Home /News /nation /

टाटा सन्स ग्रुप के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे साइरस मिस्त्री!

टाटा सन्स ग्रुप के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे साइरस मिस्त्री!

FILE PHOTO

FILE PHOTO

टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद अब सायरस मिस्‍त्री इस फैसले के खिलाफ कोर्ट जाएंगे. मिली जानकारी के मुताबिक, मिस्‍त्री बॉम्‍बे हाईकोर्ट में टाटा सन्‍स लिमिटेड के इस फैसले को चुनौती देंगे.

  • Agencies
  • Last Updated :
    टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद अब सायरस मिस्‍त्री इस फैसले के खिलाफ कोर्ट जाएंगे. मिली जानकारी के मुताबिक, मिस्‍त्री बॉम्‍बे हाईकोर्ट में टाटा सन्‍स लिमिटेड के इस फैसले को चुनौती देंगे.


    साइरस मिस्त्री को हटाने के बाद गिरे टाटा ग्रुप के शेयर


    कहा जा रहा है कि टाटा ग्रुप ने भी इस मामले के कोर्ट में जाने को लेकर अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. हालांकि टाटा ग्रुप की और से अभी किसी भी तरह का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.


    रतन टाटा ने किया खुलासा, क्यों दोबारा बने टाटा समूह के चेयरमैन


    बताया जा रहा है कि ग्रुप ने कई अधिकारी वकीलों से बातचीत कर रहे है. गौरतलब है कि टाटा ग्रुप के सबसे बड़े हिस्सेदार शापूरजी और पालोनजी ने साइरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाए जाने को अवैध बताया था और इस कानूनी चुनौती देने की बात कही थी.

    प्रदेश18 विशेष: रतन टाटा सहित वो 5 बड़े बिजनेस टायकून जिन्होंने किया जबरदस्त कमबैक!


    आपको बता दें कि बिजनेस के क्षेत्र में एक बड़े घटनाक्रम में सोमवार को साइरस मिस्त्री को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटा दिया गया है. तत्कालिक रूप से उनकी जगह पर रतन टाटा को चार महीने के लिए अंतरिम चेयरमैन नियुक्त किया गया है.

    टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाए गए साइरस मिस्त्री, रतन टाटा को फिर मिली कमान


    नए चेयरमैन की तलाश के लिए टाटा ग्रुप ने एक पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. कमेटी को इसके लिए चार महीने का समय दिया गया है. साइरस मिस्त्री ने 29 दिसंबर 2012 को रतन टाटा की जगह टाटा समूह की इस होल्डिंग कंपनी के चेयरमैन का पद संभाला था.

    उम्मीदों के मुताबिक रफ्तार नहीं दे सके मिस्त्री

    सायरस मिस्‍त्री की जब ताजपोशी हुई थी उस दौरान कंपनी का कारोबार 100 अरब डॉलर का था. बोर्ड ने कंपनी की बागडोर मिस्‍त्री के हाथ में देते हुए 2022 तक उनके लिए इस कारोबार को 500 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्‍य दिया था. इसके मुकाबले हालिया सालों में टाटा ग्रुप की रफ्तार सुस्‍त हुई है. उनके कई प्रोजेक्‍ट रफ्तार नहीं पकड़ सके.

    Tags: Bombay high court, Ratan tata

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर