लाइव टीवी

शाहीन बाग में कड़ी सुरक्षा के बीच इस तरह एक साथ हुआ प्रदर्शन और मतदान

News18Hindi
Updated: February 8, 2020, 10:08 PM IST
शाहीन बाग में कड़ी सुरक्षा के बीच इस तरह एक साथ हुआ प्रदर्शन और मतदान
शाहीन बाग में बीते 57 दिनों से प्रदर्शन हो रहे हैं.

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली निर्वाचन कार्यालय ने इस क्षेत्र में आने वाले सभी 5 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा है. यहां कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2020, 10:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में शनिवार को एक ओर जहां बड़ी संख्या में मतदाताओं ने 'लोकतंत्र के पर्व' में हिस्सा लिया, वहीं दूसरी ओर मतदाता सूची में नाम न होने के कारण कुछ नागरिकों को भारी मन के साथ वापस लौटना पड़ा. वहीं शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में चल रहे संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन कर महिलाओं ने शनिवार को विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में मतदान केंद्रों पर बारी-बारी से जाकर मतदान किया, ताकि आंदोलन प्रभावित नहीं हो. प्रदर्शन कर रही कुछ महिलाओं ने सुबह मतदान किया, जबकि कुछ ने दोपहर में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. शेष महिलाओं ने शाम में मतदान किया.

ओखला विधानसभा सीट (Okhla Assembly) पर वर्ष 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी (AAP) के अमानतुल्ला खान (Amanatullah Khan) ने जीत हासिल की थी. वहीं वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के आसिफ मोहम्मद खान ने जीत हासिल की, जबकि वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस के परवेज़ हाशमी को जीत मिली थी.

बीजेपी के लिए बड़ा मुद्दा रहा शाहीन बाग
ओखला विधानसभा सीट के अंतर्गत आने वाले शाहीन बाग (Shaheen Bagh) ने बीजेपी को बड़ा मुद्दा दे दिया है. इसके सहारे पार्टी चुनाव में जीत का दम भर रही है. पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन दिल्ली में 45 सीट जीतने का दावा किया. हालांकि, शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ-साथ स्थानीय निवासियों का भी मानना है कि कम से कम ओखला में इस मुद्दे का कोई बड़ा असर नहीं हो रहा है.

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली निर्वाचन कार्यालय ने इस क्षेत्र में आने वाले सभी 5 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा था. यहां कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हुए. पोलिंग बूथ पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए.

इस तरह मतदान के साथ जारी रहा प्रदर्शन
मतदान के समय भी शाहीन बाग में प्रदर्शन जारी रहा. मतदान कर प्रदर्शन स्थल पर पहुंची महज़बीं कुरैशी ने कहा, "मैं घर पर रुकी, ताकि परिवार की सभी महिलाएं अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने जा सकें. अब मैं मतदान के बाद शाहीनबाग प्रदर्शन के लिए पहुंची हूं. मैंने लोकतंत्र बचाने के लिए मतदान किया."इस बीच, शाहीन बाग की महिला प्रर्दानकारी जब अपने घर का काम करने गई थीं उस समय पुरुषों ने उनके स्थान पर प्रदर्शन किया.

योगी आदित्यनाथ को चुनाव आयोग ने भेजा था नोटिस
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 'बिरयानी' वाले बयान पर तंज करते हुए स्थानीय निवासी मोहम्म्द अयूब ने कहा, ‘‘वे यह साबित करने के लिए मतदान कर रहे हैं कि उन्हें 'बिरयानी' नहीं परोसी जा रही है.

उल्लेखनीय है कि शाहीनबाग में आप नेता अरविंद केजरीवाल द्वारा बिरयानी परोसे जाने वाले बयान पर चुनाव आयोग ने योगी आदित्यनाथ को नोटिस भेजा है. शाहीनबाग का प्रदर्शन स्थल भाजपा के चुनाव प्रचार का मुख्य मुद्दा बन गया था.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली के जिस शिक्षा मॉडल पर केजरीवाल लड़े चुनाव, शिक्षाविदों के उसी पर सवाल

दिल्ली: कितना चला शाहीन बाग, Exit Poll करने वाले विशेषज्ञ का चौंकाने वाला जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 6:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर