पुलिसकर्मी की संदिग्‍ध मौत पर परिजनों का आरोप- जाति के आधार पर होता था भेदभाव

केरल में कार्यरत पुलिसकर्मी की अप्राकृतिक मौत के बाद यह मामला पुलिस बल के अंदर जातिगत भेदभाव का संदिग्ध केस बन गया है. मृतक के परिवारजनों ने साथ में ही काम कर रहे एक और पुलिस वाले पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 5:05 PM IST
पुलिसकर्मी की संदिग्‍ध मौत पर परिजनों का आरोप- जाति के आधार पर होता था भेदभाव
केरल में कार्यरत पुलिसकर्मी की अप्राकृतिक मौत के बाद यह मामला पुलिस बल के अंदर जातिगत भेदभाव का संदिग्ध केस बन गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 5:05 PM IST
केरल में कार्यरत पुलिसकर्मी की अप्राकृतिक मौत के बाद यह मामला पुलिस बल के अंदर जातिगत भेदभाव का संदिग्ध केस बन गया है. मृतक के परिवारजनों ने साथ में ही काम कर रहे एक और पुलिस वाले पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है. मृतक का नाम कुमार है और वह पलक्कड़ ज़िले के कलिक्काड आर्म्ड रिज़र्व कैंप में तैनात था. अगाली के रहने वाले कुमार का मृत शरीर दूसरे दिन रेलवे ट्रैक के किनारे ट्रेन से कुचला हुआ मिला था.

कुमार की पत्नी सजिनी और भाई रंगन ने आरोप लगाया है कि कुमार काम में ज्यादा दबाव का शिकार थे और उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था. कुमार आदिवासी समुदाय से सम्बन्ध रखते थे इसलिए उनके साथी कथित रूप से उन्हें इडियट कहकर बुलाया करते थे. यही कुंठा उन पर हावी हो गयी और वह आत्महत्या करने के लिए मज़बूर हो गए. परिवार के लोगों का कहना है कि काम के दबाव के अलावा उनके जीवन में किसी और तरह की कोई भी परेशानी नहीं थी. परिवार वालों का मानना है कि यह जानबूझ कर की गयी हत्या का मामला भी हो सकता है.

पत्नी ने लगाए गंभीर आरोप
कुमार की पत्नी संजिनी ने आरोप लगाया है कि उन्हें निर्वस्त्र करके प्रताड़ित भी किया गया था, 'उनका मोबाइल सीज़ होने के बाद वह तीन महीने तक परिवार के लोगों से बातचीत भी नहीं कर सके थे. मलयालम में प्रकाशित होने वाले एक दैनिक अखबार के हवाले से संजिनी का यह बयान सामने आया है.

उनके भाई रंजन के अनुसार एक बार जब वे काम से दूर छुट्टी पर थे तब कुमार ने प्रताड़ना की बात उन्हें बतायी थी. ड्यूटी ज्वाइन करने के समय वह ज़िले के पुलिस प्रमुख से मिले थे और साथियों द्वारा प्रताड़ना की बात उन्हें बताई थी.

एसपी को बताई थी परेशानी
ज़िले के एसपी जी. शिवविक्रम ने यह स्वीकार किया कि कुमार ने पुलिस के क्वार्टर्स से सम्बंधित समस्या उन्हें बतायी थी. मगर उन्होंने किसी भी तरह की जातिगत भेदभाव की सम्भावना से इंकार कर दिया.
Loading...

इस मामले में छानबीन करने के लिए पलक्कड़ के स्पेशल ब्रांच डिप्टी एसपी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया है और उन्हें यह ज़िम्मेदारी सौंपी गयी है.

ये भी पढ़ें-

गन लाइसेंस चाहिए तो लगाने होंगे 10 पौधे

महिला का शव देखते ही पड़ोसी को भी आया हार्ट अटैक, मौत
First published: July 28, 2019, 4:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...