'फ्री बिजली' को लेकर BJP ने केजरीवाल सरकार पर कसा तंज, मनोज तिवारी बोले- ये सिर्फ चुनावी शिगूफा

केजरीवाल सरकार का कहना है कि दिल्‍ली में जब हम लोगों ने जिम्‍मेदारी संभाली थी तो बिजली क्षेत्र का बहुत बुरा हाल था. दिल्‍ली की जनता अपने बिलों को लेकर बहुत परेशान थी.

Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:11 PM IST
'फ्री बिजली' को लेकर BJP ने केजरीवाल सरकार पर कसा तंज, मनोज तिवारी बोले- ये सिर्फ चुनावी  शिगूफा
भाजपा ने केजरीवाल की नीयत पर उठाए सवाल.
Rachna Upadhyay
Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:11 PM IST
दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने चुनावी दांव चलते हुए लोगों को बड़ी राहत का ऐलान किया है. सरकार ने 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने वालों को फ्री में बिजली देने का ऐलान किया है और यह छूट आज यानी 1 अगस्त से लागू होगी. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ऐलान के मुताबिक, 201 से 400 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वालों को 50 फीसदी की छूट मिलेगी. इस छूट के ऐलान से पहले 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने पर 622 रुपए लगते थे.

इस बाबत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में जब सरकार संभाली थी, तब बिजली कंपनियों की हालत ये थी कि उनके पास अगले दिन की बिजली खरीदने के पैसे नहीं थे. ब्लैकआउट होने वाला था. पूरी दिल्ली में बिजली की कटौती होती थी. साल दर साल बिजली के रेट बढ़ते थे. पिछले पांच साल में केवल और केवल कड़ी मेहनत और साफ नीयत से हम इस मुकाम पर पहुंचे हैं कि दिल्ली में 200 यूनिट तक बिजली फ्री हो गई है. 201 से 400 यूनिट तक लगभग 50 फीसदी सब्सिडी दी जा रही है. इससे ऊपर भी बिजली काफी सस्ती हो गई है. अब 24 घंटे बिजली रहती है.

कंपनियों की माली हालत होने का दावा
केजरीवाल का कहना है कि बिजली कंपनियों की माली हालत बहुत अच्छी हो गई है. दिल्ली सरकार ने इतने ट्रांसफॉर्मर लगा दिये हैं अब दिल्ली के अंदर 24 घंटे देश में सबसे सस्ती बिजली लोगों को मिल रही है.

बुरे दौर में था बिजली विभाग
केजरीवाल सरकार का कहना है कि दिल्‍ली में जब हम लोगों ने जिम्‍मेदारी संभाली थी तो बिजली क्षेत्र का बहुत बुरा हाल था. दिल्‍ली की जनता अपने बिलों को लेकर बहुत परेशान थी. दूसरी समस्‍या, बिजली कंपनियां कंगाली के कगार पर थीं. तीसरी समस्या यह थी कि पूरी दिल्‍ली के अंदर बिजली का इंफ्रास्ट्रक्चर बैठ चुका था. कई-कई सालों से ट्रांसफॉर्मर नहीं बदले गये थे. केबल्स नहीं बदली गईं थी. चौ‍था दिल्‍ली में भारी बिजली कटौती होती थी. हर साल लोगों को इनवर्टर और जेनरेटर खरीदने पड़ते थे. केजरीवाल ने कहा, 'इन सबको लेकर हमारी सरकार में खूब काम हुआ है.'

नेताओं को मिल रही बिजली पर सवाल
Loading...

केजरीवाल का कहना है कि हमारे देश के नेताओं, मंत्रियों, विधायकों, सांसदों, अधिकारियों की बिजली फ्री है. उस पर कोई सवाल नहीं उठाता. अगर आम आदमी को भी जो 24 घंटे मेहनत करके अपना परिवार चलाता है, मैं वही सुविधाएं देने की कोशिश कर रहा हूं, जो हमारे देश के नेताओं और अफसरों को मिल रही हैं, तो उसमें मैं क्‍या गलत कर रहा हूं.

केजरीवाल एक झूठ की मशीन
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वह एक झूठ की मशीन है. हम दिल्ली वालों को बचाने की भूमिका में हैं. आज कल जैसे घोषणा हो रही है, उसको देख लोगों को लगने लगता है कि चुनाव आने वाले हैं. केजरीवाल आपने तो कहा था दिल्ली में पानी माफ़ बिजली हाफ 2015 में, लेकिन उसके बाद एक लेटर आया जिसमें कहा गया कि नहीं-नहीं ये उन लोगों का होगा, जो 200 से कम यूनिट खर्च करते हैं. जब वो सोच रहे थे, चलो हमारा हाफ हुआ, लेकिन 1 अप्रैल 2018 में फिक्स चार्ज का लोगों को झटका दिया. बिजली उपभोक्ताओं को लूटा गया. अब जब 54 हफ्ते बीते गए. तब कह रहे हैं कि 200 यूनिट तक फ्री देंगे. हम इस बात से खुश हैं 8 हजार 500 रुपये आप फिक्स चार्ज के नाम पर लूटते हैं. अब जब आप के पास छह महीने बचे हैं,तो उसमें से कुछ करोड़ रुपये खर्च कर चुनाव से पहले लोगों को लालच दे रहे हैं. यकीनन यह चुनावी  शिगूफा है.

विजेंद्र गुप्‍ता ने यूं साधा निशाना
भाजपा के सीनियर नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा, 'केजरीवाल ने अपने साढ़े चार साल में कुछ नहीं किया. दिल्ली में जो टैक्स पेयर है, वो ठगा सा महसूस कर रहे हैं, दिल्ली वालों को बिजली हाफ होने के बजाए, फिक्स चार्ज और पीपीए चार्ज लगा कर बिजली के बिल बढ़ गए. केजरीवाल आप ने जो 200 यूनिट का बिल माफ करने की बात कही है, उसका पैसा कहा से आएगा. इस साल बजट में इसका जिक्र नहीं था. कौन सा विकास का काम आप रोक रहे हैं. 25 हजार करोड़ रुपये हर साल रिवेन्यू से जमा कर रहे हैं और 18 सौ करोड़ रुपये की सब्सिडी दे रही है सरकार. 200 यूनिट फ्री देने के लिए आप 600 करोड़ रुपये कहा से लाएंगे.

ये भी पढ़ें:
एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में जज ने CBI-ED को लगाई फटकार, पी चिदम्बरम और कार्ति को मिली बड़ी राहत

प्रियंका गांधी के इनकार के बाद मुश्किल में कांग्रेस, अब राष्ट्रीय अध्यक्ष का CWC की मीटिंग में होगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 6:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...