Cyclone Yaas: क्या PM मोदी की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता? शुवेंदु अधिकारी हैं वजह

ममता बनर्जी

Cyclone Yaas: शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने भी चक्रवात प्रभावीत इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय के साथ मुख्यमंत्री ने हिंगलगंज, हसनाबाद, संदेशखली, पिनाखा और जिले के अन्य इलाकों में चक्रवात के बाद की स्थिति का जायजा लिया. ब

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यास तूफान (Cyclone Yaas) वाले सबसे ज्यादा प्रभावित दो राज्य ओडिशा और पश्चिम बंगाल का हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने गुरुवार को कहा था कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के दौरे पर आएंगे तब वह चक्रवाती तूफान ‘यास’ से हुई तबाही की समीक्षा करने के लिए उनके साथ बैठक करेंगी. लेकिन, अब खबरें आ रही हैं कि ममता इस बैठक में सामिल नहीं होंगी. इसकी सबसे बड़ी वजह है मीटिंग में शुवेंदु अधिकारी (Suvendhu Adhikari) को बुलाया जाना. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अधिकारी को बुलाए जाने से ममता नाराज हो गई हैं. ये बैठक पश्चिमी मिदनापुर जिले के कलाईकुंडा में शुक्रवार शाम तक होनी है.

    इससे पहले पीएम मोदी ओडिशा पहुंचे. यहां उन्होंने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ यास तूफान पर समीक्षा बैठक की. इस बैठक में राज्यों के आला अफसर भी मौजूद थे. अब पीएम मोदी चक्रवात प्रभावित पूर्वी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिले के इलाके का हवाई सर्वेक्षण करने वाले हैं. बता दें कि बंगाल में राज्यपाल जगदीप धनखड़ कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पर उनकी आगवानी करने पहुंचेंगे. अगर ममता पीएम मोदी से मुलाकात करतीं तो ये सीएम बनने के बाद मोदी से उनकी पहली मुलाकात होती.

    इस बीच शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी चक्रवात प्रभावीत इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय के साथ मुख्यमंत्री ने हिंगलगंज, हसनाबाद, संदेशखली, पिनाखा और जिले के अन्य इलाकों में चक्रवात के बाद की स्थिति का जायजा लिया. बनर्जी ने कहा, ‘मैंने देखा है कि अधिकतर क्षेत्र जलमग्न हैं. मकान और खेतों के बड़े भू-भाग जलमग्न हैं. इस संबंध में फील्ड सर्वेक्षण भी किया जायेगा.’उन्होंने जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों और खंड विकास पदाधिकारियों के साथ प्रशासनिक बैठक भी की.

    पूर्वी मेदिनीपुर, दक्षिण एवं उत्तर 24 परगना जिलों में कई इलाके चक्रवात ‘यास’ से प्रभावित हैं। चक्रवात ‘यास’ बुधवार सुबह पड़ोसी ओडिशा के तट से टकराया था. इसके चलते इन जिलों में कई जगहों पर भारी बारिश हुई और तेज चक्रवाती तूफान आये. बनर्जी बाद में दक्षिण 24 परगना जिले के चक्रवात प्रभावित इलाकों और पूर्वी मेदिनीपुर में नतटीय शहर दीघा का भी दौरा करेंगी.