लाइव टीवी
Elec-widget

राफेल RB-002 की तस्वीरें आई सामने, पलक झपकते ही दुश्मन का होगा खात्मा

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 9:58 AM IST
राफेल RB-002 की तस्वीरें आई सामने, पलक झपकते ही दुश्मन का होगा खात्मा
फ्रांसीसी कंपनी डसॉल्ट एविएशन ने टेल नंबर RB-002 के साथ दूसरे विमान की पहली हवाई तस्वीरें जारी की हैं.

सौदे के अनुसार, 36 राफेल जेट (Rafale Fighter Jet) में से चार लड़ाकू विमान मई में भारत (India) को दिए जाएंगे जबकि सभी 36 राफेल 2022 तक वायुसेना के बेड़े में शामिल हो जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 9:58 AM IST
  • Share this:
भारत (India) को राफेल फाइटर जेट RB-001 (Rafale Fighter Jet RB-001) की डिलीवरी मिलने के एक दिन बाद, जेट बनाने वाली फ्रांसीसी कंपनी दसॉ एविएशन (Dassault Aviation) ने टेल नंबर RB-002 के साथ दूसरे विमान की पहली तस्वीरें (photo) जारी की हैं. सौदे के अनुसार, 36 राफेल जेट में से चार लड़ाकू विमान मई में भारत को दिए जाएंगे जबकि सभी 36 राफेल 2022 तक वायुसेना के बेड़े में शामिल हो जाएंगे.

भारत को मिलने वाले पहले राफेल का नाम वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के नाम पर 'आरबी 001' रखा गया है. आरकेएस भदौरिया ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में अहम भूमिका निभाई है. बता दें कि साल 2016 में 59 हजार करोड़ का राफेल सौदा भारत और फ्रांस के बीच किया गया था.

India, France, rafale Fighter Jet, Dassault Aviation, photo, Air Force
36 राफेल जेट में से चार लड़ाकू विमान मई में भारत को दिए जाएंगे.


पूर्व नियोजित हमले करना होगा आसान

एडवांस एक्टिव रडार सीकर द्वारा निर्देशित, मीटीयोर सभी मौसमों में तेजी से जेट से लेकर छोटे मानव रहित हवाई वाहनों और क्रूज मिसाइलों तक विभिन्न प्रकार के लक्ष्यों का मुकाबला करने के लिए सक्षम है. स्कैल्प एक एयर-लॉन्च लॉन्ग रेंज डीप स्ट्राइक मिसाइल है, जिसे बड़े और स्थिर लक्ष्यों के खिलाफ पूर्व नियोजित हमलों से निपटने के लिए डिज़ाइन किया गया है. स्कैल्प यूके की रॉयल एयर फोर्स और फ्रांसीसी वायु सेना का हिस्सा रहा है और खाड़ी युद्ध में इसका इस्तेमाल किया गया था.

इसे भी पढ़ें :- पाकिस्तान-चीन सीमा की सुरक्षा करेगा राफेल, वायुसेना ने बनाया फुलप्रूफ प्लान

India, France, rafale Fighter Jet, Dassault Aviation, photo, Air Force
साल 2016 में 59 हजार करोड़ का राफेल सौदा भारत और फ्रांस के बीच किया गया था.

Loading...

क्या है राफेल विमान की खासियतें?
>>राफेल विमान एक मिनट में 60 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है. इसकी ईंधन क्षमता करीब 17 हजार किलोग्राम है.
>>राफेल की मारक क्षमता 3700 किलोमीटर तक है. स्काल्प की रेंज 300 किलोमीटर है.
>>राफेल विमान एक बार में 24,500 किलो तक का वजन ले जा सकता है.
>> ये विमान 60 घंटे की अतिरिक्त उड़ान भी भर सकता है.
>>राफेल लड़ाकू विमानों की गति 2,223 किलोमीटर प्रति घंटा है.
>>राफेल विमान 300 किलोमीटर की रेंज से हवा से जमीन पर हमला करने में सक्षम है.
>>राफेल विमान 14 हार्ड पॉइंट के जरिए भारी हथियार भी गिराने की क्षमता रखता है.
>>राफेल लड़ाकू विमान हर तरह के मौसम में एक साथ कई काम करने में सक्षम है. इसे मल्टीरोल फाइटर एयरक्राफ्ट के नाम से भी जाना जाता है.
>>मल्टी टास्कर होने की वजह से राफेल एक ऐसा विमान है, जिसे किसी भी तरह के मिशन पर भेजा जा सकता है. भारतीय वायुसेना को इसकी काफी वक्त से जरूरत थी.
>>यह एंटी शिप अटैक से लेकर परमाणु अटैक, क्लोज एयर सपोर्ट और लेजर डायरेक्ट लॉन्ग रेंज मिसाइल अटैक में भी अव्वल है.

इसे भी पढ़ें :- राफेल में लगी ये मिसाइलें दुश्‍मनों को कर देंगी तबाह, जानें इसकी खूबियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 8:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...