अपना शहर चुनें

States

Cyclone Nivar: चक्रवात निवार के चलते हुई भारी बारिश, चेन्नई के कई इलाकों में भरा पानी

AP Photo
AP Photo

Cyclone Nivar Updates: भारतीय मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, Cyclone Nivar का केंद्र 25 नंवबर रात 11:30 बजे से 26 नवंबर की सुबह 2.30 बजे के दौरान पुडुचेरी के पास तट को पार कर गया. चक्रवाती तूफान निवार आज अगले 3 घंटों में और कमजोर पड़ेगा और उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 9:01 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) आधी रात बाद तमिलनाडु और पुदुचेरी में समुद्र तट से टकराया है. इस दौरान तेज बारिश हुई. तेज हवाओं के साथ चेन्नई, कुड्डलोर, महाबलीपुरम समेत कई शहरों में बारिश हो रही है. पुदुचेरी में भी तेज हवाओं के साथ जोरदार बारिश हो रही है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने गुरुवार को कहा कि भयंकर चक्रवाती तूफान 'निवार (Nivar) उत्तर पश्चिमी की ओर बढ़ेगा और अगले 3 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान कमजोर होगा.

वहीं चेन्नई हवाई अड्डे ने जानकारी दी कि हवाई अड्डा सुबह 9 बजे तक बंद रहेगा. वहीं बारिश के चलते चेन्नई के कई इलाकों में पानी भर गया है.

आईएमडी ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान निवार अभी पुडुचेरी के पूर्व- दक्षिणपूर्व में लगभग 40 किमी दूर स्थित कुड्डालोर से 50 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व में है. चक्रवाती तूफान के पहुंचने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. अगले 3 घंटों में पुडुचेरी के पास वाले तट को पार कर जाएगा.’



IMD ने कहा कि Cyclone Nivar का केंद्र 25 नंवबर रात 11:30 बजे से 26 नवंबर की सुबह 2.30  बजे के दौरान पुडुचेरी के पास तट को पार कर गया. पुडुचेरी से उत्तर पूर्व सेक्टर में हवाएं चलीं. विभाग में कहा था कि  अगले 3 घंटे के दौरान हवा की रफ्तार धीरे-धीरे घटकर 65-75 किमी प्रति घंटे हो जाएगी.



कई हिस्सों में बुधवार को मूसलाधार बारिश हुई
इससे पहले दोनों प्रदेशों के कई हिस्सों में बुधवार को मूसलाधार बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं, जिसके मद्देनजर एक लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है.

मौसम विभाग ने कहा है कि दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में बने निवार चक्रवात ने पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ते हुए अति विकराल रूप धारण कर लिया है और चेन्नई से 160 किलोमीटर तथा पुडुच्चेरी से 85 किलोमीटर दूर तट से टकराने वाला है.

विभाग ने कहा था कि तूफान के 25 नवंबर की मध्यरात्रि और 26 नवंबर तड़के के बीच की अवधि में तमिलनाडु और पुडुचेरी के बीच कराईकल और मामल्लापुरम तट से टकराने की आशंका है. तूफान की गति 120-130 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी जो बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है.

रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलजमाव हो गया
चक्रवात के प्रभाव से चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलजमाव हो गया. इस बीच लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने कहा कि चेम्बरमबक्कम झील से एक हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा क्योंकि इसमें पानी अधिकतम स्तर पर पहुंचने वाला है.

इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों की सुरक्षा के लिये बृहस्पतिवार को चेन्नई, वेल्लोर, कुड्डालोर, विल्लुपुरम, नागापट्टिनम, तिरुवरूर, चेंगलपेट, कांचीपुरम समेत 13 जिलों में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है. बुधवार को पहले ही अवकाश घोषित किया जा चुका था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज