लाइव टीवी

‘महा’ चक्रवात : महाराष्ट्र, गोवा और गुजरात में सात नवंबर तक हो सकती है भारी बारिश, पालघर में स्कूल-कॉलेज बंद

भाषा
Updated: November 5, 2019, 11:26 PM IST
‘महा’ चक्रवात : महाराष्ट्र, गोवा और गुजरात में सात नवंबर तक हो सकती है भारी बारिश, पालघर में स्कूल-कॉलेज बंद
महा चक्रवात से छह नवंबर को ज्यादातर हिस्सों पर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है और कुछ जगहों पर भारी बारिश की आशंका है.

मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवाती तूफान 'महा' के कारण तटीय कोंकण, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों में बारिश होने की संभावना है. यह तूफान सात नवंबर को गुजरात तट पर दस्तक दे सकता है. तूफान के टकराने के बाद भावनगर, सूरत, भरूच, आणंद, अहमदाबाद, बोटाद और वडोदरा में सात नवंबर को भारी बारिश होने की आशंका है.

  • Share this:
भुवनेश्वर. बंगाल की खाड़ी में दबाव के क्षेत्र के मजबूत होकर चक्रवात का रूप लेने और व्यापक रूप से वर्षा होने की संभावना के मद्देनजर ओडिशा सरकार (Odisha Government) ने संभावित बाढ़ और जलभराव की स्थिति से निपटने के लिए मंगलवार को राज्य के 30 में से 15 जिलों को अलर्ट जारी किया है.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दबाव का रुख पश्चिम की ओर बढ़ा है और यह फिलहाल बंगाल की खाड़ी में पूर्व मध्य एवं पड़ोस के दक्षिणपूर्व क्षेत्र तथा अंडमान निकोबार सागर में केंद्रित है जो ओडिशा के पारादीप के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में 890 किलोमीटर की दूरी पर तथा पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में 980 किलोमीटर की दूरी पर है.

ओडिशा के तट पर तूफान के पहुंचने की संभावना कम
विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि उसके मजबूत होकर गहरे दबाव में तब्दील होने और बुधवार को चक्रवातीय तूफान का रूप लेने की संभावना है. चक्रवात के ओडिशा तट पर पहुंचने की संभावना बहुत कम है.

विशेष राहत आयुक्त और राजस्व एवं आपदा प्रबंधन के सचिव पीके जेना ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘संभावित भारी वर्षा के मद्देनजर हमने राज्य के 30 में से 15 जिलों को अलर्ट कर दिया है.’’ जिन जिलों को अलर्ट पर रखा गया, उनमें बालासोर, भद्रक, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, गंजम, पुरी, गजपति, कोरापुट, रायगढ़, नबरंगपुर, कालाहांडी, कंधमाल, बौध, नौपाड़ा और मलकानगिरी शामिल हैं.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘हम इसकी गति और दिशा पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. अभी इसके संभावित प्रभाव को लेकर कोई स्पष्ट तस्वीर सामने नहीं आई है.’’ मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे अगली सूचना तक समुद्र में न जाएं.

गुजरात के तट पर टकरा सकता है तूफान
Loading...

वहीं बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘महा’ केंद्र शासित प्रदेश दीव के पास गुजरात (Gujarat) तट पर गुरुवार को टकराने से पहले कमजोर होकर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है. इससे राज्य के अलग अलग हिस्सों में भारी बारिश होने की आशंका है. साथ में 90 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं.

चक्रवात से छह नवंबर को ज्यादातर हिस्सों पर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है और कुछ जगहों पर भारी बारिश की आशंका है. विभाग ने कहा कि सात नवंबर को ‘महा’ चक्रवात जब तट पर टकराएगा तो, भावनगर, सूरत, भरूच, आणंद, अहमदाबाद, बोटाद और वडोदरा में सात नवंबर को भारी बारिश होने की आशंका है.

महाराष्ट्र में स्कूल-कॉलेज बंद
चक्रवात ‘महा’ के कारण भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए महाराष्ट्र (Maharashtra) के पालघर जिले में स्कूल और कॉलेज छह से आठ नवंबर तक बंद रहेंगे. अधिकारियों ने बताया कि पालघर और पड़ोस के ठाणे जिले में मछुआरों को अगले तीन-चार दिनों तक समुद्र में नहीं निकलने को कहा गया है.

मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक ‘महा’ के गुरुवार तड़के दीव और पोरबंदर के बीच गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है और इस दौरान 70-80 से लेकर 90 किलोमीटरप्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है. उन्होंने कहा कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह में छिटपुट स्थानों पर मूसलाधार से लेकर भारी वर्षा हो सकती है.

ये भी पढ़ें- Delhi Air Pollution: उल्लंघन पर कटे 99,000 से ज्यादा चालान,14 करोड़ वसूले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 11:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...