नवजात को नर्सिंग होम में छोड़ गई मां, तो डॉक्टर और ANM ने मंदिर के पास फेंक दिया

नवजात को नर्सिंग होम में छोड़ गई मां, तो डॉक्टर और ANM ने मंदिर के पास फेंक दिया
बांदा में डीएम आवास के पास पड़ी मिली नवजात बच्ची (फ़ाइल तस्वीर)

नवजात शिशु (newborn baby) को मछिलीपटनम के एक नर्सिंग होम में छोड़ दिया गया था. डॉ. धनवंतरि श्रीनिवासाचार्य और एएनएम बेबी रानी की अगुवाई में नर्सिंग कर्मचारियों ने बच्चे को कथित रूप से श्री वेंकेटेश्वरसामी मंदिर के पास फेंक दिया था.

  • Share this:
मछलीपटनम. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के कृष्णा जिले से इंसानियत को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है, जहां एक युवती ने अपनी नवजात शिशु (newborn baby) को नर्सिंग होम में छोड़ दिया. वहीं नर्सिंग होम वालों ने इसके बाद नवजात शिशु को एक मंदिर के पास फेंक दिया, जिससे उस शिशु की मौत हो गई. पुलिन ने इस मामले में शनिवार को एक निजी डॉक्टर और एक एएनएम को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस के अनुसार इस शिशु को एक अक्टूबर को मछलीपटनम के एक नर्सिंग होम में छोड़ दिया गया था. उसी दिन डॉ. धनवंतरि श्रीनिवासाचार्य और एएनएम बेबी रानी की अगुवाई में नर्सिंग कर्मचारियों ने बच्चे को कथित रूप से श्री वेंकेटेश्वरसामी मंदिर के पास फेंक दिया था. स्थानीय लोगों से सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शिशु को जिला अस्पताल में भर्ती कराया.

2 अक्टूबर को शिशु को विजयवाड़ा के अस्पताल में लाया गया
जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने दो अक्टूबर को शिशु को विजयवाड़ा के अस्पताल ले जाने को कहा. विजयवाड़ा के सरकारी अस्पताल में शिशु को मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस के अनुसार इस नवजात शिशु को उसकी मां द्वारा छोड़े जाने के बाद डॉ. श्रीनिवासाचार्य और एएनएम बेबी रानी को उसे फेंकने की घटना में शामिल पाया गया.



वैसे जो डॉक्टर प्रसव के वक्त मौजूद था, वह फरार है. चिलाकलापुड़ी के सर्किल इंस्पेक्टर एम. वेंकेटनारायण ने बताया कि मछलीपटनम के ग्राम राजस्व अधिकारी सुधाकर की शिकायत पर डॉ. श्रीनिवासाचार्य और एएनएम को गिरफ्तार किया गया है.



महिला ने नवजात बच्ची को नाले में फेंका
बता दें कि हाल ही में ऐसा ही मामला हरियाणा के कैथल से भी सामने आया था. जहां एक महिला ने नाले में अपने नवजात बच्ची को फेंक दिया था. बच्ची को फेंकते हुए महिला की तस्वीरे कैमरे में कैद हो गई. बताया जा रहा है कि बच्ची के फेंकने के बाद कुछ कुत्ते नाले के पास पहुंचे और नाले से पॉलिथीन निकालकर जोर-जोर से भौंकने लगे.

कुत्तों के लगातार भौंकने के कारण आस-पास के लोग की नजर पॉलिथीन में लिपटी नवजात पर पड़ी, जिसके बाद उन्होंने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया.  बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने अथक प्रयास करके बच्ची की जान बचाई थी.  नवजात शिशु की तबीयत स्थिर होने के बाद उसे बाल संरक्षण अधिकारियों को सौंप दिया गया.

ये भी पढ़ें: 

नेशनल कांफ्रेंस के प्रतिनिधिमंडल को उमर और फारूक अब्दुल्ला से मिलने की अनुमति

'पाक का करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं से सेवा शुल्क वसूलना 'जज़िया' के समान'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading