Cyclone Tauktae: गोवा, महाराष्ट्र और गुजरात में तबाही के बाद धीमी पड़ी रफ्तार, नौसेना ने संभाला मोर्चा

नौसेना की टीमें रेस्क्यू एंड सर्च ऑपरेशन में जुटीं.

नौसेना की टीमें रेस्क्यू एंड सर्च ऑपरेशन में जुटीं.

कोरोना महामारी से जूझ रहे भारत की परेशानी और बढ़ाने के लिए अरब सागर से चक्रवाती तूफान टाउते भी आ गया था. तूफान ने महाराष्ट्र, गोवा और गुजरात में खूब तांडव किया और अब उसकी रफ्तार धीमी हो गई है. तबाही के बाद के मंजर को संभालने के लिए नौसेना की टीमें समंदर में उतर पड़ी हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. अरब सागर से उठे प्रचंड चक्रवाती तूफान टाउते की ताकत अब कमजोर पड़ रही है. भारत में केरल से शुरू हुआ टाउते का कहर कर्नाटक, गोवा होते हुए महाराष्ट्र से होते हुए गुजरात पहुंचा. गुजरात में भयंकर तबाही मचाने के लिए चक्रवाती तूफान टाउते की रफ्तार थोड़ी कम हुई है. इस बीच चक्रवाती तूफान जहां से भी गुजरा, तबाही के निशान छोड़ गया. तूफान के दौरान तेज रफ्तार से चलीं हवाएं और समंदर की ऊंची-ऊंची लहरों ने कोस्टल इलाकों में भयानक दृश्य उत्पन्न कर दिया. इनके आस-पास के शहरों में हुई बारिश ने भी कहर बरपाया. तूफान के चलते महाराष्ट्र में 6 लोगों की और गुजरात में भी 4 लोगों की मौत हो गई. मकानों को नुकसान पहुंचा और बड़े-बड़े पेड़ भी उखड़ गए. जिन जगहों से होकर टाउते गुजरा, वहां मौसम अब भी सामान्य नहीं है. लगातार तेज बारिश और हवाएं चल रही हैं. गोवा में पावर सप्लाई बाधित हुई, जबकि राजस्थान में तूफान का कोई सीधा असर दिखाई नहीं दिया है. सिर्फ यहां तेज़ बारिश जारी है.

नौसेना ने तबाही के बाद संभाला मोर्चा

भारतीय नौसेना ने अरब सागर में आए चक्रवातीय तूफान ‘टाउते’ के कारण समु्द्र में अनियंत्रित होकर बहे एक बार्ज पर सवार 177 लोगों को बचा लिया है और बाकियों की तलाश अभी जारी है. बॉम्बे हाई तेल क्षेत्र में तैनात बार्ज ‘पी305’सोमवार को लंगर से खिसक गया था. उसके समुद्र में अनियंत्रित होकर बहने की जानकारी मिलने के बाद बचाव कार्य के लिए नौसेना के पोत तैनात किए गए थे. बार्ज में 273 लोग सवार थे.

तूफान ‘टाउते’ को लेकर नौसेना के उप प्रमुख एमएस पवार ने कहा कि यह पिछले 4 दशकों में देखे गए सबसे चुनौतीपूर्ण सर्च एंड रेस्‍क्‍यू ऑपरेशंस में से एक है. 4 आईएनएस साइट पर हैं. मुख्य कार्रवाई एफकॉन्स बार्ज पी305 से 261 लोगों को खोजने और बचाने से संबंधित है. ये मुंबई से 60 किलोमीटर दूर जा चुका है. उन्होंने बताया कि समुद्र जितना अच्छा दोस्त है, उतना ही बुरा दुश्मन भी. ऐसे में बेहद सतर्क रहने की जरूरत होगती है और हमारे वॉरशिप्स इसके लिए काफी प्रशिक्षित होते हैं.
गोवा में बिजली गई 

टूरिस्ट स्पॉट गोवा में तूफान टाउते के चलते बिजली ही चली गई है. तूफान के दौरान लाइटहाउस में बिजली चली जाने के बाद चेतक हेलीकॉप्टर के जरिये लाइट हाउस अथॉरिटी के दो कर्मचारियों को रेस्क्यू किया गया है. ये वेंगरुला लाइट हाउस में थे. तेज हवा के साथ हुई बारिश ने गोवा में केबल, खंभे और पेड़ तक उखाड़ दिए, जिसके बाद गोवा के ज्यादातर हिस्से अंधेरे में डूब गए थे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिन रात मरम्मत का काम चल रहा है. 80 फीसदी जगहों पर सप्लाई आ चुकी है, जबकि 20 फीसदी जगहों पर कल तक बहाल हो जाएगी.

गुजरात में टाउते का तांडव



गुजरात के भावनगर, सूरत, जामनगर और अमरेली में तूफान ने जमकर तबाही मचाई है. कई जगह पेड़ गिर गए और अब उन्हें हटाने का काम चल रहा है. एनडीआरएफ की 44 टीमें गुजरात में इस वक्त तैनात हैं. बताया जा रहा है कि कोस्टल लाइन पर एक मछली पकड़ने की नाव डूब गई है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि चक्रवात ‘टाउते’ सोमवार की मध्यरात्रि में सौराष्ट्र क्षेत्र के दीव और ऊना के बीच गुजरात तट से टकराने के बाद कमजोर पड़ गया है.

गृहमंत्री ने ली तूफान से तबाही की जानकारी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवात ‘‘टाउते’’ के मद्देनजर महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से बात कर तीनों राज्यों में वस्तु स्थिति का जायजा लिया. आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, शाह ने फोन पर इन मुख्यमंत्रियों से बात की और चक्रवात टाउते से उत्पन्न स्थिति व मौजूदा चुनौतियों के मद्देनजर उन्हें सभी प्रकार की केंद्रीय मदद का आश्वासन दिया. केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, शाह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, गुजरात के उनके समकक्ष विजय रूपाणी और राजस्थान के अशोक गहलोत से बात की.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज