Cyclone Yaas: संभावित चक्रवात को लेकर ओडिशा ने 12 जिलों को किया सतर्क

Cyclone Yaas के आसार (AP Photo/Rafiq Maqbool)

Cyclone Yaas:ओडिशा सरकार (Odisha) ने राज्य के तट पर चक्रवाती तूफान आने की आशंका के मद्देनजर 12 जिलों के प्राधिकारियों को सतर्क कर दिया है.

  • Share this:
    भुवनेश्वर. ओडिशा सरकार (Odisha) ने 26 मई को राज्य के तट पर चक्रवाती तूफान आने की आशंका के मद्देनजर 12 जिलों के प्राधिकारियों को गुरुवार को सतर्क कर दिया और कहा कि वह हर प्रकार की परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है. विशेष राहत आयुक्त पी के जेना ने बताया कि ओडिशा को भारत मौसम विज्ञान (IMD) विभाग का बुलेटिन मिला, जिसमें बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने का पूर्वानुमान जताया गया है, जो चक्रवाती तूफान (Cyclone) में बदल सकता है. इस तूफान के 26 मई तक ओडिशा-पश्चिम बंगाल तट से गुजरने की संभावना है.

    जेना ने कहा कि सरकार चक्रवात से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है और प्राधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है. उधर, भारतीय तटरक्षक बल के पोत, विमान और दूरस्थ अड्डों ने ‘यास’ तूफान (Cyclone Yaas) के मद्देनजर बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में गए मछुआरों और नाविकों को तट पर लौटने या नजदीकी बंदरगाहों पर सुरक्षा आश्रय लेने संबंधी चेतावनी प्रसारित करनी शुरू कर दी है. आधिकारिक बयान के मुताबिक अगले 72 घंटे में तूफान के और मजबूत होने की संभावना है.

    भारतीय तटरक्षक बल ने बयान में कहा, ‘भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 22 मई (शनिवार) के करीब उत्तरी अंडमान सागर और निकटवर्ती पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है.’ उल्लेखनीय है कि अरब सागर में उठे ताउते तूफान के कुछ दिन बाद बंगाल की खाड़ी में ‘यास’ तूफान आने की संभावना बन रही है.

    टाउते तूफान सोमवार की रात गुजरात के गिर सोमनाथ जिले के उना कस्बे के नजदीक तट से टकराया था जिससे गुजरात के विभिन्न इलाकों में कम से कम 53 लोगों की मौत हुई है. तटरक्षक बल के मुताबिक ‘यास’ अगले 72 घंटों में चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है.

    बंगाल की खाड़ी पर बनने वाला कम दबाव का क्षेत्र चक्रवात में बदल सकता है: मौसम विभाग
    उल्लेखनीय है मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि 22 मई को बंगाल की खाड़ी के पूर्वी मध्य हिस्से पर एक कम दबाव का क्षेत्र बनेगा जो चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और 26 मई को ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है. इसके बाद अम्फान जैसे एक और तूफान की आशंका गहरा गई है. क्षेत्रीय मौसम निदेशक जीके दास ने बताया कि 25 मई से बंगाल के कई इलाकों में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है और कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना है. वर्षा की तीव्रता खासकर गंगा की पट्टी पर आहिस्ता-आहिस्ता बढ़ सकती है.

    विभाग ने समंदर के अशांत रहने की चेतावनी दी है.इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों, जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों के साथ बृहस्पतिवार को उच्च स्तरीय बैठक की और चक्रवात आने की स्थिति में तैयारियों का जायज़ा लिया. पिछले साल मई के तीसरे हफ्ते में बंगाल में अम्फान सुपर चक्रवात आया था, जिसमें 98 लोगों की मौत हो गई थी और काफी नुकसान हुआ था. (भाषा इनपुट के साथ)