अपना शहर चुनें

States

Cyclone Nivar LIVE Updates: अगले 6 घंटे में खतरनाक चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा निवार, चेन्नई में कल अवकाश

चेन्नई में आज लगातार भारी बारिश हो रही है
चेन्नई में आज लगातार भारी बारिश हो रही है

Cyclone Nivar Live Updates: बंगाल की खाड़ी उठा ये तूफान लगातार आगे की तरफ बढ़ रहा है. फिलहाल पुडुचेरी से ये तूफान 410 किलोमीटर दक्षिण में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 11:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र आज चक्रवाती तूफान (Cyclonic Storm) में बदल गया. निवार (Cyclone Nivar) नाम का ये तूफान इस साल का चौथा चक्रवाती तूफान है. इससे पहले अम्फन, निसर्ग और गति ने दस्तक दी थी. सोमालिया से शुरू हुआ गति तूफान का खतरा दो दिन पहले ही टला है. लेकिन इस वक्त हर किसी की निगाहें 'निवार' पर टिकी है. तमिलनाडु और पुडुचेरी (Tamilnadu and Puducherry) में बारिश का दौर शुरू हो गया है. चेन्नई में आज लगातार भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग के मुताबिक आज बारिश की रफ्तार में और तेजी आएगी. इस चक्रवाती तूफान के ताजा अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहें. 

इंडिगो की 49 फ्लाइट्स कैंसिलः साइक्लोन निवार के चलते इंडिगो की चेन्नई केंद्रित उड़ानों में बाधा आई है. इसके चलते 25 नवंबर, बुधवार को शेड्यूल की गई 49 फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया गया है. इंडिगो की ओर से कहा गया कि स्थिति पर नजर रखी जा रही है और 26 नवंबर के लिए आगे फैसला लिया जाएगा.

इमरजेंसी के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयारः तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजयभास्कर ने कहा कि आपातकालीन मेडिकल सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए पूरी तैयारी की जा रही है. पीएचसी स्तर पर दवाएं भंडारित कर ली गई हैं. सभी सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था की जा रही है. साथ ही किसी भी इमरजेंसी के लिए 'हॉस्पिटल ऑन व्हील्स' को भी तैयार रहने को बोला गया है.



