अपना शहर चुनें

States

तकनीक के कारण नौकरियों मे आने वाली कमी एक बड़ी चुनौती: सुमित्रा महाजन

सुमित्रा महाजन
सुमित्रा महाजन

सुमित्रा महाजन ने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के कारण नौकरियों में आने वाली कमी एक अहम चुनौती है जिस पर चर्चा होनी चाहिए.

  • Share this:
लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा है कि तकनीक और कृत्रिम बुद्धिमता (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) के कारण नौकरियों में कमी एक अहम चुनौती है जिस पर चर्चा होनी चाहिए और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इसका निदान ढूंढना चाहिए.

जिनेवा में अंतर-संसदीय संघ (आईपीयू) के 139वें सत्र को संबोधित करते हुए महाजन ने मंगलवार को कहा, ‘‘तकनीक और इनोवेशन हमें सूचना, बेहतर जीवनशैली, संपर्क, संचार, सोशल नेटवर्किंग और मनोरंजन तक आसान पहुंच मुहैया कराते हैं लेकिन इससे नौकरियों में कमी भी आती है, अकेलापन बढ़ता है, लत लगती है और मनोवैज्ञानिक विकार देखने को मिलते हैं.’’

ये भी पढ़ेंः मैं मां की तरह लोकसभा चलाने की कोशिश करती हूं : सुमित्रा महाजन



लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी एक बयान में महाजन के हवाले से कहा गया है कि समूची मानवता इनोवेशन की अगुवाई वाली तकनीकी और डिजिटल क्रांति के केंद्र में है जो पृथ्वी पर जीवन के हर पहलू को आकार दे रही है. उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि डिजिटल साधनों तक पहुंच में बड़े फर्क से वैश्विक शांति को खतरा पैदा हो सकता है.
जिनेवा में भारतीय संसदीय शिष्टमंडल की अगुवाई कर रही महाजन ने कहा कि फाइनेंशियल टेक्नॉलजी, महिलाओं के हित वाले साधनों, गरीबों के हित वाले साधनों, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के प्रभाव और नौकरियों में कमी कुछ अहम चुनौतियां हैं जिन पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को निश्चित तौर पर चर्चा करनी चाहिए और इनका निदान करना चाहिए.

ये भी पढ़ेंः लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के कार्यक्रम में आरक्षण की मांग पर पथराव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज