रायगढ़ा, कोरापुट, नयागढ़, और मल्काजगिरि में तैनात की जाएंगी, जबकि पड़ोसी आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम, श्रीकाकुलम, यनम और विजयनगरम में बल की पांच टीमों की तैनाती होगी.

14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ सकता तूफान
ओडिशा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक- सात जिलों- गजपति, गंजम, रायगढ़ा, कोरापुट, मल्काजगिरि, नबरंगपुर और कंधमाल- को हाई अलर्ट पर रखा गया है क्योंकि भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती तूफान बनने का पूर्वानुमान लगाया है. आईएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक तूफान दक्षिणी ओडिशा और पड़ोसी आंध्र प्रदेश के तट की ओर बढ़ सकता है. विभाग ने इससे पहले पूर्वानुमान लगाया था कि उत्तर और उससे सटे मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र पश्चिम की ओर 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ सकता है.

26 सितंबर को विशाखापत्तनम और गोपालपुर से टकराने की आशंका
आईएमडी के मुताबिक शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे के करीब तूफान ओडिशा के गोपालपुर से पूर्व दक्षिण पश्चिम में 470 किलोमीटर दूर और आंध्र प्रदेश के कलिंगपत्तनम से 540 किलोमीटर पूर्व उत्तर पूर्व में अवस्थित था. विभाग ने बताया, “कम दबाव के बने क्षेत्र के चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है और इसके पश्चिम की ओर आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तट की ओर बढ़ने की संभावना है. इसके 26 सितंबर को विशाखापत्तनम और गोपालपुर के बीच तट से टकराने की आशंका है.”

75 से 95 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं
आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि तूफान की वजह से 75 से 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं और यह गति 95 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है. आईएमडी के मुताबिक 27 सितंबर को ओडिशा और तेलंगाना के अधिकतर इलाकों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है, जबकि छिटपुट इलाकों में मूसलाधार बारिश की संभावना है. वहीं,पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्र के छिटपुट इलाकों में भी बारिश हो सकती है.

(इनपुट एएनआई/भाषा से भी)

Tags: Andhra Pradesh, Cyclone, Odisha, Telangana

अगली ख़बर