लाइव टीवी

Gujarat Weather, Cyclone Vayu: गुजरात में चक्रवात 'वायु' का खतरा, पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर जाने का आदेश

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 11:30 AM IST

Gujarat Weather, Cyclone Vayu: गुजरात मौसम - 'वायु' चक्रवात को देखते हुए गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें पूरे प्रशासन को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 12, 2019, 11:30 AM IST
  • Share this:
गुजरात में 13 जून को आने वाले वायु तूफान के मद्देनज़र सरकार ने सभी लोगों को हाई अलर्ट जारी कर दिया है. कई जिलों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं. वहीं द्वारका, सोमनाथ, सासन, कच्छ आये पर्यटकों को आज दोपहर 12 बजे तक सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने का आदेश दिया गया है. इधर, दमन और द्वीप में गृह मंत्रालय की ओर से तूफान का हाई अलर्ट है. महाराष्ट्र के कुछ हिस्से भी 'वायु' साइक्लोन से प्रभावित हो सकते हैं. महाराष्ट्र सरकार की ओर से भी लोगों को समुद्र किनारे न जाने की सलाह दी गई है.

मौसम विभाग का अनुमान है कि अरब सागर में दबाव की स्थिति अगले कुछ घंटों में चक्रवाती की शक्ल ले सकती है जिसके चलते मौसम विभाग ने 55 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे से तेज हवाओं के साथ भारी से भारी बारिश होने की चेतावनी दी है.

मौसम विभाग का अनुमान है कि यह चक्रवाती तूफान 13 जून की सुबह पोरबंदर एवं महुआ से होता हुआ वेरावल और दीव के बीच समुद्र पट को पार करेगा. इसको देखते हुए सभी बंदरगाहों पर वॉर्निंग जारी किया गया है. मछुआरों को समुद्र में न जाने का आदेश दिया गया है. प्रशासन को भी अलर्ट पर रखा गया है. सेना और एनडीआरएफ की तैनाती की गई है.

वायु चक्रवात को देखते हुए गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें पूरे प्रशासन को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है. वहीं पूरे राज्य में 13 से 15 जून तक 3 दिवसीय शाला प्रवेशोत्सव (स्कूल उत्सव का स्वागत) रद्द कर दिया गया है. चक्रवात को देखते हुए अहमदाबाद, गांधीनगर, राजकोट, भुज, सूरत, भावनगर, अमरेली, सोमनाथ, वेरावल, जामनगर, पोरबंदर और कच्छ जिलों के स्‍कूलों और कॉलेजों में 13 और 14 जून को छुट्टी का ऐलान किया गया है.


Loading...



मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार, सुदूर समुद्र में हवा के कम दबाव का क्षेत्र तेजी से बनने के कारण ‘वायु’ के 13 जून को गुजरात के तटवर्ती पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र में पहुंचने की संभावना है.



110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

मौसम विभाग ने इसके मद्देनजर सौराष्ट्र और कच्छ के तटीय इलाकों में 13 और 14 जून को भारी बारिश होने तथा 110 किमी प्रति घंटे की गति से तूफानी हवाएं चलने की चेतावनी जारी की है. स्थिति की गंभीरता के मद्देनजर गुजरात सरकार ने भी ‘हाई अलर्ट’ जारी करते हुए सौराष्ट्र और कच्छ इलाकों में मंगलवार को सुबह तूफान की आशंका वाले तटीय इलाकों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों को तैनात किया है.

गृह मंत्री ने की हाई लेवल मीटिंग

इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने चक्रवात से निपटने की तैयारियों की समीक्षा के लिये संबद्ध विभागों के साथ हाई लेवल मीटिंग की. विभाग ने अगले 12 घंटों में चक्रवात के और अधिक गंभीर रूप धारण करने की आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तर की ओर बढ़ता ‘वायु’ 13 जून को सुबह गुजरात के तटीय इलाकों में पोरबंदर से महुवा, वेरावल और दीव क्षेत्र को प्रभावित करेगा. इसकी गति 115 से 130 किमी प्रति घंटा तक हो सकती है. इसके बाद तूफानी हवाओं की गति कम होनी शुरु हो जायेगी

तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है. साथ ही बंदरगाहों को खतरे के संकेत और सूचना जारी करने को कहा गया है.

35000 लोगों को किया गया शिफ्ट

वहीं गुजरात के पोरबंदर जिले के 74 गांव के 35000 हजार लोगों को गांव से बाहर सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है. वहीं जिले के की सभी स्कूल -कॉलेज में तीन दिन तक छुट्टी रहेगी. पोरबंदर मे NDRF की 3 टीम तैनात की जाएंगी. बुलेटिन के अनुसार चक्रवात के दौरान कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गीर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिलों के तटीय क्षेत्र में एक से डेढ़ मीटर ऊंची समुद्री लहरें उठने की आशंका है.

चीन ने चक्रवात वायु में फंसे जहाजों के लिए भारत से मांगी मदद

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 12, 2019, 5:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...