Cyclone Vayu: गुजरात में 'वायु' की वजह से 98 ट्रेनें कैंसिल, एयरपोर्ट बंद

'वायु' के कारण पश्चिम रेलवे ने गुजरात की 70 ट्रेनों को पूरी तरह कैंसिल कर दिया है. जबकि, 28 ट्रेनें आंशिक रूप से रद्द की गई हैं. सभी रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि राहतकार्यों के लिए कर्मचारियों के साथ-साथ मशीनों, जैसे जेसीबी, पेड़ काटने के उपकरण और पानी के टैंक तैयार रखें.

News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 10:05 AM IST
Cyclone Vayu: गुजरात में 'वायु' की वजह से 98 ट्रेनें कैंसिल, एयरपोर्ट बंद
चक्रवात 'वायु' के खतरे को देखते हुए एजेंसियां अलर्ट पर हैं.
News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 10:05 AM IST
चक्रवाती तूफान ‘वायु’ (Cyclone Vayu) गुरुवार को गुजरात के तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक, गुजरात की ओर बढ़ रहे चक्रवाती तूफान वायु ने भले ही अपनी दिशा बदल दी है, लेकिन अभी हवा की रफ्तार 155 से 156 किलोमीटर प्रतिघंटा के बीच है. समंदर में ऊंची लहरें भी उठ रही हैं. ऐसे में प्रशासन ने एनडीआरएफ, रेस्क्यू टीम और रेलवे को अलर्ट पर रखा है. सेना को भी तैयार रखा गया है.

(चक्रवात 'वायु' से जुड़े हर अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें)



'वायु' के कारण पश्चिम रेलवे ने गुजरात की 70 ट्रेनों को पूरी तरह कैंसिल कर दिया है. जबकि, 28 ट्रेनें आंशिक रूप से रद्द की गई हैं. सभी रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि राहतकार्यों के लिए कर्मचारियों के साथ-साथ मशीनों, जैसे जेसीबी, पेड़ काटने के उपकरण और पानी के टैंक तैयार रखें.



चक्रवात 'वायु' के खतरे को देखते हुए एजेंसियां अलर्ट पर हैं. हालांकि, गुरुवार सुबह राहत की खबर ये आई कि वायु का असर पूरे राज्य पर नहीं, बल्कि तटीय इलाकों पर ही देखने को मिल सकता है. समुद्री तट पर बसे मछुआरों को किनारे से हटने को कहा गया है, यहां तक कि उनके गांवों में भी पानी भर गया है. किसी भी अनहोनी का सामना करने के लिए NDRF की 52, SDRF की 9, SRP की 14 कंपनियां तैनात हैं. केंद्र सरकार भी राज्य सरकार के साथ मिलकर काम कर रही है.



सभी उड़ानें रद्द
Loading...

वायु को देखते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने गुजरात जाने वाली सभी उड़ानें रद्द कर दी हैं. पोरबंदर, दीव, भावनगर, केशोद और कांडला में बुधवार आधी रात से गुरुवार आधी रात तक विमानों की आवाजाही सस्पेंड रहेंगी.



स्कूल, कॉलेज बंद
वायु चक्रवात को देखते हुए गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें पूरे प्रशासन को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है. वहीं पूरे राज्य में 13 से 15 जून तक 3 दिवसीय शाला प्रवेशोत्सव (स्कूल उत्सव का स्वागत) रद्द कर दिया गया है. चक्रवात को देखते हुए अहमदाबाद, गांधीनगर, राजकोट, भुज, सूरत, भावनगर, अमरेली, सोमनाथ, वेरावल, जामनगर, पोरबंदर और कच्छ जिलों के स्‍कूलों और कॉलेजों में 13 और 14 जून को छुट्टी का ऐलान किया गया है.

गृहमंत्री अमित शाह बोले- चक्रवात 'वायु' से लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं
वायु की वजह से 35000 लोगों को किया गया शिफ्ट
गुजरात के पोरबंदर जिले के 74 गांव के 35000 हजार लोगों को गांव से बाहर सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है. वहीं जिले की सभी स्कूल -कॉलेज में तीन दिन तक छुट्टी रहेगी. पोरबंदर मे NDRF की 3 टीमें तैनात की गई है. चक्रवात के दौरान कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गीर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिलों के तटीय क्षेत्र में एक से डेढ़ मीटर ऊंची समुद्री लहरें उठने की आशंका है.

प्रधानमंत्री और गृहमंत्री रख रहे हैं नजर
प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह वायु को लेकर बनी स्थिति पर करीबी से निगाह बनाए हुए हैं. पीएम मोदी ने बुधवार को ट्वीट करके कहा कि वे लगातार राज्य सरकार के संपर्क में हूं. एनडीआरएफ और अन्य एजेंसियां ​​हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही हैं. वहीं अमित शाह ने कहा कि गृह मंत्रालय लगातार राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के संपर्क में है.



हेलीकॉप्टर से हो रही निगरानी
गुजरात में एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात किया गया है. हर टीम में करीब 45 कर्मी हैं. बचाव दल नावों, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस हैं. हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर हवाई निगरानी कर रहे हैं. गृह मंत्री ने अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए हर संभव उपाय सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...