अपना शहर चुनें

States

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज रामलीला मैदान में दिए भाषण में दोहराईं पीएम नरेंद्र मोदी की कही ये बातें

रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल के भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी की झलक दिखाई दी.
रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल के भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी की झलक दिखाई दी.

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) के भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के समय-समय पर दिए भाषणों की साफ झलक नजर आई. सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी की ही तरह चुनाव प्रचार के दौरान आरोप लगाने वाले नेताओं को माफ करने की बात की. यही नहीं, इस दौरान उनके भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की छाप भी दिखी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2020, 6:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के रामलीला मैदान (Ramleela Maidan) में आयोजित कार्यक्रम में आज अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने तीसरी बार मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली. साथ ही उनके कुछ मंत्रियों ने भी पद व गोपनीयता की शपथ ली. इसके बाद सीएम केजरीवाल ने लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उनके भाषण में कई बातों में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के समय-समय पर दिए भाषणों की झलक साफ नजर आई. सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी की ही तरह चुनाव प्रचार के दौरान आरोप लगाने वाले नेताओं को माफ करने की बात की. यही नहीं, इस दौरान उनके भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की छाप भी दिखी. हालांकि, जहां पीएम मोदी के भाषण में देश की बात की है. वहीं, सीएम केजरीवाल ने दिल्‍ली और दिल्‍लीवासियों की बात की है.

पीएम मोदी और सीएम केजरीवाल ने कहा, सभी के लिए करेंगे काम
सीएम केजरीवाल ने आज कहा कि दिल्‍ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Election 2020) खत्‍म हो चुके हैं. ये कतई अहमियत नहीं रखता कि आपने किसे वोट दिया. आप सभी मेरे परिवार का हिस्‍सा हैं. मैं दिल्‍ली के हर व्‍यक्ति के लिए काम करूंगा. वहीं, लोकसभा चुनाव 2014 (Lok Sabha Election 2014) में प्रचंड जीत के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'एक सरकार के लिए कोई खास नहीं है और न ही कोई पराया है. मेरी जिम्मेदारी देश को चलाने में सभी को साथ लेकर चलने की है. मेरा लक्ष्य, सबका साथ, सबका विकास है.

दोनों ने कहा- चुनाव प्रचार के दौरान की कड़वाहट अब हुई खत्‍म
केजरीवाल ने तीसरी बार सीएम पद की शपथ लेने के बाद कहा कि मैंने चुनाव के दौरान की गई टिप्‍पणियों और आरोपों के लिए अपने सियासी विरोधियों को माफ कर दिया है. मैं सभी को साथ लेकर चलना चाहता हूं. मैं अकेले काम नहीं करूंगा बल्कि आप सबके साथ काम करूंगा. वहीं, लोकसभा चुनाव 2014 के बाद पीएम मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में कोई दुश्मन नहीं होता बल्कि प्रतिस्पर्धी होता है. यह प्रतिस्पर्धा चुनावों के साथ समाप्त हो जाती है. मैं चुनाव के दौरान अपने विरोधियों की ओर से दिखाए गए प्यार को 'शुद्ध प्यार' में बदल दूंगा. चुनाव खत्‍म होने के साथ ही प्रचार के दौर की 'कड़वाहट' खत्‍म हो गई है.



सीएम अरविंद केजरीवाल और पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी पार्टियों की प्रचंड जीत का श्रेय आम लोगों को दिया.


दोनों ने अपनी पार्टी की जीत का श्रेय सामान्‍य नागरिक को दिया
मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने आज कहा कि ये मेरी जीत नहीं है. ये जीत है दिल्‍ली के लोगों की और हर परिवार की. पिछले पांच साल में हमने सिर्फ लोगों को खुश रखने की कोशिश की. कुछ ऐसा ही पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव 2019 में जीतने के बाद कहा था. उन्‍होंने कहा था कि देश के सामान्य नागरिक की भावना देश के उज्जवल भविष्य की गारंटी है. ये चुनाव देश की जनता लड़ रही थी. आज हिन्दुस्तान विजयी हुआ है. लोकतंत्र विजयी हुआ है. ये मोदी की विजय नहीं है. यह देश में ईमानदारी के लिए तड़पते हुए नागरिक की विजय है. ये विजय शौचालय के लिए तड़पती मां की है. इलाज के लिए तड़पते लोगों और किसान की जीत है.

पीएम मोदी-सीएम केजरीवाल ने याद दिलाए पांच साल के काम
अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि पिछले पांच सालों में मैंने हर व्‍यक्ति के लिए काम किया. मैंने पार्टी से जुड़ाव के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं किया. वहीं, लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि 5 साल में हमने लोगों की सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा के लिए काम किया. हमने देश के लाखों लोगों को आयुष्‍मान योजना के जरिये इलाज में फायदा दिलाया है. हमारी किसी योजना का लाभ जाति या धर्म देखकर नहीं दिया गया.

सीएम अरविंद केजरीवाल के भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लोकसभा में 31 मई 1996 को दिए भाषण की छाप भी दिखी.


अटल बिहारी वाजपेयी के अंदाज की भी सीएम पर नजर आई छाप
लोकसभा में 31 मई 1996 को अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर दिए भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने कहा था कि सत्‍ता का खेल तो चलेगा, सरकारें आएंगे-जाएंगी, पार्टियां बनेंगी-बिगडेंगी... मगर ये देश रहना चाहिए. इस देश का लोकतंत्र (Democracy) अमर रहना चाहिए. वहीं, आज केजरीवाल ने कहा कि राजनेता आते हैं और चले जाते हैं, लेकिन शहर उसमें रहने वाले लोगों की वजह से तरक्‍की करता है.

ये भी पढ़ें:

केजरीवाल ने कहा- मैंने सियासी विरोधियों को सभी आरोपों के लिए कर दिया है माफ

शपथ के बाद बोले केजरीवाल- सबके साथ मिलकर करना चाहता हूं काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज