• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Cyclone Jawad Updates: कमजोर पड़ा चक्रवाती तूफान जवाद, ओडिशा में सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए हजारों लोग

Cyclone Jawad Updates: कमजोर पड़ा चक्रवाती तूफान जवाद, ओडिशा में सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए हजारों लोग

Cyclone Jawad Live Updates: बंगाल की खाड़ी (Bay Of Bengal) से उठा चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) शनिवार को उत्‍तरी आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और दक्षिणी ओडिशा (Odisha) से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि चक्रवाती तूफान जवाद शनिवार दोपहर तक ओडिशा-आंध्र प्रदेश तट पहुंचने से पहले गहरे दबाव में तब्दील होकर कमजोर पड़ सकता है.

  • News18Hindi
  • | December 05, 2021, 00:22 IST
    LAST UPDATED 2 MONTHS AGO

    हाइलाइट्स

    22:22 (IST)

    एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) के कमजोर पड़ने के बाद ओडिशा (Odisha) सरकार ने शनिवार को निकासी को कम कर दिया और 300 गर्भवती महिलाओं सहित केवल 1,500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.

    22:16 (IST)

    भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि चक्रवाती तूफान 'जवाद' शनिवार को कमजोर होकर एक गहरे दबाव में बदल गया तथा रविवार को पुरी पहुंचने तक इसके और कमजोर पड़ने की संभावना है. यह आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के लिए राहत की बात है. मौसम कार्यालय ने एक बयान में कहा कि चक्रवाती तूफान कमजोर होकर एक गहरे दबाव में बदल गया है और यह शाम 5:30 बजे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर, विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश से लगभग 180 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व में और पुरी, ओडिशा से 330 किमी दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में केंद्रित था.

    20:05 (IST)

    केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को चक्रवात 'जवाद' से निपटने के लिए आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल द्वारा की गई व्यवस्था और तैयारियों की समीक्षा की. इस सम्मेलन में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई), फिक्की, एसोचैम और पीएचडी चैंबर्स जैसे उद्योग मंडलों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे. गोयल ने इस दौरान सभी हितधारकों के सुझावों के जरिये इस प्राकृतिक आपदा के प्रभावी तरीके से प्रबंधन के लिए एक व्यापक कार्ययोजना तैयार करने पर जोर दिया.

    19:34 (IST)

    मौसम विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा, 'चक्रवात के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी तक पहुंचने तथा इसके बाद उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर इसके फिर से बढ़ने, पांच दिसंबर को लगभग दोपहर के समय ओडिशा तट पर इसके पुरी के पास पहुंचने और धीरे-धीरे कमजोर होने की संभावना है.

    19:23 (IST)

    चक्रवात ‘जवाद’ के ओडिशा-आंध्र प्रदेश तटों की ओर बढ़ने के बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने शनिवार को दक्षिण 24 परगना और पूर्ब मेदिनीपुर जिलों से हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया तथा पर्यटकों से समुद्र तटों से दूर रहने का आग्रह किया. मौसम कार्यालय ने कहा कि महानगर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्ब और पश्चिमी मेदिनीपुर, झारग्राम, हावड़ा और हुगली जिलों में कई स्थानों पर सुबह से ही हल्की बारिश हो रही है.

    19:20 (IST)


    पहले 6 घंटे में चक्रवात जवाद उत्तर की ओर बढ़ेगा और फिर उत्तर-उत्तर पूर्वी की ओर बढ़ेगा। उत्तर-उत्तर पूर्वी की ओर बढ़ने पर चक्रवात कमज़ोर हो जाएगा और 5 दिसंबर को दोपहर में पुरी के पास पहुंच जाएगा। ये लगातार उत्तर-उत्तर पूर्वी की ओर बढ़ेगा और कमजोर हो जाएगा: DDGM, IMD, कोलकाता, पश्चिम बंगाल

    19:20 (IST)

    चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) को लेकर DG NDRF अतुल करवाल ने बताया कि NDRF की 52 टीमें तैनात हैं और 12 टीमें रिजर्व हैं. बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में ज़रूरत के मुताबिक टीम भेजी गई हैं. हमने पूरी तैयारी कर ली है. IMD की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक चक्रवाती तूफान जवाद की ताकत पहले से कम हो रही है.

    19:17 (IST)

    भारत मौसम विज्ञान विभाग की ओर से कहा गया,  'इसके धीरे-धीरे कमजोर पड़ने और अगले 12 घंटे में उत्तर की ओर बढ़ने की उम्मीद है और इसके बाद यह उत्तर की तरफ ओडिशा के तट की तरफ गहरे दबाव के क्षेत्र के रूप में पुरी के पास जा सकता है.' 

    19:16 (IST)

    तूफान जवाद का असर दिखना शुरू हो गया है. भले ही तूफान रविवार को ओडिशा तट से टकराने वाला हो लेकिन पुरी में तेज बारिश शुरू हो गई है. तेज हवाएं भी चल रही हैं। सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ की 64 टीमें भी तैनात की गईं है.

    14:13 (IST)

    जवाद तूफान के कारण आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है. ओडिशा और आंध्र प्रदेश में रेड एलर्ट जारी किया गया. पीएम मोदी ने लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए अधिकारियों को हर संभव उपाय करने का निर्देश दिया है.

    नई दिल्‍ली. देश के दक्षिणी राज्‍यों में एक बार फिर चक्रवात (Cyclone Jawad) का खतरा मंडरा रहा है. बंगाल की खाड़ी (Bay Of Bengal) से उठा चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad Live Updates) शनिवार को उत्‍तरी आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और दक्षिणी ओडिशा (Odisha) से टकरा सकता है. ऐसे में नुकसान के खतरे को देखते हुए नौसेना (Indian Navy), एनडीआरएफ (NDRF) और एसडीआरएफ (SDRF) की टीमों को बचाव कार्य में तैनात किया गया है. इस दौरान हवा की रफ्तार 80 से 100 किमी प्रति घंटा रहने की संभावना जताई गई है. चक्रवात जवाद को देखते हुए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए अपनी 64 टीम तैयार रखी है.

    एनडीआरएफ महानिदेशक अतुल करवाल ने कहा है कि जोखिम वाले इलाकों में 46 टीम तैनात कर दी गई है या उन्हें वहां तैयार रखा गया है, जबकि 18 टीम को रिजर्व रखा गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थिति से निपटने की तैयारियों की गुरुवार को समीक्षा की थी. उन्होंने अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए हरसंभव उपाय करने का निर्देश दिया था. मौसम विभाग ने बताया कि 30 नवंबर को अंडमान सागर के ऊपर हवा का कम दबाव का एक क्षेत्र बना था. यह दो दिसंबर को अवदाब में और शुक्रवार सुबह एक गहरे अवदाब में बदल गया. आईएमडी ने बताया कि यह शुक्रवार को दोपहर तक चक्रवात में तब्दील हो गया. चक्रवात से उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और इससे लगे दक्षिणी तटीय ओडिशा में शनिवार को बारिश की तीव्रता बढ़ने के आसार हैं.

    पढ़ें Cyclone Jawad के LIVE UPDATES

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन