Home /News /nation /

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली-NCR में बढ़ रहा वायु प्रदूषण, पराली जलाया जाना वजह नहीं

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली-NCR में बढ़ रहा वायु प्रदूषण, पराली जलाया जाना वजह नहीं

दिल्‍ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण बहुत खराब श्रेणी में है. (Photo-ANI)

दिल्‍ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण बहुत खराब श्रेणी में है. (Photo-ANI)

Delhi Air Pollution : सफर इंडिया (SAFAR India) के मुताबिक, सोमवार को दिल्‍ली में वायु प्रदूषण का स्‍तर 370 (बहुत खराब) दर्ज किया गया. कल एवं तीन दिन बाद तक भी दिल्‍ली में वायु गुणवत्‍ता (Delhi Air Quality) नहीं सुधरने वाली.

नई दिल्‍ली : दिल्‍ली-NCR में वायु गुणवत्‍ता की स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही. सोमवार को भी दिल्‍ली एवं उसके आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) की स्थिति बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई है. आने वाले कुछ दिनों में इसमें सुधार की कोई संभावना नहीं दिख रही. इस कारण श्‍वसन संबंधी रोगों (Respiratory Diseases) से पीडि़त लोगों को बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है. हालांकि वायु गुणवत्ता (Air Quality), मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली ने स्‍पष्‍ट किया है कि दिल्ली के PM2.5 में पराली जलाने से संबंधित प्रदूषकों की हिस्सेदारी 3% है. यानि दिल्‍ली में प्रदूषण फैलने के लिए पराली जलाए जाना जिम्‍मेदार नहीं है.

सफर इंडिया (SAFAR India) के मुताबिक, सोमवार को दिल्‍ली में वायु प्रदूषण का स्‍तर 370 (बहुत खराब) दर्ज किया गया. कल एवं तीन दिन बाद तक भी दिल्‍ली में वायु गुणवत्‍ता (Delhi Air Quality) नहीं सुधरने वाली. सुबह 10 बजे तक दिल्‍ली के अलग-अलग इलाकों में वायु प्रदूषण की स्थिति कुछ इस प्रकार रही…

पूसा : 361
लोधी रोड : 363
दिल्‍ली यूनिवर्सिटी : 416
एयरपोर्ट (T3) : 359
मथुरा रोड : 406
आया नगर : 343
आईआईटी दिल्‍ली : 363
गुरुग्राम : 369
ग्रेटर नोएडा : 370
नोएडा सेक्‍टर-1 : 371
लोनी : 416
वसुंधरा : 370

एजेंसी ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि दिल्ली में एक्यूआई लेवल ‘बेहद खराब’ हवा की गुणवत्ता में है. आज और कल (29 और 30 नवंबर) को स्थानीय सतही हवाओं के मध्यम रूप से बढ़ने की संभावना है, जिससे प्रदूषकों का फैलाव बढ़ जाएगा. एक्यूआई ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रहेगा.

प्रदूषण से निकला दिल्‍ली का ‘दम’, केजरीवाल सरकार ने सोमवार को बुलाई मीटिंग

एजेंसी का आगे कहना है कि 1 दिसंबर से हवा की गति और तापमान में कमी आने की संभावना है, जिससे हवा की गुणवत्ता में मामूली गिरावट आ सकती है. कम मिश्रण परत की ऊंचाई प्रदूषकों के कुशल फैलाव को रोक रही है. दिल्ली के PM2.5 में पराली जलाने से संबंधित प्रदूषकों की हिस्सेदारी 3% है.

दिल्ली की वायु गुणवत्ता को प्रभावित करने वाले पूर्वानुमानित कारकों में स्थानीय हवा की गति कम दर्ज की जा रही है, इसके प्रभाव से प्रदूषकों का अधिक संचय देखा जा रहा है. वहीं वेंटिलेशन फैक्टर भी कम दर्ज किया जा रहा है. हालांकि प्रदूषण कारकों में पराली जलाने का प्रभाव कम है एवं बाहरी धूल भी बहुत कम दर्ज की गई है.

Tags: Air pollution, Air Quality, Delhi air pollution

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर