रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल जाएंगे लेह, लेंगे राज्य के हालात का जायज़ा

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 8:25 PM IST
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल जाएंगे लेह, लेंगे राज्य के हालात का जायज़ा
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को एक दिन के लेह दौरे पर जाएंगे. कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद रक्षा मंत्री का पहला दौरा होगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) गुरुवार को एक दिन के लेह (Leh) दौरे पर जाएंगे. कश्मीर (Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद रक्षा मंत्री का पहला दौरा होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 8:25 PM IST
  • Share this:
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh)  गुरुवार को एक दिन के लेह (Leh) दौरे पर जाएंगे. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद रक्षा मंत्री का यह पहला दौरा होगा. रक्षा मंत्री डीआरडीओ (DRDO) के हाई एल्टीट्यूड रिसर्च इंस्टिट्यूट का दौरा करेंगे. इसके साथ ही वह सेना के अधिकारियों से हालात का जायज़ा भी लेंगे. राजनाथ सिंह अपने इस दौरे में 'लद्दाख किसान जवान विज्ञान' मेले में भी शिरकत करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक राजनाथ सिंह वहां आम लोगों से मुलाकात करेंगे. राजनाथ सिंह सेना के अधिकारियों के साथ बातचीत कर चीन (China) और पाकिस्तान बॉर्डर (Pakistan Border) के हालातों का भी जायज़ा लेंगे.

आर्टिकल 370 हटने के बाद किसी केंद्रीय मंत्री का पहला दौरा 
बता दें जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के फैसले के बाद पहली बार इस राज्य में किसी केंद्रीय मंत्री का दौरा होने जा रहा है. इससे पहले बकरीद के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल (Ajit Doval) ने राज्य का दौरा कर वहां आम लोगों से मुलाकात की थी साथ ही घाटी के हालातों का जायज़ा लिया था.

सत्यपाल मलिक बोले, जल्द होगी बड़ी घोषणा
इससे पहले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि केंद्र राज्य को लेकर जल्द ही कोई बड़ी घोषणा करेगा. साथ ही उन्होंने कहा कि अगले तीन महीनों में राज्य में 50 हजार नौकरियां उपलब्ध होंगी. जम्मू कश्मीर में यह सबसे बड़ा भर्ती अभियान होगा. गवर्नर मलिक ने संवाददाताओं से कहा, 'राजनीतिक नेताओं की हिरासत को लेकर दुखी न हों, इससे उनके राजनीतिक करियर में मदद मिलेगी.'

पैलेट गन के इस्तेमाल की बात को किया स्वीकार
Loading...

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने माना कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाने के बाद राज्य में जनहानि रोकने के लिए प्रतिबंध जरूरी हैं. उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की पहचान और संस्कृति सुरक्षित रहेगी. उन्होंने स्वीकार किया कि कश्मीर घाटी में प्रदर्शनों के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने पैलेट गन का इस्तेमाल किया. लोगों को चोट न पहुंचे, इसके लिए अत्यंत सावधानी बरती गई.

ये भी पढ़ें-

'3 महीने में J&K के युवाओं को देंगे 50 हजार सरकारी नौकरियां'
अनुच्छेद 370 हटाने से चीन का परेशान होना गलत: भारतीय राजदूत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 7:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...