लाइव टीवी

Delhi Election Result 2020: बदरपुर सीट पर बीजेपी प्रत्याशी रामवीर सिंह बिधूड़ी जीते

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 11:11 PM IST
Delhi Election Result 2020: बदरपुर सीट पर बीजेपी प्रत्याशी रामवीर सिंह बिधूड़ी जीते
बदरपुर सीट बीजेपी ने जीती

2015 में बदरपुर विधानसभा (Badarpur Assembly) सीट पर आप के उम्मीदवार नरायण दत्त र्श्मा को जीत हासिल हुई थी. उन्होंने 47,583 वोट के अंतर से बीजेपी (BJP) के उम्मीदवार रामवीर सिंह बिधूड़ी (Ramveer singh Bidhuri) को हराया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 11:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बदरपुर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के रामवीर सिंह बिधूड़ी (Ramveer Singh Bhidhudi) अपने निकटतम प्रतिद्वंदी आप उम्मीदवार राम सिंह नेताजी को 3719 वोटों से हरा दिया. रामवीर सिंह बिधूड़ी को 89972 जबकि राम सिंह को 86286 वोट मिले. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 में बदरपुर विधानसभा सीट पर आप के उम्मीदवार नरायण दत्त र्श्मा को जीत हासिल हुई थी. उन्होंने 47,583 वोट के अंतर से बीजेपी के उम्मीदवार रामवीर सिंह बिधूड़ी को हराया था. नरायण दत्त को 94242 वोट और रामवीर सिंह बिधूड़ी को 46659 वोट मिले थे. लेकिन टिकट वितरण का वक्त आते ही 2020 के लिए नरायण दत्त शर्मा की टिकट कट गई और आप से राम सिंह नेताजी को अपना उम्मीदवार बनाया गया.

राम नाम के हाथों में रही है बदरपुर की कमान
बीते चुनाव में आम आदमी पार्टी के विधायक नरायण दत्त शर्मा की जीत को छोड़ दें तो बदरपुर विधानसभा की कमान राम राम के हाथों में रही है. कभी राम सिंह नेताजी तो कभी रामवीर सिंह बिधूड़ी बदरपुर सीट से विधायक बनते रहे हैं. इलाके के वोटर भी तेज-तर्रार हैं. अभी तक लगातार दो बार किसी को मौका नहीं दिया है. वो बात अलग है कि गैप देकर फिर दोबारा से विधायक बना दें. यही वजह है कि पिछले 20 साल से कभी रामसिंह विधायक बने हैं तो कभी बीजेपी के रामवीर सिंह बिधूड़ी. राम सिंह नेताजी एक बार बीएसपी से तो एक बार निर्दलीय विधायक बने हैं. इस बार वो आप से किस्मत आजमा रहे हैं. निर्दलीय विधायक बनने के बाद वो कांग्रेस में भी जा चुके हैं.

 किसी एक का नहीं रहता है दबदबा

जैतपुर के सियासी जानकार बताते हैं कि 1993 में बदरपुर को विधानसभा क्षेत्र घोषित किया गया था. यहां मिलीजुली आबादी रहती है. यही वजह है कि वोटों को लेकर यहां कभी किसी एक जाति का दबदबा नहीं रहा है. अगर मोटे-मोटे आंकड़ों पर बात करें तो यहां गुर्जर करीब 18 प्रतिशत, ब्राह्मण 18, मुस्लिम 17, वैश्य 7, एससी 13, ओबीसी 24 प्रतिशत और पूर्वांचली वोटर भी ठीकठाक संख्या में है. कुल वोटर की संख्या करीब 2.25 लाख है. पुरुष वोटर 1.30 लाख और महिला वोटर लगभग 95 हजार हैं.

जाम के झाम से जाना जाता है बदरपुर
दिल्ली आने-जाने वालों को भले ही कोई और इलाका याद रहे न रहे, लेकिन बदरपुर जरूर याद हो जाता है. हालांकि उसकी वजह नेगेटिव है, लेकिन हम शुरुआत में ही किसी की कमियों पर सवाल नहीं उठाएंगे. जहांगीर काल की सराय और आगरा कैनाल के चलते बदरपुर की ऐतिहासिक अहमियत भी है. आगरा-मथुरा को दिल्ली से जोड़ने वाली सड़क और बदरपुर थार्मल पॉवर प्लांट भी इसे एक खास पहचान दिलाता है. और बदरपुर पर जाम से किस तरह जूझना पडता है यह किसी को बताने की जरूरत नहीं है. 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 10:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर