Home /News /nation /

भारत के एक्शन से डरा ड्रैगन, राजनाथ सिंह से मिलना चाहते हैं चीन के रक्षा मंत्री

भारत के एक्शन से डरा ड्रैगन, राजनाथ सिंह से मिलना चाहते हैं चीन के रक्षा मंत्री

India-China Faceoff: चीन के रक्षा मंत्री वे फेंग ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने की इच्छा जताई है.

India-China Faceoff: चीन के रक्षा मंत्री वे फेंग ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने की इच्छा जताई है.

India-China Faceoff: मॉस्को (Moscow) में चल रही शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पहले ही पहुंच चुके हैं, जबकि 10 सितंबर को विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) भी मॉस्को पहुंचने वाले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के लद्दाख (Ladakh) में स्थित पैंगोंग त्सो (Pangong Lake) झील के पास हुई भारत और चीन (India-China Rift) की सेनाओं के बीच झड़प से दोनों देशों के बीच एक बार फिर तनाव चरम पर पहुंच गया है. दोनों देशों में बीच बिगड़ते रिश्तों को देखते हुए चीन के रक्षा मंत्री वे फेंग ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) से मिलने की इच्छा जताई है. बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस समय मॉस्को (Moscow) में चल रहे शंघाई सहयोग संगठन (SCO) की बैठक में हिस्सा ले रहे हैं और फेंग भी वहां मौजूद हैं. इससे पहले गुरुवार को राजनाथ सिंह ने रूस के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु के साथ मुलाकात की थी.

    बता दें कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले कई महीनों से चले आ रहे तनाव के बादा दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आ गई हैं. दोनों ने ही देश सीमा विवाद के मसले पर पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. दोनों ही देश बातचीन के जरिए इस विवाद का हल निकालने का प्रयास कर रहे हैं और सीमा विवाद को सुलझाने के लिए कई दौर की सैन्य कमांडर स्तर की वार्ता भी हो चुकी है.

    मॉस्को में चल रही शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में राजनाथ सिंह पहले ही पहुंच चुके हैं, जबकि 10 सितंबर को विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मॉस्को पहुंचने वाले हैं. जयशंकर एससीओ में विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने जा रहे हैं.

    उधर, मॉस्को में एससीओ की बैठक में राजनाथ सिंह मौजूद हैं तो दूसरी ओर 10 सितंबर को विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी मॉस्को पहुंचने वाले हैं. बता दें कि चीन के रक्षा मंत्री वे फेंग चीन के सेंट्रल मिलिटरी कमीशन के उन चार सदस्यों में शामिल हैं, जिनकी सरकार में अहम भूमिका मानी जाती है. चीन के सेंट्रल मिलिटरी कमीशन की अध्यक्षता राष्ट्रपति शी जिनपिंग करते हैं.

    इसे भी पढ़ें :- अलर्ट! भारत के चारों तरफ करीब एक दर्जन देशों में सैन्य ठिकाने बना रहा है चीन



    भारतीय सेना ने दक्षिण पैंगोंग झील के आसपास के ​इलाके पर किया कब्जा
    गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच एक बार फिर तनाव तब बढ़ गया जब 29-30 अगस्त की रात चीनी सैनिकों ने पेंगोंग झील के इलाके पर घुसपैठ की कोशिश की, लेकिन भारतीय जवानों ने उन्हें खदेड़ दिया. सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना ने दक्षिण पैंगोंग झील के पास सभी पहाड़ियों को अपने कब्जे में ले लिया है. इनमें ब्लैक टॉप भी शामिल है. चीन की हरकतों के मद्देनजर भारत ने अपनी रणनीति में बदलाव भी किया है. अब भारत कूटनीतिक बातचीत के साथ एलएसी पर चीन के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए जाएंगे.

    Tags: China, India-china face-off, India-China LAC dispute, India-China Rift, Indo-China Border Dispute, Rajnath Singh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर