अपना शहर चुनें

States

एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में जज ने CBI-ED को लगाई फटकार, पी चिदम्बरम और कार्ति को मिली बड़ी राहत

एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में पी चिदम्बरम और कार्ति चिदम्बरम को राहत.
एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में पी चिदम्बरम और कार्ति चिदम्बरम को राहत.

कपिल सिब्बल ने कोर्ट से कहा कि ईडी कहती है कि भाष्कर रमन पूछताछ के लिए नहीं आये तो पी चिदम्बरम की अंतरिम राहत रद्द होनी चाहिए. ये कैसे हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2019, 1:00 PM IST
  • Share this:
एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में राऊज एवनयू कोर्ट के स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने सीबीआई और ईडी को अंतिम मौका देते हुए कहा कि अब आपको मौका नहीं दिया जाएगा और एजेंसी को आरोपियों के अंतरिम जमानत याचिका पर बहस करनी होगी. पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद पी चिदम्बरम और सांसद कार्ति चिदम्बरम मामले में आरोपी है और पिछले एक साल से सीबीआई, ईडी मामले में तारीख मांग रहे थे.

स्पेशल सीबीआई जज ओ पी सैनी ने कही ये बात
दिल्ली के राऊज एवनयू कोर्ट के स्पेशल सीबीआई जज ओ पी सैनी ने एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद पी चिदम्बरम और सांसद कार्ति चिदम्बरम की प्रोटेक्शन 9 अगस्त तक बढ़ा दी है. यानि अब सीबीआई और ईडी चिदम्बरम और उनके बेटे को 9 अगस्त तक गिरफ्तार नहीं कर पाएंगे. हालांकि कोर्ट एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में पिछले एक साल से पी चिदम्बरम और कार्ति चिदम्बरम की प्रोटेक्शन बढ़ा रहा है, क्योंंकि दोनों एजेंसी कोर्ट से मामले में विदेश से कागजात आने का कह कर तारीख ले रही थी.

लेकिन आज सुनवाई के समय स्पेशल जज ओ पी सैनी ने सीबीआई और ईडी दोनों से कह दिया कि मामले में आप चार्जशीट दायर कर चुके हैं. ज‍बकि अभी तक पिछले एक साल से हमने चार्जशीट पर संज्ञान नहीं लिया है, क्योंकि आप तारीख ले लेते हैं. अब आगे कोई तारीख नहीं. आज से अंतरिम जमानत याचिका पर बहस होगी और पी चिदम्बरम के वकील बहस की शुरुआत करेंगे.
पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद पी चिदम्बरम के साथ उनके बेटे सांसद कार्ति चिदम्बरम मामले में आरोपी हैं.




चिदम्बरम के वकील हैं सिब्बल
वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने पी चिदम्बरम और कार्ति चिदम्बरम के तरफ से कोर्ट में दलील दी. कपिल सिब्बल ने कोर्ट से कहा कि ईडी कहती है कि भाष्कर रमन पूछताछ के लिए नहीं आये तो पी चिदम्बरम की अंतरिम राहत रद्द होनी चाहिए. ये कैसे हो सकता है. भाष्कर रमन एक स्वतंत्र सीए हैं और उनकी पत्नी की तबियत खराब है वो नहीं गए, इसमें पी चिदम्बरम क्या कर सकते हैं. यही नहीं, एजेंसी का तर्क कोर्ट में भी सही नहीं है. एजेंसी ने आज तक कोर्ट में कहा कि जांच से संबंधित कागजात लाने के लिए वो सिंगापुर जा रहे हैं. यहां जा रहे हैं वहा जा रहे हैं, कागजात आने वाले हैं और तारीख ले रहे थे. वो कागजात आज तक नहीं आये. उनके पास एक भी डॉक्यूमेंट नहीं है. पी चिदम्बरम के खिलाफ उनके पास कुछ नहीं है और वो जमानत का विरोध कर रहे हैं.

पी चिदम्बरम ने शिकायत की कॉपी मांगी उन्होंने नहीं दिया.जबकि चिदम्बरम को ये जानने का हक है किस तरीके की शिकायत मेरे खिलाफ है. ये केवल तारीख पर तारीख मांग रहे हैं और हो कुछ नहीं रहा है. केवल कोर्ट के समय बर्बाद हो रहा है. अब 9 अगस्त को ईडी और सीबीआई दोनों पी चिदम्बरम और कार्ति चिदम्बरम की अंतरिम जमानत पर बहस करेंगे और 19 अगस्त को कोर्ट दोनों एजेंसी द्वारा दायर चार्जशीट पर संज्ञान ले सकता है.

भी पढ़ें: चेक के जरिए पेमेंट करने वालों को ये गलती पहुंचाएगी जेल!

दिल्‍ली में बाइक सवारों ने एक शख्‍स की गोली मारकर हत्‍या की
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज