Home /News /nation /

ड्रग्स के मुद्दे पर सिद्धू ने किया हमला तो सोनिया गांधी से मिलने दिल्‍ली पहुंचे कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

ड्रग्स के मुद्दे पर सिद्धू ने किया हमला तो सोनिया गांधी से मिलने दिल्‍ली पहुंचे कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने राज्‍य में चल रहे नशे के कारोबार पर  अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं.

पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने राज्‍य में चल रहे नशे के कारोबार पर अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने ट्वीट कर पूछा है कि पंजाब पुलिस (Punjab Police) की ओर से जो SIT गठित की गई थी उनसे नशे की बिक्री और नशीली दवाओं की सप्‍लाई करने वाली बड़ी मछलियों की धरपकड़ के लिए अब तक क्‍या कार्रवाई की है.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को जब पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) का अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया गया था, तभी इस बात को लेकर चर्चा जोरों पर थी कि कांग्रेस (Congress) आलाकमान का ये फैसला भले ही फौरी राहत देने वाला हो लेकिन भविष्‍य में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और सिद्धू ज्‍यादा दिन तक साथ काम नहीं कर सकेंगे. पंजाब कांग्रेस के अंदर ऐसा ही कुछ अब देखने को मिलने लगा है. पंजाब कांग्रेस के अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने नशीली दवाओं से जुड़ी एक रिपोर्ट पर अपनी ही सरकार पर सवाल उठा दिए हैं. सिद्धू के इस कदम से पंजा‍ब कांग्रेस में हलचल तेज हो गई है और मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए आज दिल्‍ली में सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे हैं. खबर है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और सोनिया गांधी की मुलाकात 12 से 12:30 बजे के आसपास हो सकती है.

    पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर नशे के मुद्दे पर अपनी ही पार्टी की प्रदेश सरकार से सवाल उठाए हैं. सिद्धू ने ट्वीट कर पूछा है कि पंजाब पुलिस की ओर से जो SIT गठित की गई थी उसने नशे की बिक्री और नशीली दवाओं की सप्‍लाई करने वाली बड़ी मछलियों की धरपकड़ के लिए अब तक क्‍या कार्रवाई की है. नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि नशे से जुड़े मुद्दे पर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में बंद पड़ी SIT की जांच रिपोर्ट को विधानसभा के अंदर एक विशेष प्रस्ताव लाकर तुरंत सार्वजनिक किया जाए.

    सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा, माननीय उच्च न्यायालय ने पंजाब सरकार को एसटीएफ रिपोर्ट पर कानून के अनुसार आगे बढ़ने के निर्देश दिए थे. 23 मई 2018 को सरकार ने कोर्ट ओपिनियन-कम-स्टेटस रिपोर्ट के समक्ष दायर किया जो अभी भी सीलबंद लिफाफे में बंद है. ढाई साल की देरी के बाद पंजाब की जनता को और कितना इंतजार करना चाहिए? उन्होंने पूछा कि इस पूरे मामले में पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस ने क्या जांच की थी. इस बात को पूरी तरह से जनता के सामने रखा जाए. सरकार ने रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद ढाई वर्षों में क्या कार्रवाई की. सरकार को पारदर्शिता रखनी चाहिए और उसे जनता के प्रति जवाब देह होना चाहिए.

    इसे भी पढ़ें :- सिद्धू को अध्यक्ष बनाने से पहले सोनिया गांधी ने की थी सांसदों से फोन पर बात, क्या दूर होगी दरार

    नशा युवाओं के जीवन को कर रहा है प्रभावित
    उन्होंने कहा कि इस तरह के मामले पंजाब के युवाओं के जीवन को प्रभावित कर रहे हैं और इस मामले पर माननीय न्यायालय द्वारा पिछले ढाई वर्षों में कोई ठोस आदेश पारित नहीं किया गया है. सरकार को चाहिए कि वह मजीठिया के खिलाफ मामले को जल्द से जल्द निष्कर्ष तक पहुंचाने के लिए याचिका दायर करे, ताकि दोषियों को सजा दी जा सके.

    इसे भी पढ़ें :- कैसे खत्म हुआ अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू में महीनों से चला आ रहा कोल्ड वॉर? इनसाइड स्टोरी

    18 सूत्रीय एजेंडे में राज्‍य से नशा खत्‍म करना है प्राथमिकता
    क्रिकेटर से नेता बनने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट में लिखा कि 18 सूत्री एजेंडा के तहत नशीली दवाओं के व्यापार के दोषियों को दंडित करना कांग्रेस की प्राथमिकता है. मजीठिया पर क्या कार्रवाई हुई है? जबकि सरकार उसी मामले से जुड़े अनिवासी भारतीयों के प्रत्यर्पण की मांग करती है. उन्होंने कहा कि यदि इस मामले में कोई उचित कदम नहीं उठाया गया और देरी होती है तो रिपोर्ट को सार्वजनिक करने के लिए पंजाब विधानसभा में प्रस्ताव लाया जाएगा.

    Tags: Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर