सुधार के बावजूद दिल्ली की वायु गुणवत्ता अभी भी 'बेहद खराब'

दिल्ली में 15 इलाकों में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' दर्ज की गई जबकि 19 इलाकों में प्रदूषण स्तर 'बेहद खराब' श्रेणी में रहा.

भाषा
Updated: November 10, 2018, 3:24 PM IST
सुधार के बावजूद दिल्ली की वायु गुणवत्ता अभी भी 'बेहद खराब'
प्रतीकात्मक तस्वीर
भाषा
Updated: November 10, 2018, 3:24 PM IST
राष्ट्रीय राजधानी में स्थानीय स्तर पर प्रदूषकों में काफी कमी आने और पराली जलने से होने वाले प्रदूषण का असर हवा की रफ्तार के कारण मामूली रहने से दिल्ली की वायु गुणवत्ता में शनिवार को मामूली सुधार हुआ. अब यह 'बेहद खराब' की श्रेणी में आ गई है. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, शहर में समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 394 दर्ज किया गया जो बेहद खराब की श्रेणी में आता है.

इसमें बताया गया कि दिल्ली में 15 इलाकों में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' दर्ज की गई जबकि 19 इलाकों में प्रदूषण स्तर 'बेहद खराब' श्रेणी में रहा. शनिवार को दिल्ली में पीएम 2.5 (हवा में 2.5 माइक्रोमीटर से कम व्यास वाले कणों की मौजूदगी) का स्तर 226 जबकि पीएम 10 (हवा में 10 माइक्रोमीटर से कम व्यास वाले कणों की मौजूदगी) का स्तर 331 दर्ज किया गया.

ये भी पढ़ें: हिमालय के चलते भी खराब हो रही है दिल्ली की हवा, जानिए कैसे?

वायु गुणवत्ता सूचकांक पर शून्य से 50 अंक तक हवा की गुणवत्ता को अच्छा, 51 से 100 तक संतोषजनक, 101 से 200 तक सामान्य, 201 से 300 के स्तर को खराब, 301 से 400 के स्तर को बहुत खराब और 401 से 500 के स्तर को गंभीर श्रेणी में रखा जाता है.

ये भी पढ़ें: सुप्रीम आदेश के बावजूद इस बार दिल्ली ने जलाए 5 लाख किलो पटाखे, जहरीली हुई हवा

केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान तथा अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने कहा, 'दिल्ली के समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक में सुधार हुआ है और परेशानियों और प्रतिकूल मौसम परिस्थितियों के बावजूद इसके 'बहुत खराब' की श्रेणी में आने की संभावना है.' अधिकारियों ने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण के उपायों के कारण भी राष्ट्रीय राजधानी में वायु की गुणवत्ता में सुधार हुआ है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर