होम /न्यूज /राष्ट्र /दिल्‍ली: चुनिंदा घाटों पर छठ पूजा की मंजूरी, उपराज्‍यपाल ने कहा- सीएम लोगों को भ्रमित कर रहे

दिल्‍ली: चुनिंदा घाटों पर छठ पूजा की मंजूरी, उपराज्‍यपाल ने कहा- सीएम लोगों को भ्रमित कर रहे

दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है. (फाइल फोटो)

दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है. (फाइल फोटो)

दिल्ली के उपराज्यपाल (Delhi Lieutenant Governor) विनय कुमार सक्सेना ने यमुना किनारे छठ पूजा के लिए बनाए जा रहे घाटों पर ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दिल्ली के उपराज्यपाल ने बनाए जा रहे घाटों पर पूजा करने की मंज़ूरी
विनय कुमार सक्सेना ने मुख्यमंत्री पर गुमराह करने का आरोप लगाया
सरकार से कहा- यमुना किनारे NGT के आदेशों का पालन कराएं

मानवेंद्र यादव

नई दिल्‍ली. दिल्ली के उपराज्यपाल (Delhi Lieutenant Governor) विनय कुमार सक्सेना ने यमुना किनारे छठ पूजा के लिए बनाए जा रहे घाटों पर पूजा करने की मंज़ूरी दे दी है. उपराज्यपाल ने दिल्ली सरकार को निर्देश कि पूजा के लिए साफ़-सफाई और पानी सुनिश्चित किया जाए. दिल्ली के उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर दिल्ली की जनता को गुमराह करने का आरोप भी लगाया है. उन्‍होंने कहा है कि यमुना नदी के घाटों पर छठ पूजा करने के लिए मंजूरी दे दी गई है, साथ ही यह साफ है कि लोगों के बीच गलत प्रचार प्रसार न किया जाए. दिल्‍ली के लोगों को सही जानकारी दी जाए.

उपराज्यपाल कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक़ उप राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आगाह किया है. उपराज्यपाल ने आपत्ति जतायी है कि पूजा कुछ चुने हुए घाटों पर होनी थी लेकिन जिस तरीक़े से अरविंद केजरीवाल की तरफ़ से कहा गया उसे ये संदेश गया कि यमुना पर कहीं भी पूजा की जा सकती है. उपराज्यपाल ने राजस्व और पर्यावरण मंत्रालय को भी निर्देश दिया है कि वे यमुना किनारे NGT के आदेशों का सख़्ती से पालन कराएं.

छठ पूजा के संबंध में किए ट्वीट को लेकर आपत्ति दर्ज की

उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा 21 अक्टूबर को छठ पूजा के संबंध में किए ट्वीट को लेकर आपत्ति दर्ज की है. छठ पूजा के आयोजन को लेकर जारी किए गए दिशा निर्देशों में उपराज्यपाल ने लिखा है कि छठ पूजा से संबंधित मामला मेरी राय और सोच विचार के लिए संज्ञान में लाने से पहले ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ये पब्लिसिटी की. यह मसला काफ़ी गंभीर है और गवर्नेंस के बुनियादी सिद्धांतों के ख़िलाफ़ है. इस तरीके की पब्लिसिटी निर्णय लेने की प्रक्रिया को प्रभावित करती है. उपराज्यपाल ने कहा है कि बड़े स्तर पर जनहित से जुड़े मामलों में मुख्यमंत्री को भविष्य में ऐसा न करने का सुझाव दिया जाता है. आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने बीते दिनों छठ पूजा के आयोजन के लिए 1100 छठ घाट तैयार करने का ऐलान किया था, साथ ही छठ पूजा के लिए 25 करोड़ का बजट भी रखा गया है.

Tags: Delhi Lieutenant Governor

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें