Home /News /nation /

सलमान खुर्शीद को बड़ी राहत, किताब पर रोक की अपील खारिज करते हुए कोर्ट ने कही ये बड़ी बात

सलमान खुर्शीद को बड़ी राहत, किताब पर रोक की अपील खारिज करते हुए कोर्ट ने कही ये बड़ी बात

सलमान खुर्शीद ने अपनी इस किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों से की है.

सलमान खुर्शीद ने अपनी इस किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों से की है.

Salman Khurshid, Sunrise Over Ayodhya, Book Controversy: याचिकाकर्ता ने अपनी अपील में कहा था कि इस किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस (ISIS) और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों से की गई है जिससे करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है. कोर्ट ने कहा कि अगर लोग इस किताब को लेकर इतना संवेदनशील महसूस कर रहे हैं तो वह क्या कर सकते हैं किसी ने उन्हें यह किताब पढ़ने के लिए नहीं कहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) को बड़ी राहत देते हुए उनकी किताब पर बैन लगाने वाली याचिका को खारिज कर दिया है. सलमान खुर्शीद की किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ (Sunrise Over Ayodhya Book Controversy) पब्लिश होने के बाद से विवादों में बनी हुई है. याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में किताब के प्रकाशन और बिक्री पर रोक लगाने की मांग की थी.

    दरअसल सलमान खुर्शीद ने अपनी इस किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों से की है. पब्लिश होने के बाद से इस किताब पर कई तरह की आपत्तियां जताई जा रही हैं. इस बीच वकील विनीत जिंदल ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करके कांग्रेस नेता की किताब सनराइज ओवर अयोध्या” के प्रकाशन और बिक्री पर तुरंत रोक लगाने की अपील की थी.

    हिंदुओं की भावनाओं को पहुंची ठेस
    याचिकाकर्ता ने अपनी अपील में कहा था कि इस किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों से की गई है जिससे करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है. कोर्ट ने कहा कि अगर लोग इस किताब को लेकर इतना संवेदनशील महसूस कर रहे हैं तो वह क्या कर सकते हैं किसी ने उन्हें यह किताब पढ़ने के लिए नहीं कहा है.

    यह भी पढ़ें- कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में कोरोना विस्फोट, फुली वैक्सीनेटेड 66 छात्र कोविड पॉजिटिव, 2 हॉस्टल सील

    कोर्ट ने कहा- लोगों को कुछ और पढ़ने के लिए कहें
    न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की पीठ ने कहा कि यह लाइनें किताब का एक अंश मात्र हैं. बाद में, वकील ने तर्क दिया कि पुस्तक से सांप्रदायिक समस्याएं पैदा हो सकती है तो इसे हटाने की अपील की. न्यायाधीश ने याचिका और वकील की अपील को खारिज करते हुए कहा, ‘सभी को कुछ बेहतर पढ़ने के लिए कहें. अगर लोग किताब को लेकर इतने संवेदनशील हैं तो हम क्या कर सकते हैं. आखिर किसी ने उन्हें इसे पढ़ने के लिए नहीं कहा है.’

    गौरतलब है कि सलमान खुर्शीद की इस किताब को लेकर विवाद इतना बढ़ गया था कि नैनीताल में उनके घर पर तोड़फोड़ और आगजनी होने की घटना भी सामने आई थी. इन घटनाओं के बाद उन्होंने ट्वीट करके पूछ कि क्या मैं अभी भी गलत हूं? क्या कोई हिंदुत्व ऐसा कैसे कर सकता है. उन्होंने घटना का एक वीडियो भी शेयर किया था जिसमें कुछ लोग उनके घर के बाहर जमा थे और उनके हाथ में बीजेपी का झंडा था. सभी लोग धार्मिक नारे लगा रहे थे.

    Tags: DELHI HIGH COURT, Salman khurshid, Salman khurshid book controversy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर