गैंगरेप पीड़ित बच्ची का आरोपः मां-बाप ने 20 लाख में किया आरोपियों से सौदा

बच्ची के माता-पिता ने केस रफा-दफा करने के लिए आरोपियों से 20 लाख में सौदा कर लिया था. इसके लिए उन्होंने एडवांस के तौर पर 5 लाख रुपये ले भी लिये थे.

Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: April 16, 2018, 5:54 PM IST
गैंगरेप पीड़ित बच्ची का आरोपः मां-बाप ने 20 लाख में किया आरोपियों से सौदा
प्रतीकात्मक फोटो
Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: April 16, 2018, 5:54 PM IST
राजधानी दिल्ली की एक 15 साल की बच्ची से गैंगरेप के बाद उसके माता-पिता ने आरोपियों से 20 लाख रुपये में सौदा कर लिया और बच्ची पर बयान बदलने का दबाव बनाने लगे. बच्ची अपना बयान बदलने को तैयार नहीं हुई तो उसके माता-पिता उसके साथ मारपीट करने लगे.

अमन विहार इलाके में रहने वाली इस बच्ची ने अपने पड़ोसी और उनकी पत्नी की मदद से अपने माता-पिता के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. बच्ची के माता-पिता ने केस रफा-दफा करने के लिए आरोपियों से 20 लाख में सौदा कर लिया था. इसके लिए उन्होंने एडवांस के तौर पर 5 लाख रुपये ले भी लिये थे.

बच्ची ने प्रेम नगर पुलिस थाने में अपने माता-पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. वह अपने माता-पिता को मिले पांच लाख रुपये लेकर थाने पहुंची और अपनी आपबीती पुलिस को बताई. पीड़ित नाबालिग के मुताबिक उसके एक साल पहले गैंगरेप हुआ था. आरोपियों में से एक सुनील शाही फिलहाल जेल से बाहर है. बच्ची ने बताया कि शाही ने बयान बदलवाने के बदले में उसके पैरेंट्स को 20 लाख रुपये देने का लालच दिया और उसके माता-पिता इसके लिए राजी हो गए. बच्ची ने बताया कि मना करने पर उसके पैरेंट्स ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी.

बच्ची ने कहा, '8 अप्रैल को शाम 5 बजे सुनील शाही अपनी कार से मेरे पास आया और बोला कि अगर मैंने अपने माता-पिता की बात नहीं मानी तो वह मुझे गायब करवा देगा और मुझसे गलत काम करवाएगा. इसके बाद 9 अप्रैल को संतोष परिहार और रमन ने घर आकर मेरे माता-पिता को 5 लाख रुपये दिए.' बच्ची ने बताया कि 10 अप्रैल को जब उसके माता-पिता कोर्ट पहुंच गए तो वह घर में रखे पांच लाख रुपये लेकर पुलिस स्टेशन पहुंच गई.

इस मामले में पुलिस ने उन रुपयों को जब्त कर लिया और जांच पड़ताल के बाद पीड़ित के माता-पिता समेत पांच आरोपियों के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने, धमकी देने, प्रलोभन देकर कोर्ट में गलत गवाही देने व नाबालिग के साथ क्रूरता करने के जुविनाइल जस्टिस एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया. पीड़ित की मां को रविवार को गिरफ्तार भी कर लिया गया है, वहीं उसका पिता फरार है. बच्ची को नारी निकेतन केंद्र में रखा गया है.

क्या है मामला
पिछले साल 30 अगस्त को बच्ची अचानक लापता हो गई थी. घरवालों ने उसकी गुमशुदगी रिपोर्ट अमन विहार थाने में दर्ज कराई थी. वह छह दिनों के बाद वापस आई थी. बच्ची ने पुलिस को बताया कि उसे दो लोगों ने एक जगह पर ले जाकर रखा था और उसके साथ दुष्कर्म किया था. तब पुलिस ने पीड़ित के बयान पर पॉक्सो एक्ट की धाराओं में किराड़ी के ही प्रोपर्टी डीलर सुनील शाही व चंद्रभूषण पांडेय के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था.
Loading...

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर