बुराड़ी केस: रजिस्टर में 'भटकती आत्मा' का जिक्र, ललित ने लिखा- नहीं देखेंगे अगली दीवाली

बुराड़ी केस में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं. पुलिस ने घर से अब तक 20 से ज्यादा रजिस्टर बरामद किए हैं. जिसमें परिवार के छोटे बेटे ललित भाटिया के हैंड नोट्स हैं. एक रजिस्टर में ‘भटकती आत्मा’ का जिक्र है.

फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: July 11, 2018, 3:37 PM IST
बुराड़ी केस: रजिस्टर में 'भटकती आत्मा' का जिक्र, ललित ने लिखा- नहीं देखेंगे अगली दीवाली
मास सुसाइड करने वाला भाटिया परिवार (फाइल)
फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: July 11, 2018, 3:37 PM IST
दिल्ली के बुराड़ी में 11 लोगों की मौत के मामले में 10 की फाइनल पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आ चुकी है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जिक्र है कि भाटिया परिवार के सभी 10 सदस्यों की मौत फंदे पर लटकने से हुई है. उनके शरीर पर चोट के निशान नहीं पाए गए हैं. वहीं, परिवार के 11वें और सबसे बुजुर्ग सदस्य की पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है.

बुराड़ी केस में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं. पुलिस ने घर से अब तक 20 से ज्यादा रजिस्टर बरामद किए हैं, जिसमें परिवार के छोटे बेटे ललित भाटिया के हैंड नोट्स हैं. एक रजिस्टर में 'भटकती आत्मा' का जिक्र है. साथ ही आशंका जाहिर की गई है कि परिवार अगली दीवाली नहीं देख सकेगा.

बुराड़ी केस: सामने आया एक और चौंकाने वाला वीडियो, परिवार के लोग जुटाते दिखे मौत का सामान

पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि ललित भाटिया के शरीर में कथित तौर पर उसके पिता की आत्मा आती थी. इसके बाद वो अपने पिता की तरह हरकतें करता था

रजिस्टर में 11 नवंबर , 2017 की तारीख में ललित ने परिवार के 'कुछ हासिल' करने में विफल रहने के लिए 'किसी की गलती' का जिक्र किया है. उसमें कहा गया है, 'धनतेरस आकर चली गई. किसी की पुरानी गलती की वजह से कुछ प्राप्ति से दूर हो. अगली दीवाली न मना सको. चेतावनी को नजरंदाज करने की बजाए गौर किया करो.'


सूत्रों के अनुसार पुलिस को इस मामले में एक गुमनाम चिट्ठी मिली है. इस चिट्ठी में यह दावा किया गया है कि भाटिया परिवार किसी दाढ़ी वाले तांत्रिक बाबा के संपर्क में था. हालांकि यह चिट्ठी कहां से आई है और किसने इसे भेजा है इस बारे में पता नहीं चल सका है

बुराड़ी केस: लाशों पर नहीं मिले संघर्ष के निशान, PM रिपोर्ट में ये है मौत की वजह

30 जून 2018 की आखिरी एंट्री इस घटना का राज़ खोलती है. डायरी में अंतिम एंट्री में एक पन्ने पर लिखा है 'घर का रास्ता. 9 लोग जाल में, बेबी (विधवा बहन) मंदिर के पास स्टूल पर, 10 बजे खाने का ऑर्डर, मां रोटी खिलाएगी, एक बजे क्रिया, शनिवार-रविवार रात के बीच होगी, मुंह में ठूंसा होगा गीला कपड़ा, हाथ बंधे होंगे.' इसमें आखिरी पंक्ति है- 'कप में पानी तैयार रखना, इसका रंग बदलेगा, मैं प्रकट होउंगा और सबको बचाऊंगा.'


बता दें कि 1 जून की सुबह बुराड़ी के संत नगर इलाके के 2 नंबर गली में एक मकान से 11 लोगों के शव पाए गए थे. इनमें 10 शव फंदे से लटके हुए थे जबकि एक महिला का शव जमीन पर पड़ा हुआ मिला था.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर