Cyclone Yaas: पूर्णिमा के चलते ज्यादा घातक हो सकता है चक्रवात यास, 1-2 मीटर ऊपर उठेंगी समुद्र की लहरें- IMD

IMD  Update on Cyclone Yaas: मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवाती तूफान यास बुधवार दोपहर ओडिशा के बालेश्वर के समीप पहुंचने की संभावना है. इसमें 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी.

IMD Update on Cyclone Yaas: मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवाती तूफान यास बुधवार दोपहर ओडिशा के बालेश्वर के समीप पहुंचने की संभावना है. इसमें 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी.

IMD Update on Cyclone Yaas: मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवाती तूफान यास बुधवार दोपहर ओडिशा के बालेश्वर के समीप पहुंचने की संभावना है. इसमें 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी.

  • Share this:

भुवनेश्वर/कोलकाता. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि जब चक्रवात यास (Cyclone Yaas) बुधवार को ओडिशा और बंगाल के तट से टकराएगा तो इस दौरान पूर्णिमा होगी और इससे नुकसान और अधिकतम हो सकता है. आईएमडी कोलकाता के उपनिदेशक संजीव बनर्जी ने कहा, 'पूर्वी मिदनापुर और दक्षिण 24 परगना के तटीय जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान हो सकता है.'

विशेषज्ञों ने कहा कि स्प्रिंग टाइड के दौरान समुद्र में जल स्तर कम से कम एक मीटर ऊंचा हो जाता है. जब चंद्रमा पृथ्वी के सबसे करीब होता है. पेरिजियन स्प्रिंग टाइड के दौरान यह स्तर बहुत अधिक होता है. बनर्जी ने कहा, 'पूर्वी मिदनापुर जिले में चक्रवात से उत्पन्न तूफान की वृद्धि 2-4 मीटर होगी, जबकि दक्षिण 24 परगना में यह 1-2 मीटर होगी. यह खगोलीय ज्वार (स्प्रिंग टाइड) के ऊपर है.'

बंगाल और ओडिशा के लिए रेड कोडेड चेतावनी

इससे पहले भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक एम. महापात्र ने कहा कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल के लिए ‘रेड कोडेड’ चेतावनी जारी की गई है. महापात्र ने कहा, ‘उत्तर पश्चिम और बंगाल की खाड़ी में गंभीर चक्रवाती तूफान यास भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है.’ यह उत्तर- उत्तर पश्चिम की तरफ मुड़ सकता है तथा इसकी तीव्रता और अधिक हो सकती है. यह बुधवार की सुबह तक उत्तर ओडिशा में धमरा बंदरगाह के पास दस्तक दे सकता है.
मौसम विभाग का कहना है कि चक्रवात के दौरान हवा की गति 155 से 165 किलोमीटर प्रतिघंटा रहने और इसके बढ़कर 185 किलोमीटर प्रतिघंटा तक पहुंचने की संभावना है. चक्रवात के खतरे के बीच भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने कहा कि कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर बुधवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 7:45 तक उड़ानों का संचालन निरस्त रहेगा.


इसी तरह, भुवनेश्वर का बीजू पटनायक हवाईअड्डा मंगलवार रात 11 बजे से गुरुवार सुबह पांच बजे तक बंद रहेगा. दक्षिण पूर्व रेलवे ने भी कई ट्रेनों को रद्द करने की घोषणा की है. चक्रवात के मद्देनजर पड़ोसी राज्य झारखंड ने भी अलर्ट जारी किया है और चक्रवात के प्रभाव के मद्देनजर तैयारी की जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज