Cyclone Tauktae: कर्नाटक के 121 गांवों पर टूटा चक्रवाती तूफान टाउते का कहर, छह की मौत

अरब सागर से उठे साइक्लोन टाउते को मौसम विज्ञानियों ने बहुत ही खतरनाक चक्रवात करार दिया है. फाइल फोटो

अरब सागर से उठे साइक्लोन टाउते को मौसम विज्ञानियों ने बहुत ही खतरनाक चक्रवात करार दिया है. फाइल फोटो

Cyclone Tauktae: 547 लोगों को अब तक उनके संबंधित स्थानों से निकाला गया है और चक्रवात से लोगों को बचाने के लिए खोले गए 13 राहत शिविरों में 290 लोग शरण लिए हुए हैं.

  • Share this:

बेंगलुरु. कर्नाटक में चक्रवात टाउते की वजह से प्रभावित तटीय और मलनाड जिले में अब तक छह लोगों की मौत हो गई. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. कर्नाटक राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों की ओर से स्थिति को लेकर जारी रिपोर्ट में बताया गया कि सोमवार सुबह तक 121 गांव और तालुका चक्रवात से प्रभावित हैं.


बयान में बताया गया कि 547 लोगों को अब तक उनके संबंधित स्थानों से निकाला गया है और चक्रवात से लोगों को बचाने के लिए यहां खोले गए 13 राहत शिविरों में 290 लोग शरण लिए हुए हैं. बयान में बताया गया कि अब तक 333 घरों, 644 खंभों, 147 ट्रांसफर्मरों, 57 किलोमीटर सड़कों, 57 जालों और 104 नावों को क्षति पहुँची है.


Cyclone Tauktae: केरल में उफनते समुद्र के बीच फंसे थे 12 मछुआरे, कोस्ट गार्ड ने इस तरह बचाई जान


मौसम विभाग ने दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़, बेलगावी, हावरी, धारवाड़, चामराजनगर, मैसुरु, कोडागु, चिकमंगलुरु और शिवमोगा जिले में गरज के साथ बारिश, मध्यम बारिश और 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चलने की आशंका जाहिर की है. अधिकारियों ने रविवार को बताया था कि चक्रवात आगे उत्तर यानी महाराष्ट्र के तटीय इलाकों की तरफ़ बढ़ रहा है और सोमवार तक राज्य के ऊपर इसकी पकड़ कमजोर हो जाएगी.


टाउते चक्रवात: मुंबई से लेकर गुजरात तक खौफनाक मंजर दिखाते वीडियोज हुए वायरल


अग्निशमन बल, पुलिस, तटीय पुलिस, होम गार्ड और राज्य आपदा मोचन बल के करीब 1,000 प्रशिक्षित कर्मी तीन तटीय और पड़ोसी जिलों में राहत और बचाव कार्यों के लिए तैनात किए गए हैं. वहीं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के दलों को भी कार्यों में लगाया गया है.





इसी बीच अधिकारियों ने बताया कि भारतीय नौसना और भारतीय तटरक्षक ने एक संयुक्त अभियान चलाकर यहां मुल्की तट के पास चट्टानों के बीच फंसी एक नौका के चालक दल के सभी नौ सदस्यों को सोमवार को सुरक्षित बाहर निकाल लिया. भारतीय तटरक्षक के उप महानिरीक्षक एस बी वेंकटेश ने बताया कि नौका ‘कोरोमंडल’ के चालक दल के सभी नौ सदस्यों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया और इसके साथ ही यह मिशन पूरा हो गया. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने ट्वीट करके भारतीय तटरक्षक और इस बचाव अभियान में शामिल अन्य एजेंसियों का शुक्रिया अदा किया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज