Cyclone Tauktae: पल भर में समुद्र में डूब गई थी टगबोट वरप्रदा, सामने आया पहला VIDEO

समुद्र तट से 35 किमी दूर टगबोट वरप्रदा का मलबा मिला है.

समुद्र तट से 35 किमी दूर टगबोट वरप्रदा का मलबा मिला है.

इंटरनेट पर वायरल हो रहे इस वीडियो में एक शख्स दिखाई दे रहा है, जिसका नाम सूरज चौहान है. 22 साल का सूरज डेक कैडेट है. परिवार के मुताबिक सूरज ने हादसे का वीडियो बना कर अपने दोस्तों को भेजा था. उसके बाद से सूरज का मोबाइल बंद आ रहा है. बताया जा रहा है कि उसके कुछ ही समय बाद टगबोट पूरी तरह से समुद्र में डूब गई.

  • Share this:

मुंबई. चक्रवाती तूफान टाउते (Cyclone Tauktae) के कारण 17 मई को मुंबई में टगबोट वरप्रदा (Tugboat Varaprada) हादसे का शिकार हो गई थी. समुद्र तट से 35 किमी दूर टगबोट वरप्रदा का मलबा मिला है. इस पर 13 लोग सवार थे. इनमें दो लोगों को बचाया जा चुका है, जबकि 11 के शव मिले हैं. अब इस टगबोट वरप्रदा का समुद्र में डूबने से कुछ देर पहले का वीडियो सामने आया है.

इंटरनेट पर वायरल हो रहे इस वीडियो में एक शख्स दिखाई दे रहा है, जिसका नाम सूरज चौहान है. 22 साल का सूरज डेक कैडेट है, उसकी तलाश और पहचान के लिए सूरज के पिता संतलाल चौहान मुंबई आए हैं. सोमवार को DNA टेस्‍ट के लिए पिता के खून का सैंपल लिया गया. उसके पिता का कहना है कि सूरज समुद्र में ऑयल टैंकर पर था, लेकिन वो वरप्रदा पर कैसे पहुंचा इसकी उन्हें जानकारी नहीं है.

परिवार के मुताबिक सूरज ने हादसे का वीडियो बना कर अपने दोस्तों को भेजा था. उसके बाद से सूरज का मोबाइल बंद आ रहा है. बताया जा रहा है कि उसके कुछ ही समय बाद टगबोट पूरी तरह से समुद्र में डूब गई. सूरज के पिता संतलाल चौहान ने बताया, 'मेरा डीएनए लिया गया है. पुलिस ने कहा है कि 24 घंटे में रिपोर्ट आएगी. इसके बाद ही कुछ पता चल पाएगा.'

Youtube Video

इससे पहले टगबोट हादसे में बच गए चीफ इंजीनियर फ्रांसिस के. सिमोन ने बताया कि ये शिप बेहद खराब हालत में था और नौकायन के लिए उपयुक्त नहीं था. फिर भी इसे चक्रवात के दौरान बीच समुद्र में उतारा गया.

Cyclone Tauktae: खस्ता हालत में था टगबोट वरप्रदा, कैप्टन के कारण समुद्र में डूबना तय था-चीफ इंजीनियर

फ्रांसिस के सिमोन उन दो लोगों में शामिल हैं, जो इस हादसे में बच गए हैं. उन्होंने दावा किया कि शिप खस्ताहाल था. इसके बावजूद कैप्टन और कंपनी ने जोखिम लिया और चक्रवात ताउते को कम करके आंका, जिसका नतीजा सबके सामने है. शिप में सवार 11 लोगों की जान जा चुकी है. बता दें कि चक्रवात ताउते के दौरान बार्ज पी-305 के डूब जाने की घटना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 75 हो गई है. इस पर कुल 261 लोग मौजूद थे, जिसमें से 186 लोगों को बचाया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज