लाइव टीवी

UC सर्वे: सांसों में जहर के डर से शहर छोड़ने को तैयार 67% लोग

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 2:18 PM IST
UC सर्वे: सांसों में जहर के डर से शहर छोड़ने को तैयार 67% लोग
UC सर्वे में 67% लोगों ने कहा है कि वे प्रदूषण से परेशान होकर शहर छोड़ना चाहते हैं

प्रदूषण से परेशान लोगों के बीच यूसी ब्राउजर ने सर्वेक्षण है, जिसमें 16 हजार से ज्यादा दिल्लीवासियों ने हिस्सा लिया. इसमें पता चला कि प्रदूषण का स्तर खतरनाक होने के बाद लोग शहर छोड़ना चाहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 2:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रदूषण का खराब स्तर देखते हुए दिल्ली के लोग अब रहने के लिए अलग स्थान का विकल्प तलाश रहे हैं. इस बात का खुलासा यूसी ब्राउजर के सर्वेक्षण में हुआ है. यूसी ने अपने यूजर्स से इस संदर्भ में सवाल पूछा था, जिसमें 67% लोगों ने कहा कि वे प्रदूषण से परेशान होकर शहर छोड़ना चाहते हैं, जबकि 33 प्रतिशत लोग अभी भी दिल्ली छोड़कर जाने तो तैयार नहीं हैं.

यूसी के ऑनलाइन सर्वे में दिल्ली के निवासियों ने ही हिस्सा लिया था. इस सर्वे में कुल 16416 दिल्लीवासी शामिल हुए, जिसमें से 11 हजार ने दिल्ली छोड़ने की मंशा की बात स्वीकारी.

इस सर्वे में कुल 16416 दिल्लीवासियों ने वोट दिया


ज्यादातर यूजर्स का कहना था कि उन्होंने विकल्प तलाशना शुरू कर दिया है और शायद ही अगले साल वे फिर से इस त्रासदी को देखने के लिए दिल्ली में मौजूद होंगे. कुछ लोगों का कहना था कि उन्होंने ट्रांसफर के लिए अर्जी भी डाल दी है.  वहीं इसके साथ ही 5 हजार 415 लोगों का कहना था कि वे दिल्ली छोड़कर नहीं जाना चाहते हैं.

इस सर्वे में सिर्फ यूसी ब्राउजर के यूजर्स ने हिस्सा लिया था. इसके साथ ही जो लोग छोड़कर नहीं जाना चाहते उन्होंने कमेंट भी किए हैं उनका कहना है कि रोजी-रोटी के चलते वे दिल्ली छोड़ नहीं सकते.

एक यूजर ने कहा कि वह अपने गांव से शहर में पैसे कमाने के लिए आया था और वापस जाकर वह बेरोजगार ही हो जाएगा. अगर कहीं अच्छा रोजकार का अवसर मिले तो वह जरूर सोच सकता है कि प्रदूषण से दूर निकला जाए. गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर भारी प्रदूषण की मार सह रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 2:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...