गाजियाबाद: मुरादनगर हादसे में अब तक 23 लोगों की मौत, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दुख जताया

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने घटना पर दुख जताया है.(Photo-Twitter/@rashtrapatibhvn)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि घटना दुखद है. मेरी संवेदना शोक संतप्त परिजनों के साथ है. इसके अलावा मंडल आयुक्त मेरठ और आईजी रेंज मेरठ को मौके पर जाकर घटना की रिपोर्ट देने का आदेश दिया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुरादनगर में श्मशान घाट की छत गिर जाने के कारण कई लोगों की मृत्यु की घटना पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने शोक व्यक्त किया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, "मुरादनगर, गाजियाबाद स्थित श्मशान में छत गिरने की घटना अत्यंत दुखद है. मृतकों के परिवार जन को मेरी शोक संवेदनाएं. मैं प्रार्थना करता हूं कि इस दुर्घटना में आहत लोग शीघ्र स्वस्थ हों. स्थानीय प्रशासन राहत और सहायता हेतु कार्यरत है." ताजा जानकारी के मुताबिक घटना में मरने वालों की संख्या 23 पहुंच गई है और कम से कम 20 लोग घायल हुए हैं. पीटीआई ने इस बारे में जानकारी दी है.

    घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शोक जताया. उन्होंने कहा, "उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है. राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है. इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट की छत गिर जाने के कारण कई लोगों की मृत्यु के समाचार से मुझे अत्यंत दुख पहुंचा है. दुख की इस घड़ी में मैं मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. साथ ही कामना करता हूं कि हादसे में घायल हुए लोग जल्द से जल्द स्वस्थ हों.

    अभी भी बचाव कार्य जारी
    हादसे में काफी संख्‍या में लोग श्मशान घाट की छत के नीचे दबे बताए जा रहे हैं. मौके पर जिला प्रशासन के अलावा एनडीआरएफ की टीम भी रेस्क्यू के लिए पहुंच गई. गाजियाबाद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने हादसे में 18 लोगों के मौत की पुष्टि की है. सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया.

    CM योगी ने आईजी से मांगी रिपोर्ट
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि घटना दुखद है. मेरी संवेदना शोक संतप्त परिजनों के साथ है. इसके अलावा मंडल आयुक्त मेरठ और आईजी रेंज मेरठ को मौके पर जाकर घटना की रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. ज़िलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद मौके पर हैं और राहत कार्य कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हादसे में घायल लोगों का समुचित उपचार सुनिश्चित कराएं. मुख्यमंत्री योगी ने इस हादसे में मृतकों के आश्रितों को 2-2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं.

    इस घटना को लेकर अनीता सी मेश्राम (डिविजनल कमिश्नर, मेरठ) ने कहा कि मुरादनगर में शेड गिरने से इसमें फंसे 38 लोगों को निकाला गया है. बाकी लोगों का इलाज़ अस्पताल में चल रहा है. जांच शुरू कर दी है. दोषियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी.

    बताया जा रहा है कि मुरादनगर थाना क्षेत्र के ही डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत हो गई थी, जिसके बाद अंतिम संस्कार में कई लोग पहुंचे थे. जो लोग अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे वह श्मशान घाट के ही एक लेंटर के नीचे खड़े हुए थे. अचानक लेंटर भरभरा कर गिर गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.