अगले 6 घंटों में और खतरनाक होगा चक्रवात निवारः मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम में है, जोकि कुड्डालोर के पूर्व और दक्षिण पूर्व में 320 किमी दूर है. पुडुचेरी से इसकी दूरी 350 किमी और चेन्नई से 410 किमी दूर है. अगले 6 घंटों में इसके और ज्यादा खतरनाक होने की आशंका बढ़ती जा रही है.
भारी बारिश से चेन्नई में जामः अन्नासलाई, जीएसटी रोड और काथिपारा जंक्शन पर भारी बारिश के चलते जाम लगा हुआ है. ट्रैफिक फंसा है. गाड़ियां धीरे-धीरे आगे बढ़ रही हैं और कई जगहों पर पानी भर गया है. हालांकि चेन्नई कॉरपोरेशन पानी निकालने में जुटा है. बारिश के चलते 90 के करीब उखड़े पेड़ों को हटाया गया है.राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कमिटी की बैठकः चक्रवात निवार को देखते हुए कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कमिटी की बैठक ली. बैठक में तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के मुख्य सचिवों के साथ अलग मंत्रालय के सचिव भी शामिल हुए.नंगम्बकम्म में 9 घंटे में 96 मिमी बारिशः मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात निवार के चलते तमिलनाडु के चेन्नई में मंगलवार को सुबह 8.30 बजे से 5.30 बजे तक भारी बारिश दर्ज की गई है. नंगम्बकम्म में सबसे ज्यादा 96 मिमी और मीनाम्बक्कम में 86 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है.तमिलनाडु में 12 टीमें तैनातः NDRF के डायरेक्टर जनरल ने बताया कि चक्रवात निवार से निपटने के लिए तमिलनाडु में 12 टीमें, पुडुचेरी में 2 टीमें, कराईकल में 1 टीम तैनात की गई है. साथ ही नेल्लोर में 3 टीमें तैयार की गई है. 1 टीम चित्तूर में तैनात की गई है. कुल 22 टीमें मोर्चे पर तैनात हैं जबकि 8 टीमों को तैयार रहने को कहा गया है.उत्तरी तमिलनाडु में सबसे ज्यादा खतराः भारतीय मौसम विभाग के डायरेक्टर जनरल मृत्युजंय महापात्रा ने कहा कि तमिलनाडु के तटीय और आतंरिक हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है. सबसे ज्यादा खतरा उत्तरी तमिलनाडु के जिलों में हैं.चक्रवात शेल्टर में पहुंचे लोगः तमिलनाडु में कुड्डालोर के आपदा निगरानी जोनल ऑफिसर ने कहा कि निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को चक्रवात शेल्टर्स में पहुंचाया गया है. हर ब्लॉक, पंचायत, जोनल टीम को सड़कों को खाली रखने के निर्देश दिए हैं. साथ ही बिजली के खंभों को भी ठीक करने को कहा गया है.जगनरेड्डी की बैठकः आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने चित्तूर, कडपा, करनूल, अनंतपुरमू, नेल्लोर और प्रकाशम जिले के कलेक्टरों के साथ बैठक कर चक्रवात निवार से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया.चक्रवात निवार से निपटने को नौसेना भी तैयारः भारतीय नौसेना ने कहा कि राहत और बचाव के लिए 5 बाढ़ राहत टीमें और एक डाइविंग टीम चेन्नई में तैनाती के तैयार हैं. साथ ही एक-एक बाढ़ राहत टीम नागपट्टिनम, रामेश्वरम् और आईएनएस पुरूंदु में स्टैंडबाई के तौर पर रखी गई हैं. आईएनएस ज्योति को डाइविंग टीम के साथ तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों में तैनात किया गया है.तमिलनाडु में बुधवार को छुट्टीः तमिलनाडु सरकार ने चक्रवात निवार के चलते बुधवार को अवकाश की घोषणा कर दी. भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात निवार तमिलनाडु के कराईकल और मामल्लपुरम् के बीच तट से टकरा सकता है.PM ने तमिलनाडु और पुडुचेरी के CM से की बातः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों से बात की और कहा कि वे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी बात करेंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि एक चक्रवात हमारे पूर्वी तटीय इलाकों में सक्रिय है और इसका असर इन राज्यों पर पड़ेगा. भारत सरकार की टीमें सक्रिय हैं और मौके पर हैं. केंद्र और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं और प्राथमिकता जान-माल की सुरक्षा करना है.समुद्र में उठने लगी ऊंची लहरेंः पुडुचेरी के गांधी बीच पर मंगलवार की दोपहर तेज हवा चलने से ऊंची-ऊंची लहरें उठने लगीं. 25 नवंबर की शाम चक्रवात निवार के पुडुचेरी के आसपास तट से टकराने की आशंका है.पुडुचेरी में हाई अलर्टः मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने मंगलवार को तटीय इलाकों का दौरा किया और तैयारियों का जायजा लिया. उन्होंने कहा कि सभी विभाग हाईअलर्ट पर हैं ताकि बिजली और पानी की सप्लाई सुनिश्चित की जा सके. प्रशासन लगातार मेहनत कर रहा है ताकि जान-माल की तनिक भी हानि ना हो.अभी चेन्नई से 50 किमी दूर है निवारः भारतीय मौसम विभाग दिल्ली के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामनी ने कहा कि चक्रवात निवार अभी चेन्नई के दक्षिण पश्चिम से 50 किलोमीटर दूर है और उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है. संभावना है कि ये तमिलनाडु के तट की ओर बढ़ेगा और बुधवार की शाम 5 बजे के करीब पुडुचेरी के आसपास तट से टकराएगा. आगे तूफान के और मजबूत होने की आशंका है.27 नवंबर तक बारिश की आशंकाः चेन्नई स्थित भारतीय मौसम विभाग के एस. बालाचंद्रन ने कहा कि साइक्लोन के कराईकल और मामल्लपुरम् के बीच पुडुचेरी के आसपास तट से टकराने की आशंका है. चक्रवात को देखते हुए तमिलनाडु में 27 नवंबर तक बारिश होने की आशंका है.NDRF की 30 टीमें तैनातः एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने कहा कि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी में राहत और बचाव कार्य के लिए 30 टीमों को लगाया गया है. तमिलनाडु और पुडुचेरी के लिए 9 टीमें साझा रूप से काम कर रही हैं. एनडीआरएफ की एक बटालियन अराकोणम और एक विजयवाड़ा में राहत और बचाव कार्य में लगी हैं.पुडुचेरी में बंद रहेंगी सभी दुकानें और संस्थानः पुडुचेरी के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने पूरे राज्य में धारा 144 लगाने का ऐलान किया है. रात के 9 बजे से सुबह के 6 बजे तक धारा 144 लागू रहेगी. साथ ही सभी तरह की दुकानें और संस्थान बंद रहेंगे. केवल दूध की दुकानें, पेट्रोल पंप और फॉर्मेसी की दुकानें खुली रहेंगी.अलर्ट जारी: चक्रवाती तूफान को देखते हुए पुडुचेरी में धारा 144 लगाई गई है. जबकि तमिलनाडु में भी रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया है. तूफान का सबसे ज्यादा नुकसान चेन्नई और उसके आस-पास के इलाके में हो सकता है.PM मोदी ने की बात: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से बात कर चक्रवात ‘निवार’ से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की और उन्हें केंद्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया.हवा की रफ्तार- मौसम विभाग के मुताबिक इस दौरान हवा की रफ्तार 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है. ऐसे में तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है.


कहां पहुंचा ये तूफान: बंगाल की खाड़ी उठा ये तूफान लगातार आगे की तरफ बढ़ रहा है. फिलहाल पुडुचेरी से ये तूफान 410 किलोमीटर दक्षिण में है. जबकि चेन्नई से दक्षिण पूर्व में 450 किलोमीटर दूर है. तूफान उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ते हुए तमिलनाडु के तटों की ओर जाएगा

बारिश का दौर: चेन्नई में कल यानी सोमवार शाम से ही बारिश हो रही है. अब तक वहां 71 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. तमिलनाडु, केरल, तेलंगाना और ओडिशा के कई इलाकों में भी हल्की बारिश हो रही है.

NDRF तैनात: राष्ट्रीय आपदा राहत बल की 6 टीमों को तमिलनाडु में राहत और बचाव कार्यों के लिए पहले से तैनात कर दिया गया है.

केंद्र की नजर: कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने सोमवार को बैठक की. तूफान के मद्देनजर उपायों पर विचार करने के साथ ही संबंधित राज्य सरकारों समेत अनेक पक्षों को प्रभावित क्षेत्रों में किसी की जान नहीं जाने देने और सामान्य स्थिति जल्द बहाल करने का निर्देश दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज