पत्थरबाज़ी मामले में कोर्ट ने दो को 19 सितंबर तक एनआईए की हिरासत में भेजा

भाषा
Updated: September 16, 2017, 5:52 PM IST
पत्थरबाज़ी मामले में कोर्ट ने दो को 19 सितंबर तक एनआईए की हिरासत में भेजा
(File photo-Getty image)
भाषा
Updated: September 16, 2017, 5:52 PM IST
दिल्ली की एक अदालत ने कश्मीर घाटी में पथराव के कथित मामले और सोशल मीडिया के ज़रिए सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ समर्थन जुटाने के मामले में एक फ्रीलांस फोटो पत्रकार सहित दो व्यक्तियों से और तीन दिन हिरासत में पूछताछ करने की शनिवार को एनआईए को इजाज़त दी.

सूत्रों के मुताबिक अदालत ने कुलगाम के जावेद अहमद भट और पुलवामा के कामरान यूसुफ की हिरासत 19 सितंबर तक बढ़ा दी. दोनों को 10 दिन की एनआईए की हिरासत समाप्त होने के बाद अदालत में पेश किया गया था.

सूत्रों ने बताया कि सुनवाई के दौरान केंद्रीय जांच एजेंसी ने ये कहते हुए दोनों की और सात दिन हिरासत मांगी की उनसे और पूछताछ करने और उनका सामना मामले के अन्य आरोपियों से कराने की ज़रूरत है. सुनवाई के दौरान एनआईए ने ये भी कहा कि दोनों को चल रही जांच के सिलसिले में विभिन्न स्थानों पर ले जाने की ज़रूरत है.

एनआईए ने कश्मीर घाटी में आतंकवाद के वित्तपोषण और अलगाववादी गतिविधियों की अपनी जांच जारी रखते हुए भट्ट और यूसुफ को गत पांच सितंबर को गिरफ्तार किया था.

एनआईए के अनुसार दोनों पथराव की घटनाओं में शामिल होने के अलावा युवाओं के समूह बनाते थे जो आतंकवाद निरोधक अभियानों में शामिल सुरक्षा बलों पर पथराव करते थे.

उसने कहा था कि यूसुफ को स्थानीय पुलिस की ओर से अक्सर चेतावनी दी जाती थी जो कथित तौर पर युवाओं को जुटाता था और स्थानीय एवं राष्ट्रीय समाचार पत्रों में प्रसारित करने के लिए उनकी तस्वीरें खींचता था.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर