लाइव टीवी

रूस दौरे पर जाएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा उद्योग सम्मेलन को करेंगे संबोधित

भाषा
Updated: November 4, 2019, 9:31 PM IST
रूस दौरे पर जाएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा उद्योग सम्मेलन को करेंगे संबोधित
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में द्विपक्षीय भागीदारी बढ़ाने पर हमारा जोर है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath singh) ने कहा कि हम रक्षा क्षेत्र (Defense Sector) में द्विपक्षीय फायदे की संभावनाएं तलाश रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath singh) मंगलवार को रूस की तीन दिवसीय यात्रा पर रवाना होंगे. अपनी इस यात्रा के दौरान रक्षा मंत्री सेना और सैन्‍य तकनीकी सहयोग पर 19वें भारत-रूस अंतर-सरकारी आयोग (Indo Russian Intergovernmental Commission) की सह अध्‍यक्षता करेंगे. रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी.

राजनाथ सिंह अपनी इस यात्रा के दौरान रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शो‍इगू के साथ दोनों देशों की सेनाओं के बीच सहयोग और रक्षा औद्योगिक सहयोग से जुड़े विभिन्न विषयों पर गहन विचार विमर्श करेंगे. इससे पहले सिंह शुक्रवार से रविवार तक उज्बेकिस्तान में थे. वह ताशकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में भाग लेने के लिए वहां गए थे.

अपनी इस यात्रा के दौरान सिंह रूस के उद्योग एवं व्‍यापार मंत्री डेनिस मानतूरोव के साथ 'भारत-रूस रक्षा उद्योग सहयोग सम्‍मेलन' का उद्घाटन करेंगे. इस सम्‍मेलन में भारत और रूस के बीच रक्षा औद्योगिक सहयोग बढ़ाने, प्रौद्योगिकी अंतरण तथा 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम के तहत भारत के रक्षा उद्योग में निवेश करने पर चर्चा की जायेगी.

सिंह के सेंट पीटर्सबर्ग जाने का भी कार्यक्रम है जहां वह दूसरे महायुद्ध के दौरान शहीद होने वाले सैनिकों और नागरिकों के सम्‍मान में बने पिस्‍कारेवस्‍की स्मारक में पुष्‍पांजलि अर्पित करेंगे. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि सिंह सेंट पीटर्सबर्ग और आस-पास मौजूद रूसी रक्षा उत्‍पादन इकाइयों का भी दौरा कर सकते हैं.

रक्षा क्षेत्र में द्विपक्षीय फायदे की भागीदारी करने पर भारत का जोर: राजनाथ सिंह
राजनाथ ने सोमवार को कहा कि भारत का रक्षा क्षेत्र घरेलू तथा बाहरी बाजारों में उद्योग लगाने के लिए दोस्ताना संबंध वाले देशों के साथ द्विपक्षीय फायदे वाली भागीदारी करने की सभावनाएं तलाश रहा है. उन्होंने डिफेंस एक्सपो 2020 (Defence Expo 2020) को लेकर राजदूतों की गोलमेज बैठक में कहा कि यह एक्सपो न सिर्फ भागीदार देशों को अपने उत्पाद का प्लेटफॉर्म प्रदर्शित करने का अवसर देगा, बल्कि वे परिचालन लक्ष्य को पाने के लिए भारत के रक्षा क्षेत्र की मजबूती तथा क्षमता जानने में भी सक्षम होंगे. यह प्रदर्शनी अगले साल उत्तर प्रदेश में आयोजित होगी. रक्षा मंत्रालय की ओर से यह जानकारी दी गई है.

रक्षा मंत्री ने कहा, ''डिफेंस एक्सपो' देशों के बीच भागीदारी को बढ़ाने तथा साझा समृद्धि का हिस्सा होने का अवसर देगा. ये मजबूत संबंध निवेश बढ़ाएंगे, विनिर्माण को विस्तृत करेंगे, प्रौद्योगिकी के स्तर को ऊपर उठाएंगे और संबंधित देशों की आर्थिक वृद्धि को गति देंगे. भारत का रक्षा क्षेत्र परिपक्व हो चुका है और घरेलू तथा बाहरी बाजार में उद्योग लगाने के लिए दोस्ताना देशों के साथ द्विपक्षीय फायदे वाली भागीदारियों की तलाश कर रहा है.'
Loading...

5 से 8 फरवरी तक लखनऊ में पांच से आठ फरवरी
रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि विभिन्न देशों के दूतावास के प्रतिनिधियों को डिफेंस एक्सपो के लिए की गयी तैयारियों की जानकारी देने तथा अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए उनसे सुझाव पाने के लिए इस बैठक का आयोजन किया गया. ग्यारहवां डिफेंस एक्सपो पांच से आठ फरवरी तक लखनऊ में आयोजित होगा.

रक्षा मंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम से 2025 तक विमानन एवं रक्षा क्षेत्र के माल एवं सेवाओं से 26 अरब डॉलर का टर्नओवर हासिल करने के सरकार के इरादे का पता चलेगा. उन्होंने कहा कि इस दौरान उत्तर प्रदेश तथा तमिलनाडु में बनने वाले रक्षा उद्योग गलियारे को लेकर सरकार की योजनाओं का भी पता चलेगा. इन गलियारों के लिए पहले ही करीब एक अरब डॉलर के निवेश प्रस्ताव मिल चुके हैं.

नीतिगत सुधारों के कारण बढ़ा रक्षा उत्‍पादन
राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा किए गए नीतिगत सुधारों के कारण सरकारी तथा निजी क्षेत्र दोनों में रक्षा उत्पादन 2018-19 में 80,502 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. उन्होंने 2019-20 के लिए 90 हजार करोड़ रुपये के उत्पादन का लक्ष्य तय किया. उन्होंने कहा, 'हमने 2018-19 में निर्यात से करीब 10,700 करोड़ रुपये के टर्नओवर का लक्ष्य प्राप्त किया है. इसे 2019-20 में 15 हजार करोड़ रुपये करने का लक्ष्य तय किया गया है.'

ये भी पढ़ें: भारत-उज्बेकिस्तान ने रक्षा के क्षेत्र में 3 समझौतों पर किए हस्ताक्षर

ये भी पढ़ें: रक्षा मंत्री का हथियार खरीद पर बड़ा फैसला, इन हथियारों से बढ़ेगी सेना की ताकत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 9:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...