Home /News /nation /

decision on j k 90 assembly seats election after discussion with political parties said cec suhsil chandra

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा बोले- राजनीतिक दलों से चर्चा के बाद J-K विधानसभा चुनाव पर होगा फैसला

पूरे जम्मू कश्मीर में पांच संसदीय क्षेत्र होंगे.(फाइल फोटो)

पूरे जम्मू कश्मीर में पांच संसदीय क्षेत्र होंगे.(फाइल फोटो)

Jammu kashmir Election, CEC Suhsil Chandra: परिसीमन आयोग की अंतिम रिपोर्ट के बाद जम्मू कश्मीर में विधानसभा सीटों की संख्या बढ़कर 90 हो गई है जो कि पहले 83 थी. इन 90 सीटों में 43 सीटें जम्मू का हिस्सा होंगी जबकि 47 सीटें कश्मीर का हिस्सा होंगी. आयोग ने जम्मू कश्मीर के लिए कुल सात सीटों को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है. परिसीमन की पूरी प्रक्रिया रिटॉयर्ट जस्टिस रंजना देसाई की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय आयोग द्वारा हुई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: केंद्र शासित राज्य घोषित किए जाने के बाद अब जम्मू कश्मीर (Jammu kashmir Election) में परिसीमन का काम भी पूरी हो गया है. गुरुवार को इस संबंध ने परिसीमन आयोग (Jammu Kashmir Delimitation Commission) ने अपनी अंतिम रिपोर्ट भी जारी कर दी है. अब राज्य में विधानसभा चुनाव का रास्ता साफ हो गया है. रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir Jammu Chunav) में कुल 90 सीटें होंगी. चुनाव का ऐलान अब कभी भी हो सकता है. इस बीच जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि अब मतदाता सूची को अपडेट किया जाएगा और विधानसभा चुनावों पर अंतिम फैसला राजनीतिक दलों से चर्चा के बाद ही लिया जाएगा.

एएनआई से बात करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि जम्मू और कश्मीर के परीसमन की पूरी पक्रिया पारदर्शी और सहभागी रही. परीसीमन का आदेश केंद्र द्वारा अधिसूचित तारीख से प्रभावी होगा. उन्होंने कि किसी भी राज्य में चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग अपनी प्रक्रिया का पालन करता है और परीसमन प्रक्रिया के बाद अब मतदाता सूची को अपडेट किया जाएगा.

परिसीमन आयोग की अंतिम रिपोर्ट के बाद जम्मू कश्मीर में विधानसभा सीटों की संख्या बढ़कर 90 हो गई है जो कि पहले 83 थी. इन 90 सीटों में 43 सीटें जम्मू का हिस्सा होंगी जबकि 47 सीटें कश्मीर का हिस्सा होंगी. आयोग ने जम्मू कश्मीर के लिए कुल सात सीटों को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है. परिसीमन की पूरी प्रक्रिया रिटॉयर्ट जस्टिस रंजना देसाई की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय आयोग द्वारा हुई है.

बता दें कि परिसीमन आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कश्मीरी पंडितो के लिए दो विधानसभा सीटों को आरक्षित करने का भी प्रस्ताव दिया है. इसके साथ ही अनुसूचित जाति के लिए नौ सीटें आरक्षित रहेंगी जिसमें जम्मू क्षेत्र में छह और कश्मीर घाटी में तीन सीटें होंगी.

पूरे जम्मू कश्मीर में पांच संसदीय क्षेत्र होंगे. इन सभी क्षेत्रों में विधानसभा सीटों की संख्या समान होगी. मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि घाटी के अनंतनाग क्षेत्र और जम्मू के राजौरी और पुंछ को मिलाकर एक संसदीय क्षेत्र बना है. सभी संसदीय क्षेत्र में 11 विधानसभा सीटे होंगी.

चंद्रा ने कहा कि आयोग ने दो बार जम्मू-कश्मीर का दौरा किया। पहली यात्रा के दौरान, इसने चार स्थानों – श्रीनगर, पहलगाम, किश्तवाड़ और जम्मू में लगभग 242 प्रतिनिधिमंडलों के साथ बातचीत की. इस साल 4 और 5 अप्रैल को केंद्र शासित प्रदेश में पैनल की दूसरी यात्रा के दौरान जम्मू और श्रीनगर में आयोजित सार्वजनिक बैठकों में लगभग 1600 लोगों ने भाग लिया और अपने विचार व्यक्त किए.

Tags: Chief Election Commissioner Sushil Chandra, Election commission, Jammu and kashmir, Kashmir news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर